दिल्ली को मिलेगा मॉस्को और लंदन जैसा मिसाइल रक्षा कवच

india
दिल्ली को मिलेगा मॉस्को और लंदन जैसा मिसाइल रक्षा कवच

नई दिल्ली। देश की राजधानी दिल्ली को सैन्य और 9/11 जैसे आतंकी हमले को अभेद्य बनाने में जुटा है अब जल्द ही दिल्ली भी मॉस्को और लंदन की तरह जल्द ही मिसाइल रक्षा कवच से लैस होगी। रक्षा मंत्री निर्मला सीतारमण की अध्‍यक्षता में हुई रक्षा अधिग्रहण परिषद (डीएसी) की बैठक में नेशनल एडवांस्‍ड सर्फेस टू एयर मिसाइल सिस्‍टम-2 (NASAMS-2) के अधिग्रहण को मंजूरी दे दी गई है। इस मिसाइल सिस्‍टम को अमेरिका से एक अरब डॉलर में खरीदा जाना है।

NASAMS हासिल के लिए भारत ने अपना कदम तब आगे बढ़ाया है जब DRDO अपनी 2 टियर बैलिस्टिक मिसाइल डिफेंस (BMD) शील्ड को विकसित करने के अंतिम चरण में है। इसे पृथ्वी के वायुमंडल के अंदर और बाहर परमाणु मिसाइलों को ट्रैक और नष्ट करने के लिए डिजाइन किया गया है। BMD का पहला फेज ऑपरेशनल होने के बाद इसे मुंबई और दिल्ली जैसे शहरों में 2,000 किलोमीटर की लॉन्ग रेज मिसाइल से तैनात कर दिया जाएगा।’

{ यह भी पढ़ें:- अमेरिका के विरोध के बावजूद भारत रूस से खरीदेगा एस-400 }

अमेरिका निर्मित NASAMS को कई नाटो देशों के मिशन में भी इस्‍तेमाल किया जा चुका है। वहीं अमेरिकी राजधानी वाशिंगटन के अलाव यह मिसाइल सिस्‍टम इजरायली शहरों और रूस के मॉस्‍को शहर को भी सुरक्षा प्रदान कर रहा है। वहां उनके पास खुद के मिसाइल सिस्‍टम हैं। इजरायल तो फलीस्‍तीन लड़ाकों की ओर से आने वाली मिसाइलों को रोजाना ही आसमान में नष्‍ट करता है।

{ यह भी पढ़ें:- रूसी से S-400 डील रोकने के लिए US दे सकता है भारत को ऑफर }

नई दिल्ली। देश की राजधानी दिल्ली को सैन्य और 9/11 जैसे आतंकी हमले को अभेद्य बनाने में जुटा है अब जल्द ही दिल्ली भी मॉस्को और लंदन की तरह जल्द ही मिसाइल रक्षा कवच से लैस होगी। रक्षा मंत्री निर्मला सीतारमण की अध्‍यक्षता में हुई रक्षा अधिग्रहण परिषद (डीएसी) की बैठक में नेशनल एडवांस्‍ड सर्फेस टू एयर मिसाइल सिस्‍टम-2 (NASAMS-2) के अधिग्रहण को मंजूरी दे दी गई है। इस मिसाइल सिस्‍टम को अमेरिका से एक अरब डॉलर में खरीदा जाना…
Loading...