दिल्ली हिंसा: पुलिस ने ताहिर हुसैन को बताया मास्टरमाइंड, बताया कैसे रची साजिश

tahir
दिल्ली हिंसा: पुलिस ने ताहिर हुसैन को बताया मास्टरमाइंड, बताया कैसे रची साजिश

दिल्‍ली के चाँदबाग इलाके में इसी साल हुई हिंसा को लेकर दिल्ली पुलिस की क्राइम ब्रांच ने कड़कड़डूमा कोर्ट में 1030 पन्‍नों की चार्जशीट दाखिल कीहै. इस मामले में आम आदमी पार्टी (आप) के ‘निलंबित’ पार्षद ताहिर हुसैन को हिंसा का मास्टरमाइंड बताया गया है. मामले में ताहिर हुसैन उसका भाई शाह आलम समेत कुल 15 आरोपी बनाए गए है. चार्जशीट में 75 गवाहों के बयान शामिल किये गए हैं. FSL रिपोर्ट में यह खुलासा हुआ है कि ताहिर हुसैन के घर-दफ्तर की जानबूझकर DVR खराब की गई थी ताकि CCTV फुटेज सामने न आ पाएं. हिंसा के पहले ताहिर हुसैन के घर और दफ्तर में रोजाना करीब 25 से 50 लोगों की मीटिंग होती थी.

Delhi Violence Police Told Tahir Hussain The Mastermind How The Conspiracy Hatched :

चार्जशीट के अनुसार, एंटी CAA प्रदर्शन, और दिल्ली हिंसा में इस्तेमाल करने के लिए ताहिर हुसैन ने 1 करोड़ 30 लाख रुपये खर्च किये. जनवरी के महीने में दिल्ली हिंसा के एक महीने पहले ताहिर ने अपनी कंपनी के जरिए ये पैसा कई शैल कंपनियों में ट्रांसफर करवाया और फिर उस सवा करोड़ रुपए का इस्तेमाल एंटी CAA प्रदर्शन और दिल्ली हिंसा मामले में किया गया, जिसकी जांच ED भी कर रही है.

ताहिर हुसैन के घर दफ्तर से SIT ने एक पिस्टल, 22 चले हुए कारतूस, और 64 जिंदा कारतूस बरामद भी किए थे. ताहिर के गुर्गे गुलफाम ने दंगे के पहले 100 कारतूस खरीदे जिसमें 7 कारतूस के खोखे बरामद हुए. इसके अनुसार, ताहिर ने हिंसा के वक्त एक प्लानिंग के तहत जानबूझकर पीसीआर कॉल किए.

जनवरी के महीने में ताहिर ने शाहीन बाग इलाके में उमर खालिद और खलील सैफी के साथ मिलकर एंटी CAA प्रदर्शन को बड़ा रूप देने की मीटिंग की थी. इन तीनों के मोबाइल फोन लोकेशन से यह जानकारी हासिल हुई थी. ताहिर हुसैन खलील सैफी से लगातार सम्पर्क में था. खलील सैफी दिल्ली हिंसा मामले में 26 फरवरी को जगतपुरी इलाके से गिरफ्तार हुआ था और यूनाइटेड अगेंस्ट हेट नाम से एंटी CAA संगठन का प्रमुख था. दिल्ली हिसा के लिए जनवरी में पैसे बांटने का काम भी ताहिर हुसैन ने अपने बाकी सहयोगियों के जरिये शुरू किया.

ताहिर हुसैन के घर साज़िश के तहत ही पत्थर, पट्रोल बम इकट्ठा किये गए थे. ताहिर उसके भाई शाह आलम समेत जिन 15 लोगों को 24 फरवरी की चाँद बाग में हुई हिंसा का आरोपी बनाया गया है, उन पर दंगे ,लूट,आगजनी जैसे धाराओं में चार्जशीट दाखिल हुई है. उमर ख़ालिद का नाम चार्जशीट का हिस्सा जरूर है पर उसे चाँद बाग हिंसा मामले में अभी आरोपी नही बनाया गया है. अब उमर खालिद कोजल्द पूछताछ के लिए बुलाया जाएगा 16 जून को अदालत चार्जशीट पर संज्ञान लेगी.

दिल्‍ली के चाँदबाग इलाके में इसी साल हुई हिंसा को लेकर दिल्ली पुलिस की क्राइम ब्रांच ने कड़कड़डूमा कोर्ट में 1030 पन्‍नों की चार्जशीट दाखिल कीहै. इस मामले में आम आदमी पार्टी (आप) के 'निलंबित' पार्षद ताहिर हुसैन को हिंसा का मास्टरमाइंड बताया गया है. मामले में ताहिर हुसैन उसका भाई शाह आलम समेत कुल 15 आरोपी बनाए गए है. चार्जशीट में 75 गवाहों के बयान शामिल किये गए हैं. FSL रिपोर्ट में यह खुलासा हुआ है कि ताहिर हुसैन के घर-दफ्तर की जानबूझकर DVR खराब की गई थी ताकि CCTV फुटेज सामने न आ पाएं. हिंसा के पहले ताहिर हुसैन के घर और दफ्तर में रोजाना करीब 25 से 50 लोगों की मीटिंग होती थी. चार्जशीट के अनुसार, एंटी CAA प्रदर्शन, और दिल्ली हिंसा में इस्तेमाल करने के लिए ताहिर हुसैन ने 1 करोड़ 30 लाख रुपये खर्च किये. जनवरी के महीने में दिल्ली हिंसा के एक महीने पहले ताहिर ने अपनी कंपनी के जरिए ये पैसा कई शैल कंपनियों में ट्रांसफर करवाया और फिर उस सवा करोड़ रुपए का इस्तेमाल एंटी CAA प्रदर्शन और दिल्ली हिंसा मामले में किया गया, जिसकी जांच ED भी कर रही है. ताहिर हुसैन के घर दफ्तर से SIT ने एक पिस्टल, 22 चले हुए कारतूस, और 64 जिंदा कारतूस बरामद भी किए थे. ताहिर के गुर्गे गुलफाम ने दंगे के पहले 100 कारतूस खरीदे जिसमें 7 कारतूस के खोखे बरामद हुए. इसके अनुसार, ताहिर ने हिंसा के वक्त एक प्लानिंग के तहत जानबूझकर पीसीआर कॉल किए. जनवरी के महीने में ताहिर ने शाहीन बाग इलाके में उमर खालिद और खलील सैफी के साथ मिलकर एंटी CAA प्रदर्शन को बड़ा रूप देने की मीटिंग की थी. इन तीनों के मोबाइल फोन लोकेशन से यह जानकारी हासिल हुई थी. ताहिर हुसैन खलील सैफी से लगातार सम्पर्क में था. खलील सैफी दिल्ली हिंसा मामले में 26 फरवरी को जगतपुरी इलाके से गिरफ्तार हुआ था और यूनाइटेड अगेंस्ट हेट नाम से एंटी CAA संगठन का प्रमुख था. दिल्ली हिसा के लिए जनवरी में पैसे बांटने का काम भी ताहिर हुसैन ने अपने बाकी सहयोगियों के जरिये शुरू किया. ताहिर हुसैन के घर साज़िश के तहत ही पत्थर, पट्रोल बम इकट्ठा किये गए थे. ताहिर उसके भाई शाह आलम समेत जिन 15 लोगों को 24 फरवरी की चाँद बाग में हुई हिंसा का आरोपी बनाया गया है, उन पर दंगे ,लूट,आगजनी जैसे धाराओं में चार्जशीट दाखिल हुई है. उमर ख़ालिद का नाम चार्जशीट का हिस्सा जरूर है पर उसे चाँद बाग हिंसा मामले में अभी आरोपी नही बनाया गया है. अब उमर खालिद कोजल्द पूछताछ के लिए बुलाया जाएगा 16 जून को अदालत चार्जशीट पर संज्ञान लेगी.