दिल्ली हिंसा: केजरीवाल ने की शांति बनाने की अपील, कहा-पुलिस को एक्शन की खुली इजाजत मिले

arvind kejriwal
केजरीवाल की अपील- घर पर ही रहें, गांव ना जायें, नहीं तो खत्म हो जाएगा लॉकडाउन का मकसद

नई दिल्ली। दिल्ली में चल रहे उपद्रव के बीच सीएम अरविंदक केजरीवाल ने शांति बनाए रखने की अपील की है। इसके साथ ही उन्होंने अपने विधायकों और अधिकारियों के साथ आपात बैठक की है। उन्होंने कहा कि जो हिंसा हो रही है वह ठीक नहीं है। हिंसा में कोई भी शिकार हो सकता है।

Delhi Violence Kejriwal Appeals To Make Peace Says Allow Police Open Action :

सीएम ने कहा कि अस्पताल और दमकलकर्मी तैयार रहें। दमकल विभाग पुलिस के साथ तालमेल बैठाकर काम करे। उन्होंने कहा कि शिकायत ये भी है कि निचले स्तर पर पुलिस को कोई एक्शन लेने का हक नहीं है। उसके लिए उन्हें ऊपर से ऑर्डर लेना पड़ रहा है, उन्हें एक्शन के लिए इजाजत मिलनी चाहिए।

केजरीवाल ने कहा कि पिछले कुछ दिनों से दिल्ली के हालात खराब हुए हैं। ये बेहद ही चिंता का विषय है। उन्होंने कहा कि मेरी अपील है कि शांति बनाए रखें। हिंसा से सामाधन नहीं निकलने वाला। ना इधर का ना उधर का। सीएम ने कहा कि हिंसा के दौरान कल एक पुलिसकर्मी की जान गयी।

वह भी अपने लोगों में से थे। सीएम ने कहा कि आज हिंसा में कोई शिकार हो रहा तो कल कोई दूसरा भी इसका शिकार बनेगा। इसलिए शांति बनाए रखें। बैठक के बारे में उन्होंने कहा कि हिंसा प्रभावित इलाकों के विधायकों के साथ बैठक हुई। सभी का कहना है कि पुलिस की संख्या कम है और उनके पास एक्शन लेने की पॉवर नहीं है।

नई दिल्ली। दिल्ली में चल रहे उपद्रव के बीच सीएम अरविंदक केजरीवाल ने शांति बनाए रखने की अपील की है। इसके साथ ही उन्होंने अपने विधायकों और अधिकारियों के साथ आपात बैठक की है। उन्होंने कहा कि जो हिंसा हो रही है वह ठीक नहीं है। हिंसा में कोई भी शिकार हो सकता है। सीएम ने कहा कि अस्पताल और दमकलकर्मी तैयार रहें। दमकल विभाग पुलिस के साथ तालमेल बैठाकर काम करे। उन्होंने कहा कि शिकायत ये भी है कि निचले स्तर पर पुलिस को कोई एक्शन लेने का हक नहीं है। उसके लिए उन्हें ऊपर से ऑर्डर लेना पड़ रहा है, उन्हें एक्शन के लिए इजाजत मिलनी चाहिए। केजरीवाल ने कहा कि पिछले कुछ दिनों से दिल्ली के हालात खराब हुए हैं। ये बेहद ही चिंता का विषय है। उन्होंने कहा कि मेरी अपील है कि शांति बनाए रखें। हिंसा से सामाधन नहीं निकलने वाला। ना इधर का ना उधर का। सीएम ने कहा कि हिंसा के दौरान कल एक पुलिसकर्मी की जान गयी। वह भी अपने लोगों में से थे। सीएम ने कहा कि आज हिंसा में कोई शिकार हो रहा तो कल कोई दूसरा भी इसका शिकार बनेगा। इसलिए शांति बनाए रखें। बैठक के बारे में उन्होंने कहा कि हिंसा प्रभावित इलाकों के विधायकों के साथ बैठक हुई। सभी का कहना है कि पुलिस की संख्या कम है और उनके पास एक्शन लेने की पॉवर नहीं है।