5 नवंबर को आम लोगों के लिए खुलेगा सिग्नेचर ब्रिज, जानें इससे जुड़ी बड़ी बातें

5 नवंबर को आम लोगों के लिए खुलेगा सिग्रनेचर ब्रिज, जानें इससे जुड़ी बड़ी बातें
5 नवंबर को आम लोगों के लिए खुलेगा सिग्रनेचर ब्रिज, जानें इससे जुड़ी बड़ी बातें

Delhi Sigrenner Bridge Will Open To The Public On November 5 Big Things Related To It

नई दिल्ली। दिल्ली के वजीराबाद में यमुना नदी पर बने जिस बहु- प्रतीक्षित सिग्नेचर ब्रिज का दिल्ली की जनता को पिछले 14 साल से इंतजार 4 नवंबर को खत्म हो रहा है। शुक्रवार को दिल्ली के उप मुख्यमंत्री मनीष सिसोदिया ने इसका निरीक्षण किया दिल्ली के मुख्यमंत्री केजरीवाल 4 नवंबर को ब्रिज का उद्घाटन करेंगे और यह पांच नवंबर को जनता के लिए खुल जाएगा।

इस प्रोजेक्ट के पूरा होने से उत्तरी और उत्तरपूर्वी दिल्ली के बीच यात्रा का समय कम हो जाएगा। दिल्लीवासी इस ब्रिज के ऊपर से शहर के विस्तृत मनोरम दृश्य का आनंद भी ले सकेंगे। इसके लिए चार लिफ्ट लगाई गई हैं जिनकी कुल क्षमता 50 लोगों को ले जाने की है।

5 नवंबर को आम लोगों के लिए खुलेगा सिग्रनेचर ब्रिज, जानें इससे जुड़ी बड़ी बातें
5 नवंबर को आम लोगों के लिए खुलेगा सिग्रनेचर ब्रिज, जानें इससे जुड़ी बड़ी बातें

क्या है इसकी ख़ासियत?

सिग्नेचर ब्रिज का मुख्य आकर्षण उसका मुख्य पिलर है जिसकी ऊंचाई 154 मीटर है। पिलर के ऊपरी भाग में चारों तरफ शीशे लगाए गए हैं। लिफ्ट के जरिए जब लोग यहा पर पहुंचेंगे तो उन्हें यहा से दिल्ली का टॉप व्यू देखने को मिलेगा जो दिल्ली में किसी भी इमारत की ऊंचाई से अधिक होगा या ऐसे समझें कि इसकी ऊंचाई कुतुब मीनार से दोगुनी से भी ज़्यादा है। जिससे यह पर्यटकों के लिए खास बनेगा। ब्रिज पर 15 स्टे केबल्स हैं जो बूमरैंग आकार में हैं। जिन पर ब्रिज का 350 मीटर भाग बगैर किसी पिलर के रोका गया है। ब्रिज की कुल लंबाई 675 मीटर चौड़ाई 35.2 मीटर है।

5 नवंबर को आम लोगों के लिए खुलेगा सिग्रनेचर ब्रिज, जानें इससे जुड़ी बड़ी बातें
5 नवंबर को आम लोगों के लिए खुलेगा सिग्रनेचर ब्रिज, जानें इससे जुड़ी बड़ी बातें

2004 में पेश किया गया था ब्रिज का प्रस्ताव

सिग्नेचर ब्रिज का प्रस्ताव 2004 में प्रस्तुत किया गया था जिसे 2007 में दिल्ली मंत्रिपरिषद की मंजूरी मिली थी। शुरूआत में अक्टूबर 2010 में दिल्ली में आयोजित होने वाले राष्ट्रमंडल खेलों के पहले 1131 करोड़ रूपये की संशोधित लागत में पूर्ण होना था। इस परियोजना की लागत 2015 में बढ़कर 1,594 करोड़ रूपये हो गई। खबरों के मुताबिक जब पहली दफा इस ब्रिज को 1997 में प्रस्तावित किया गया था तब इसकी लागत 464 करोड़ रूपये आंकी गयी थी। यह ब्रिज वर्तमान में वजीराबाद पुल के वाहनों के बोझ को साझा करेगा।

5 नवंबर को आम लोगों के लिए खुलेगा सिग्रनेचर ब्रिज, जानें इससे जुड़ी बड़ी बातें
5 नवंबर को आम लोगों के लिए खुलेगा सिग्रनेचर ब्रिज, जानें इससे जुड़ी बड़ी बातें

कितना बदल वक्त? कितने बदले मंत्री

इस ब्रिज के बारे में जब सोचना शुरू किया गया था तब दिल्ली में बीजेपी की सरकार थी लेकिन ठोस योजना 2004 में जाकर तैयार हुई तब शीला दीक्षित दूसरी बार दिल्ली की मुख्यमंत्री बनी थीं। राहुल गांधी भी राजनीति में औपचारिक रूप से तभी आए थे। परियोजना को कॉमनवेल्थ खेलों से पहले पूरा हो जाना था लेकिन इसका निर्माण कार्य ही तभी शुरू हो पाया। इसके बाद 2013 की डेडलाइन रखी गई लेकिन ब्रिज तैयार नहीं हो पाया। दिल्ली से कांग्रेस की शीला दीक्षित सरकार चली गई और देश से प्रधानमंत्री डॉ मनमोहन सिंह की सरकार चली गई लेकिन यह ब्रिज पूरा नहीं हो पाया।

5 नवंबर को आम लोगों के लिए खुलेगा सिग्रनेचर ब्रिज, जानें इससे जुड़ी बड़ी बातें
5 नवंबर को आम लोगों के लिए खुलेगा सिग्रनेचर ब्रिज, जानें इससे जुड़ी बड़ी बातें

दिल्ली में शीला दीक्षित के बाद अरविंद केजरीवाल मुख्यमंत्री बने उसके बाद राष्ट्रपति शासन भी लगा और अरविंद केजरीवाल 2015 में दोबारा मुख्यमंत्री बन गए। इस बीच देश में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी बन गए लेकिन सिग्नेचर ब्रिज पूरा नहीं हो पाया। केजरीवाल सरकार में पर्यटन मंत्री बने जितेंद्र सिंह तोमर फिर कपिल मिश्रा और उसके बाद राजेंद्र पाल गौतम सभी ने अपने पर्यटन मंत्रालय संभालने के शुरुआती दिनों में ही सिग्नेचर ब्रिज का दौरा किया और उसको जल्द से जल्द पूरा करवाने का भरोसा दिया लेकिन ब्रिज पूरा नहीं हो सका।

आखिरकार पर्यटन मंत्रालय मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल के सबसे करीबी और विश्वास प्राप्त उप मुख्यमंत्री मनीष सिसोदिया को दिया गया और आखिरकार उन्हीं के मंत्रालय संभालते हुए सिग्नेचर ब्रिज पूरा हो गया है और आम जनता के लिए खुल रहा है।

नई दिल्ली। दिल्ली के वजीराबाद में यमुना नदी पर बने जिस बहु- प्रतीक्षित सिग्नेचर ब्रिज का दिल्ली की जनता को पिछले 14 साल से इंतजार 4 नवंबर को खत्म हो रहा है। शुक्रवार को दिल्ली के उप मुख्यमंत्री मनीष सिसोदिया ने इसका निरीक्षण किया दिल्ली के मुख्यमंत्री केजरीवाल 4 नवंबर को ब्रिज का उद्घाटन करेंगे और यह पांच नवंबर को जनता के लिए खुल जाएगा। इस प्रोजेक्ट के पूरा होने से उत्तरी और उत्तरपूर्वी दिल्ली के बीच यात्रा का समय…