100 नंबर का गलत इस्तेमाल कर रहे हैं दिल्ली वासी, रोज आते हैं 72 हजार फर्जी कॉल

Delhi Police Harassed Daily By 72 Thousand Hoax Calls

नई दिल्ली । दिल्ली पुलिस को प्रतिदिन औसतन 72 हजार ब्लैंक कॉल आते हैं। इनमें कुछ लोग तो ऐसे हैं, जो गलती से 50 बार से ज्यादा पुलिस नियंत्रण कक्ष का नंबर मिला चुके हैं। पुलिस के एक वरिष्ठ अधिकारी के मुताबिक फिलहाल 100 नंबर के साथ-साथ 112 नम्बर का भी ट्रायल चल रहा है। ऐसे में दोनों हेल्पलाइनों पर पुलिस को प्रतिदिन औसतन 72 हजार ब्लैंक कॉल आते हैं। पहले औसतन एक दिन में 27 हजार फोन कॉल आते थे। इनमें से करीब 40 फीसद ब्लैंक कॉल होते हैं।




दिल्ली पुलिस ने फिलहाल ऐसे फोन करने वालों की सूची तैयार की है, जो बार-बार फोन करके नियंत्रण कक्ष के कर्मचारियों को परेशान करते हैं। यह सूची दूरसंचार विभाग और संबंधित जिलों के पुलिस उपायुक्तों के साथ साझा की है। इस सूची में ऐसे लोगों के नाम हैं, जिन्होंने आपात नंबरों 100 व 112 पर बिना बात चार या उससे अधिक बार फोन किया है। अधिकारी के अनुसार एक दिन तो हमें 99 हजार से अधिक ब्लैंक कॉल आए। पिछले कुछ सप्ताह में हमने इस फोन कॉल का विश्लेषण किया है और फोन करने वाले 67 लोगों की सूची तैयार की है, जिन्होंने चार से ज्यादा बार कॉल किया है।




हमने इसे दूरसंचार विभाग को भेजा है। पीसीआर इकाई ने कुछ ऐसे लोगों का पता लगाया है, जिन्होंने 100 व 112 नंबर पर करीब 70 बार या उससे ज्यादा कॉल किए हैं। पुलिस ने उनका पता खोज निकाला है और उसे संबंधित पुलिस उपायुक्त के साथ साझा किया है। हमने इनमें से कई नंबरों पर फोन किया और उनमें से ज्यादातर ने कहा कि कॉल गलती से लग गया। उन्होंने एक या दो बार गलती से फोन किया होगा, लेकिन यह संभव नहीं है कि किसी ने 70-80 बार गलती से कॉल किया हो।

नई दिल्ली । दिल्ली पुलिस को प्रतिदिन औसतन 72 हजार ब्लैंक कॉल आते हैं। इनमें कुछ लोग तो ऐसे हैं, जो गलती से 50 बार से ज्यादा पुलिस नियंत्रण कक्ष का नंबर मिला चुके हैं। पुलिस के एक वरिष्ठ अधिकारी के मुताबिक फिलहाल 100 नंबर के साथ-साथ 112 नम्बर का भी ट्रायल चल रहा है। ऐसे में दोनों हेल्पलाइनों पर पुलिस को प्रतिदिन औसतन 72 हजार ब्लैंक कॉल आते हैं। पहले औसतन एक दिन में 27 हजार फोन कॉल आते…