दिसंबर में फिर बैंकों में होगी कैश की मारामारी

Demonetisation Before Queues End Bankers Fret About Another About Cash Crisis In December

नई दिल्ली। नोटबंदी के बाद से पूरे देश में कैश को लेकर मारामारी शुरू हो गयी है एटीमएम में लंबी कतारों से कैश निकलना मुश्किल हो गया है। हालांकि पिछले दो दिनों में नोटबंदी के बाद बैंको में कैश के लिए जाने वाले लोगों की देश के कुछ इलाकों में पहले से छोटी हुई है। लेकिन सिनियर बैंकरों को डर है कि दिसम्बर माह शुरू होते ही बैंको में कैश की मारामारी फिर से बढ़ सकती है।

मुम्बई के एक प्राइवेट बैंक के टॉप एग्जिक्युटिव ने बताया कि ‘ मुझे नहीं लगता कि बैंक ब्रांचों के आगे की आगे की भीड़ बहुत जल्द कम होने वाली हैं उनका कहना है दिसम्बर के पहले हफ्ते भीड़ काफी बढ़ सकती है। बैंकों का मानना है कि महीने की शुरुआत में लोगों को अपने बिल चुकाने होंगे तब उन्हें ज्यादा कैश की जरूरत होगी। हालांकि बैंककर्मियों का कहना है कि दिसम्बर के आखिरी हफ्ते में भीड़ कम होने की उम्मीद है।’

आईसीआईसीआई बैंक के रिटेल बैंकिंग के हेड अनूप बागची का कहना है कि एटीएम अगर पूरे तरह से काम करें तो इस समस्या को ख़तम किया जा सकता है। उनका कहना है कि अगर देश के सभी 2.5 एटीएम पूरी कैपेसिटी से काम करते रहें तो इस भीड़ से बचा जा सकता है।

आस्था सिंह की रिपोर्ट

नई दिल्ली। नोटबंदी के बाद से पूरे देश में कैश को लेकर मारामारी शुरू हो गयी है एटीमएम में लंबी कतारों से कैश निकलना मुश्किल हो गया है। हालांकि पिछले दो दिनों में नोटबंदी के बाद बैंको में कैश के लिए जाने वाले लोगों की देश के कुछ इलाकों में पहले से छोटी हुई है। लेकिन सिनियर बैंकरों को डर है कि दिसम्बर माह शुरू होते ही बैंको में कैश की मारामारी फिर से बढ़ सकती है। मुम्बई के एक…