नोटबंदी से सपा-बसपा व कांग्रेस बेचैन: केशव मौर्य

लखनऊ| भारतीय जनता पार्टी के प्रदेश अध्यक्ष सांसद केशव प्रसाद मौर्य ने आज सपा-बसपा और कांग्रेस पर कड़ा प्रहार किया है। मौर्य ने कहा कि सपा-बसपा व कांग्रेस तीनो दलों को जमीनी हकीकत पता लग गई है। जिसके कारण तीनों दलों में बौखलाहट है। उन्होंने तीनो दलों पर तंज कसते हुए कहा कि तीनों दलों के जिम्मेदार लोग कमीशन पर नोट बदलने में लगे हुए है। नोट बदलनी के धंधे में लगे लोग जनता को दिग्भ्रमित करने का प्रयास कर रहे है।




भाजपा अध्यक्ष ने कहा कि नोटबंदी व भ्रष्टाचार के खिलाफ प्रधानमंत्री मोदी जी की लड़ाई से कांग्रेस के युवराज राहुल गांधी जी बसपा सुप्रीमों बहन मायावती तथा सपा सरकार के मुखिया श्री अखिलेश यादव में बैचनी है। जिसके कारण जनता को भ्रमित करने के लिए आज अपने जीजा जी द्वारा किसानों की जमीन औने-पौने दाम में हड़पने का हिसाब देने के बजाय ग्रेटर नोएडा में मण्डी पहुंचकर गरीबों व किसानों का हितैषी बनने का स्वांग रच रहे है। जबकि कांग्रेस राज में लगातार किसान बदहाल हुआ तथा देश के लोगों की गरीबी बढ़ी। मौर्य ने कांग्रेस उपाध्यक्ष राहुल गांधी को नसीहत देते कहा कि कांग्रेस अपने दामन में झांक कर देख कि कांग्रेस राज में कितने किसानों ने आत्महत्याएं की? उन्होंने कहा भ्रष्टाचार के खिलाफ प्रधानमंत्री जी के फैसले से बैचेन समाजवादी पार्टी है।




सपा राज में उ0प्र0 की बर्बादी हुई तथा जो लोग बंद प्रदेश की बदहाली हुई तथा जो लोग प्रदेश की बदहाली के जिम्मेदार है वह अपनी इमेज बिल्डिगं के लिए चाहे जितनी घोषणाएं करें या उद्घाटन के पत्थर लगाएं लेकिन जनता ने उ0प्र0 में बदलाव का मन बना लिया है जो भारतीय जनता पार्टी की परिवर्तन यात्राओं का जनता द्वारा उत्साह व गर्मजोशी के साथ स्वागत से साफ हो चुका है। उन्होंने आरोप लगाया कि भले ही सपा सैफई परिवार के अन्र्तकलह के नाटक का मंचन पिछले 5-6 माह से करके जनता का ध्यान जमीनों पर अवैध कब्जो, अपराध, लूट, हत्या, बलात्कार तथा भारी भ्रष्टाचार से हटाना चाहती हो लेकिन यह बात सच है कि अखिलेश राज में प्रदेश की जनता अपराधियों से भयग्रस्त तथा भ्रष्टाचार से बुरी तरह पीड़ित रही है।

उन्होंने बसपा सुप्रीमों मायावती पर तंज कसते हुए कहा कि नोटबंदी की घबराहट इतनी कि कभी-कभी प्रेस के सामने आने वाली मायावती अब प्रतिदिन प्रेस से मिलती है। उन्होंने कहा कि भ्रामक बयानबाजी से बसपा सुप्रीमों को सत्ता मिलने वाली नहीं। जनता ने अब घोटालेबाजों से किनारा कर लिया है। मौर्य ने कहा कि उ0प्र0 की जागरूक जनता यह जानती है कि यूपीए शासनकाल में बसपा व सपा दोनों कांग्रेस के साथ थे जिनके कार्यकाल में 12 लाख करोड़ से अधिक का घोटाला हुआ। अब 2017 नजदीक देख घोटाला व भ्रष्टाचार समर्थक दल पुनः एक साथ है लेकिन जनता ने सपा-बसपा व कांग्रेस मुक्त यूपी का र्निणय करने का मन बना चुकी है।