दिल्ली हिंसा: दंगाईयों ने घर में लगायी आग, 85 साल की वृद्ध मां जलती रही, बेटा न बचा सका जान

old women
दिल्ली हिंसा: दंगाईयों ने घर में लगायी आग, 85 साल की वृद्ध मां जलती रही, बेटा न बचा सका जान

नई दिल्ली। उत्तरपूर्वी दिल्ली में बीते रविवार से शुरू हुए दंगे थमने का नाम नही ले रहे। इस दौरान हेड कांस्टेबल समेत 35 लोगों की मोत हो चुकी है जबकि 200 से अधिक लोग घायल हो चुके हैं। गुरूवार को भी दंगाग्रस्त इलाकों में हिंसा की छिटपुट घटनाएं दर्ज की गई। जाफराबाद, मौजपुर, चांदबाग, गोकुलपुरी और आसपास के इलाकों में शांति रही लेकिन खौफ और दहशत का माहौल अभी बना हुआ। वहीं दिल्ली से एक ऐसी घटना सामने आयी जिसने इंसानियत को शर्मसार कर दिया, दंगाईयों की आग में 85 वर्षीय वृद्ध महिला की जलकर मौत हो गयी है।

Delhi Violence Rioters Set Fire To Home 85 Year Old Mother Kept On Burning Son Could Not Save Her Life :

जानकारी के मुताबिक बताया गया कि मंगलवार को भजनपुरा के गामड़ी गांव में 85 साल की एक महिला अकबरी की जलकर मौत हो गई। घर से काफी देर तक धुंआ निकल रहा है। उनके बेटे सैयद सलमानी ने जब पूरी आपबीती बताई तो वो फूट फूटकर रोने लगे। सलमानी ने बताया कि भीड़ घर तोड़कर अंदर आ गई और आग लगा दी जिसमें उनकी मां की जलकर मौत हो गई। उनका कहना है कि उस वक्त वह दूध लेने के लिए बाहर गये हुए थे तभी 100 से अधिक लोग उनके घर में घुस गये।

जिस वक्त सलमानी को आग लगने की जानकारी हुई तो उन्होने मदद के लिए गुहार लगाई, लेकिन सुबह की लगी आग के बाद देर रात उनकी मां का शव बाहर निकाला जा सका। उन्होंने बताया कि बच्चे उन्हें अंदर से बचाने के लिए फ़ोन कर रहे थे, लेकिन वह दूध लेने गए थे और बचाने के लिए जब वह वापस लौटे तो लोगों ने अंदर नहीं जाने दिया कहा कि अंदर जाओगे को दंगाई तुम्हें भी मार देंगे। बाद में उन्होंने कहा कि मैंने अपनी मां को खोया है कोई और अपने परिवार में दंगे में न खोए, इसलिए हिंदू मुसलमान एक होकर रहे ।

नई दिल्ली। उत्तरपूर्वी दिल्ली में बीते रविवार से शुरू हुए दंगे थमने का नाम नही ले रहे। इस दौरान हेड कांस्टेबल समेत 35 लोगों की मोत हो चुकी है जबकि 200 से अधिक लोग घायल हो चुके हैं। गुरूवार को भी दंगाग्रस्त इलाकों में हिंसा की छिटपुट घटनाएं दर्ज की गई। जाफराबाद, मौजपुर, चांदबाग, गोकुलपुरी और आसपास के इलाकों में शांति रही लेकिन खौफ और दहशत का माहौल अभी बना हुआ। वहीं दिल्ली से एक ऐसी घटना सामने आयी जिसने इंसानियत को शर्मसार कर दिया, दंगाईयों की आग में 85 वर्षीय वृद्ध महिला की जलकर मौत हो गयी है। जानकारी के मुताबिक बताया गया कि मंगलवार को भजनपुरा के गामड़ी गांव में 85 साल की एक महिला अकबरी की जलकर मौत हो गई। घर से काफी देर तक धुंआ निकल रहा है। उनके बेटे सैयद सलमानी ने जब पूरी आपबीती बताई तो वो फूट फूटकर रोने लगे। सलमानी ने बताया कि भीड़ घर तोड़कर अंदर आ गई और आग लगा दी जिसमें उनकी मां की जलकर मौत हो गई। उनका कहना है कि उस वक्त वह दूध लेने के लिए बाहर गये हुए थे तभी 100 से अधिक लोग उनके घर में घुस गये। जिस वक्त सलमानी को आग लगने की जानकारी हुई तो उन्होने मदद के लिए गुहार लगाई, लेकिन सुबह की लगी आग के बाद देर रात उनकी मां का शव बाहर निकाला जा सका। उन्होंने बताया कि बच्चे उन्हें अंदर से बचाने के लिए फ़ोन कर रहे थे, लेकिन वह दूध लेने गए थे और बचाने के लिए जब वह वापस लौटे तो लोगों ने अंदर नहीं जाने दिया कहा कि अंदर जाओगे को दंगाई तुम्हें भी मार देंगे। बाद में उन्होंने कहा कि मैंने अपनी मां को खोया है कोई और अपने परिवार में दंगे में न खोए, इसलिए हिंदू मुसलमान एक होकर रहे ।