जम्मू कश्मीर के बर्खास्त DSP के खिलाफ दिल्ली पुलिस ने दर्ज किया केस, मुकदमें में डी कंपनी का जिक्र

dsp
SDP देविंदर सिंह मामला: NIA की गिरफ्त में आतंकियों को हथियार मुहैया कराने का आरोपी

नई दिल्ली: जम्मू कश्मीर पुलिस के DSP दविंदर सिंह पर आतंकियों से संबंध रखने का आरोप लगा था, जिसके बाद उन्हे पद से बर्खास्त कर दिया गया था और उनकी गिरफ्तारी भी हो गयी थी। अब उनके खिलाफ दिल्ली पुलिस की स्पेशल सेल ने मुकदमा दर्ज किया है। बताया जा रहा है कि सिंह के खिलाफ दिल्ली पुलिस ने यह मुकदमा 15 दिन पहले दर्ज किया है। सबसे हैरानी की बात ये है कि इस मुकदमे में डी कंपनी का भी जिक्र किया गया है।

Delhi Police Files Case Against Sacked Dsp Of Jammu And Kashmir D Company Mentioned In Lawsuit :

जानकारी के मुताबिक इस मुकदमे में खालिस्तान आतंकियों की पंजाब में गतिविधियों के साथ जम्मू कश्मीर में नौजवानों को आंतक के नाम पर दहशत फैलाने का जिक्र है। इस मुकदमे में कहा गया है कि डी कंपनी खालिस्तान समर्थकों को फंडिंग कर रही है और आरएसएस नेताओं को मारने की साजिश कर रही है। बता दें कि दविंदर सिंह को दिल्ली पुलिस की स्पेशल सेल 7 दिन के प्रोडक्शन वारंट पर दिल्ली लाई है।

बता दें कि दविंदर सिंह पर आतंकियों को लाने ले जाने और अपने घर में शरण देने का आरोप है। दविंदर सिंह को दो आंतकियों के साथ कुलगाम के क़रीब चेकिंग के दौरान गिरफ़्तार किया गया था। उसके घर पर पड़े छापों में हथियार बरामद हुए थे और उसकी निशानदेही पर दूसरी जगहों से भी हथियार मिले। नेशनल इन्वेस्टीगेशन एजेंसी (एनआईए) ने उसके खिलाफ आर्म्स एक्ट, विस्फोटक पदार्थ रखने समेत अनलॉफुल एक्टिविटी प्रिवेंशन एक्ट (यूएपीए) की कई धाराओं के तहत केस दर्ज किया है।

नई दिल्ली: जम्मू कश्मीर पुलिस के DSP दविंदर सिंह पर आतंकियों से संबंध रखने का आरोप लगा था, जिसके बाद उन्हे पद से बर्खास्त कर दिया गया था और उनकी गिरफ्तारी भी हो गयी थी। अब उनके खिलाफ दिल्ली पुलिस की स्पेशल सेल ने मुकदमा दर्ज किया है। बताया जा रहा है कि सिंह के खिलाफ दिल्ली पुलिस ने यह मुकदमा 15 दिन पहले दर्ज किया है। सबसे हैरानी की बात ये है कि इस मुकदमे में डी कंपनी का भी जिक्र किया गया है। जानकारी के मुताबिक इस मुकदमे में खालिस्तान आतंकियों की पंजाब में गतिविधियों के साथ जम्मू कश्मीर में नौजवानों को आंतक के नाम पर दहशत फैलाने का जिक्र है। इस मुकदमे में कहा गया है कि डी कंपनी खालिस्तान समर्थकों को फंडिंग कर रही है और आरएसएस नेताओं को मारने की साजिश कर रही है। बता दें कि दविंदर सिंह को दिल्ली पुलिस की स्पेशल सेल 7 दिन के प्रोडक्शन वारंट पर दिल्ली लाई है। बता दें कि दविंदर सिंह पर आतंकियों को लाने ले जाने और अपने घर में शरण देने का आरोप है। दविंदर सिंह को दो आंतकियों के साथ कुलगाम के क़रीब चेकिंग के दौरान गिरफ़्तार किया गया था। उसके घर पर पड़े छापों में हथियार बरामद हुए थे और उसकी निशानदेही पर दूसरी जगहों से भी हथियार मिले। नेशनल इन्वेस्टीगेशन एजेंसी (एनआईए) ने उसके खिलाफ आर्म्स एक्ट, विस्फोटक पदार्थ रखने समेत अनलॉफुल एक्टिविटी प्रिवेंशन एक्ट (यूएपीए) की कई धाराओं के तहत केस दर्ज किया है।