पहलवान सुशील कुमार और चार समर्थकों के खिलाफ FIR दर्ज

नई दिल्ली। साल 2018 में आॅस्ट्रलिया के गोल्ड कोस्ट में होने जा रहे कॉमनवेल्थ खेलों के लिए शुक्रवार को केडी जाधव स्पोर्ट स्टेडियम में हुए सिलेक्शन ट्रायल के दौरान पहलवान सुशील कुमार और पहलवान प्रवीण राणा के समर्थकों बीच हाथापाई का मामला पुलिस तक पहुंच गया है। ट्रायल मुकाबले में सुशील कुमार की जीत को पक्षपातपूर्ण बताकर हूटिंग करने वाले प्रवीण राणा के समर्थकों की सुशील कुमार के समर्थकों के साथ हाथापाई हो गई थी। इस घटना के बाद प्रवीण राणा के भाई नवीन राणा ने दिल्ली पुलिस में सुशील कुमार और उनके चार समर्थकों के खिलाफ आईपीसी की धारा 323 और 341 के तहत आपराधिक मामला दर्ज करवाया है।

Delhi Police Registered Case Against Wrestler Sushil Kumar And His Four Supporters :

इस पूरे मामले पर सुशील कुमार ने मीडिया के सामने आकर दिए बयान में कहा कि वहां पर क्या कुछ हुआ ये समझ में नहीं आया, लेकिन जो कुछ भी हुआ वह होना नहीं चाहिए था। कुश्ती एक खेल है, जिसमें जीतने वाले को जीत हजम करना चाहिए और हारने वाले को हार। प्रवीण राणा को उनकी सलाह है कि वह विवाद पड़ने के बजाय अपने खेल पर ध्यान दें। जहां तक उनकी अपनी बात है वह हमेशा जूनियर पहलवानों की मदद करते रहे हैं। अगर किसी को लगता है कि उन्होंने जीतने के लिए चीटिंग की तो यह गलत है।

आपको बता दें कि दो बार के ओलंपिक पदक विजेता सुशील कुमार और प्रवीण राणा के बीच शुक्रवार को कॉमनवेल्थ खेलों के चयन के लिए ट्रायल मुकाबला हुआ था। जिसमें सुशील कुमार जीत के साथ चयनित हुए जबकि प्रवीण कुमार की हार के बाद विरोध जाते हुए हूटिंग शुरू कर दी। जिसकी प्रतिक्रिया में सुशील कुमार के सर्मथकों का एक गुट उनसे भिड़ गया। मामला धक्कामुक्की से बढ़कर हाथापाई तक पहुंच गया, जिसमें प्रवीण राणा के एक समर्थक को सुशील कुमार के समर्थकों ने जमकर पीटा। यह घटना मौके पर मौजूद मीडिया के कैमरों में भी कैद हो गई थी।

नई दिल्ली। साल 2018 में आॅस्ट्रलिया के गोल्ड कोस्ट में होने जा रहे कॉमनवेल्थ खेलों के लिए शुक्रवार को केडी जाधव स्पोर्ट स्टेडियम में हुए सिलेक्शन ट्रायल के दौरान पहलवान सुशील कुमार और पहलवान प्रवीण राणा के समर्थकों बीच हाथापाई का मामला पुलिस तक पहुंच गया है। ट्रायल मुकाबले में सुशील कुमार की जीत को पक्षपातपूर्ण बताकर हूटिंग करने वाले प्रवीण राणा के समर्थकों की सुशील कुमार के समर्थकों के साथ हाथापाई हो गई थी। इस घटना के बाद प्रवीण राणा के भाई नवीन राणा ने दिल्ली पुलिस में सुशील कुमार और उनके चार समर्थकों के खिलाफ आईपीसी की धारा 323 और 341 के तहत आपराधिक मामला दर्ज करवाया है। इस पूरे मामले पर सुशील कुमार ने मीडिया के सामने आकर दिए बयान में कहा कि वहां पर क्या कुछ हुआ ये समझ में नहीं आया, लेकिन जो कुछ भी हुआ वह होना नहीं चाहिए था। कुश्ती एक खेल है, जिसमें जीतने वाले को जीत हजम करना चाहिए और हारने वाले को हार। प्रवीण राणा को उनकी सलाह है कि वह विवाद पड़ने के बजाय अपने खेल पर ध्यान दें। जहां तक उनकी अपनी बात है वह हमेशा जूनियर पहलवानों की मदद करते रहे हैं। अगर किसी को लगता है कि उन्होंने जीतने के लिए चीटिंग की तो यह गलत है। आपको बता दें कि दो बार के ओलंपिक पदक विजेता सुशील कुमार और प्रवीण राणा के बीच शुक्रवार को कॉमनवेल्थ खेलों के चयन के लिए ट्रायल मुकाबला हुआ था। जिसमें सुशील कुमार जीत के साथ चयनित हुए जबकि प्रवीण कुमार की हार के बाद विरोध जाते हुए हूटिंग शुरू कर दी। जिसकी प्रतिक्रिया में सुशील कुमार के सर्मथकों का एक गुट उनसे भिड़ गया। मामला धक्कामुक्की से बढ़कर हाथापाई तक पहुंच गया, जिसमें प्रवीण राणा के एक समर्थक को सुशील कुमार के समर्थकों ने जमकर पीटा। यह घटना मौके पर मौजूद मीडिया के कैमरों में भी कैद हो गई थी।