दिल्ली पुलिस के हत्थे चढ़ा पीएमओ का फर्जी डायरेक्टर

दिल्ली पुलिस के हत्थे चढ़ा पीएमओ का फर्जी डायरेक्टर

नई दिल्ली। दिल्ली पुलिस ने पीएमओ का डायरेक्टर बन सरकारी अफसरों पर रौब गांठने वाले एक शख्स को गिरफ्तार किया है। पुलिस का कहना है कि यह गिरफ्तारी केन्द्रीय सतर्कता आयोग के कमिश्नर की निशानदेही पर की गई है। आरोपी व्यक्ति की पहचान कन्हैया कुमार की रूप में की गई है जो अपने विजिटिंग कार्ड पर अपना नाम डॉ0 केके और पद डायरेक्टर पीएमओ छपवाकर सरकारी अधिकारियों पर रौब गांठकर काम निकलवाता था।

बताया जा रहा है कि आरोपी ने हाल ही में केन्द्रीय सतर्कता विभाग में किसी व्यक्ति को अच्छी पोस्टिंग दिलाने का बयान लिया था। जिसके लिए उसने केन्द्रीय सतर्कता विभाग के कमिश्नर से मुलाकात के लिए समय मांगा और मुलाकात के बाद पोस्टिंग करने के लिए कहा। कमिश्नर ने कन्हैया कुमार के हाव भाव और बात करने के अंदाज को संदिग्ध पाते हुए आने निजी सचिव से विजिटिंग कार्ड के आधार पर पीएमओ से जानकारी करने को कहा था। जब पीएमओ में फोन करके पता किया गया तो सामने आया कि वहां डॉ0 केके या कन्हैया कुमार का कोई डायरेक्टर नहीं और न ही इस नाम का व्यक्ति किसी अन्य पद पर है।

{ यह भी पढ़ें:- केन्द्रीय गृहमंत्री के निवास पर तैनात सब-इंस्पेक्टर मेट्रो के सामने कूदा, मौत }

जिसके बाद कमिश्नर ने दिल्ली पुलिस को इस बात की जानकारी देते हुए कन्हैया कुमार की गिरफ्तारी करवाई। दिल्ली पुलिस को पता चला है कि कन्हैया कुमार लंबे समय से पीएमओं का अधिकारी बन सरकारी विभागों में ट्रांसफर और पोस्टिंग करवाने का काम कर रहा था। उसने अपनी निजी कार पर भी भारत सरकार का स्टीकर और फर्जी विजिटिंग कार्ड छपवा रखे थे। जिन पर उसकी पोस्ट डायरेक्टर पीएमओ और कार्यालय का पता 152 साउथ ब्लॉक रायसीना हिल्स लिखा था।

फिलहाल पीएमओ का फर्जी डायरेक्टर दिल्ली पुलिस की हिरासत में है। अब दिल्ली पुलिस यह जांच करने की कोशिश कर रही है कि इस व्यक्ति की वास्तविक पहचान क्या है और वह फर्जी पहचान के सहारे किन किन सरकारी विभागों में अपनी पैठ बनाए हुए था।

{ यह भी पढ़ें:- सीएम केजरीवाल की कार के बाद अब मनोज तिवारी का आईफोन चोरी }

Loading...