दिल्ली हिंसा: अब तक 38 की मौत, IB अधिकारी के शरीर पर हुए थे चाकुओं से अनगिनत वार

ankit sharma
दिल्ली हिंसा: अब तक 38 की मौत, IB अधिकारी के शरीर पर हुए थे चाकुओं से अनगिनत वार

नई दिल्ली। देश की राजधानी दिल्ली में ना्गरिकता कानून को लेकर बीते रविवार से फैली हिंसा में अब तक 38 की मौत हो चुकी है। पुलिस ने अभी तक 48 FIR दर्ज कर किये हैं जबकि 130 दंगाईयों को गिरफ्तार किया गया। वहीं दिल्ली हिंसा में मारे गए IB के अधिकारी अंकित शर्मा की पोस्टमार्टम रिपोर्ट ने सबको झकझोर कर रख दिया है। अंकित शर्मा के शरीर पर हैवानियत व क्रूरता से सैकड़ो वार किये गये ताकि उसकी शिनाख्त न हो सके।

Delhi Violence 38 Killed So Far Countless Blows From Knives On Ib Officers Body :

दिल्ली हिंसा में पहले पुलिस हेड कांस्टेबल रतन लाल को गोली मार दी गयी अब क्रूरता के साथ इंटेलिजेंस ब्यूरो (IB) के कर्मचारी अंकित शर्मा की भी हत्या कर दी गयी। पोस्टमार्टम रिपोर्ट के मुताबिक अंकित शर्मा के शरीर में अनगिनत बार चाकू से वार किया गया, उनके चेहरे, सीने ओर पेट पर तमाम चाकू के निशान हैं।

अंकित शर्मा के पिता के द्वारा जो FIR दर्ज की गई है, उसके मुताबिक इस मामले में IPC की धारा 302, 201, 365, 34 के तहत केस दर्ज किया गया है। FIR के मुताबिक, अंकित उनका छोटा बेटा था। भजनपुरा से करावल नगर तक जाने वाली सड़क पर CAA के खिलाफ कई दिनों से प्रदर्शन चल रहा था। इस दौरान भीड़ के बीच पत्थरबाजी, आगजनी और फायरिंग की घटना भी हुई। इस FIR में आम आदमी पार्टी से निलंबित पार्षद ताहिर हुसैन का भी नाम है, जिसमें उन्होंने आरोप लगाया है कि ताहिर हुसैन ने अपने घर पर गुंडे इकट्ठे किए थे, दफ्तर के ऊपर से फायरिंग की गई, पेट्रोल बम फेंके गए।

दिल्ली हिंसा के बाद केन्द्र सरकार ने हिंसा रोकने के लिए राष्ट्रीय सुरक्षा सलाहकार अजीत डोभाल को जिम्मेदारी सौंपी है। वहीं दिल्ली क्यों और कैसे जली? ये हादसा था या फिर सोची समझी साजिश, इसका पता लगाने के लिए एसआईटी टीम ने गुरुवार रात से जांच शुरू कर दी है। पुलिस द्वारा जनता से एक अपील की गयी है। आम-नागिरक और मीडिया के नाम जारी अपील में कहा गया है कि इस हिंसा की जांच में जिसके पास जो भी तस्वीरें, वीडियो फुटेज या फिर अन्य संबंधित सबूत हों, तो वो सात दिन के भीतर पुलिस को मुहैया करवाकर जांच में मदद करें।

नई दिल्ली। देश की राजधानी दिल्ली में ना्गरिकता कानून को लेकर बीते रविवार से फैली हिंसा में अब तक 38 की मौत हो चुकी है। पुलिस ने अभी तक 48 FIR दर्ज कर किये हैं जबकि 130 दंगाईयों को गिरफ्तार किया गया। वहीं दिल्ली हिंसा में मारे गए IB के अधिकारी अंकित शर्मा की पोस्टमार्टम रिपोर्ट ने सबको झकझोर कर रख दिया है। अंकित शर्मा के शरीर पर हैवानियत व क्रूरता से सैकड़ो वार किये गये ताकि उसकी शिनाख्त न हो सके। दिल्ली हिंसा में पहले पुलिस हेड कांस्टेबल रतन लाल को गोली मार दी गयी अब क्रूरता के साथ इंटेलिजेंस ब्यूरो (IB) के कर्मचारी अंकित शर्मा की भी हत्या कर दी गयी। पोस्टमार्टम रिपोर्ट के मुताबिक अंकित शर्मा के शरीर में अनगिनत बार चाकू से वार किया गया, उनके चेहरे, सीने ओर पेट पर तमाम चाकू के निशान हैं। अंकित शर्मा के पिता के द्वारा जो FIR दर्ज की गई है, उसके मुताबिक इस मामले में IPC की धारा 302, 201, 365, 34 के तहत केस दर्ज किया गया है। FIR के मुताबिक, अंकित उनका छोटा बेटा था। भजनपुरा से करावल नगर तक जाने वाली सड़क पर CAA के खिलाफ कई दिनों से प्रदर्शन चल रहा था। इस दौरान भीड़ के बीच पत्थरबाजी, आगजनी और फायरिंग की घटना भी हुई। इस FIR में आम आदमी पार्टी से निलंबित पार्षद ताहिर हुसैन का भी नाम है, जिसमें उन्होंने आरोप लगाया है कि ताहिर हुसैन ने अपने घर पर गुंडे इकट्ठे किए थे, दफ्तर के ऊपर से फायरिंग की गई, पेट्रोल बम फेंके गए। दिल्ली हिंसा के बाद केन्द्र सरकार ने हिंसा रोकने के लिए राष्ट्रीय सुरक्षा सलाहकार अजीत डोभाल को जिम्मेदारी सौंपी है। वहीं दिल्ली क्यों और कैसे जली? ये हादसा था या फिर सोची समझी साजिश, इसका पता लगाने के लिए एसआईटी टीम ने गुरुवार रात से जांच शुरू कर दी है। पुलिस द्वारा जनता से एक अपील की गयी है। आम-नागिरक और मीडिया के नाम जारी अपील में कहा गया है कि इस हिंसा की जांच में जिसके पास जो भी तस्वीरें, वीडियो फुटेज या फिर अन्य संबंधित सबूत हों, तो वो सात दिन के भीतर पुलिस को मुहैया करवाकर जांच में मदद करें।