दिल्ली हिंसा: चांद बाग में आईबी के कांस्टेबल की पीट-पीट कर हत्या, नाले में मिला शव

IB constable murdered
दिल्ली हिंसा: चांद बाग में आईबी के कांस्टेबल की पीट-पीट कर हत्या, नाले में मिला शव

नई दिल्ली। उत्तर-पूर्वी दिल्ली में भड़की हिंसा में अब तक करीब 20 लोगों की जान चली गई। चांद बाग में पत्थरबाजी के दौरान एक आईबी कांस्टेबल की भी मौत हो गई। चांद बाग पुलिया के पास नाले से बुधवार दोपहर खुफिया विभाग (आइबी) के कांस्टेबल का शव मिलने से सनसनी फैल गई।

Delhi Violence Ib Constable Murdered In Chand Bagh Body Found In Sewer :

मृतक कांस्टेबल अंकित शर्मा 26 वर्ष खजूरी में रहते थे। मंगलवार की शाम वह ड्यूटी से घर लौट रहे थे। आरोप है कि इसी दौरान चांद बाग पुलिया पर उपद्रवियों ने उन्हें घेर लिया। इसके बाद पीट-पीट कर उनकी हत्या कर दी और इसके बाद शव को नाले में फेंक दिया। अंकित घर नहीं पहुंचे तो परिजन परेशान हो गए। परिजन मंगलवार से ही उनकी तलाश में थे।

अंकित के पिता रविंदर शर्मा भी आइबी में हेड कांस्टेबल हैं। उन्होंने आरोप लगाया है कि पिटाई के साथ ही अंकित को गोली भी मारी गई है। पुलिस ने शव को कब्जे में लेकर पोस्टमॉर्टम के लिए जीटीबी अस्पताल भेज दिया है।

नागरिकता संशोधन कानून (सीएए) के विरोध में उत्तर पूर्वी दिल्ली के जाफराबाद और मौजपुर में मंगलवार को लगातार दूसरे दिन जमकर उपद्रव मचा। उपद्रवियों ने सोमवार को भी कई घरों, दुकानों और कई वाहनों को आग के हवाले कर दिया था। पुलिस पर पथराव और गोलियां भी चलाई गई थीं।

इन हिंसक प्रदर्शनों के दौरान गोकुलपुरी इलाके में गोली लगने से हेड कांस्टेबल रतन लाल की मौत हो गई, जबकि शाहदरा के डीसीपी अमित शर्मा घायल हो गए थे। पुलिस के मुताबिक, हेड कांस्टेबल सहायक उपायुक्त कार्यालय से जुड़े थे।

नई दिल्ली। उत्तर-पूर्वी दिल्ली में भड़की हिंसा में अब तक करीब 20 लोगों की जान चली गई। चांद बाग में पत्थरबाजी के दौरान एक आईबी कांस्टेबल की भी मौत हो गई। चांद बाग पुलिया के पास नाले से बुधवार दोपहर खुफिया विभाग (आइबी) के कांस्टेबल का शव मिलने से सनसनी फैल गई। मृतक कांस्टेबल अंकित शर्मा 26 वर्ष खजूरी में रहते थे। मंगलवार की शाम वह ड्यूटी से घर लौट रहे थे। आरोप है कि इसी दौरान चांद बाग पुलिया पर उपद्रवियों ने उन्हें घेर लिया। इसके बाद पीट-पीट कर उनकी हत्या कर दी और इसके बाद शव को नाले में फेंक दिया। अंकित घर नहीं पहुंचे तो परिजन परेशान हो गए। परिजन मंगलवार से ही उनकी तलाश में थे। अंकित के पिता रविंदर शर्मा भी आइबी में हेड कांस्टेबल हैं। उन्होंने आरोप लगाया है कि पिटाई के साथ ही अंकित को गोली भी मारी गई है। पुलिस ने शव को कब्जे में लेकर पोस्टमॉर्टम के लिए जीटीबी अस्पताल भेज दिया है। नागरिकता संशोधन कानून (सीएए) के विरोध में उत्तर पूर्वी दिल्ली के जाफराबाद और मौजपुर में मंगलवार को लगातार दूसरे दिन जमकर उपद्रव मचा। उपद्रवियों ने सोमवार को भी कई घरों, दुकानों और कई वाहनों को आग के हवाले कर दिया था। पुलिस पर पथराव और गोलियां भी चलाई गई थीं। इन हिंसक प्रदर्शनों के दौरान गोकुलपुरी इलाके में गोली लगने से हेड कांस्टेबल रतन लाल की मौत हो गई, जबकि शाहदरा के डीसीपी अमित शर्मा घायल हो गए थे। पुलिस के मुताबिक, हेड कांस्टेबल सहायक उपायुक्त कार्यालय से जुड़े थे।