नोटबंदी का फैसला मोदी के अंत की शुरुआत: हिंदू महासभा

अलीगढ़| अखिल भारतीय हिंदू महासभा ने प्रधानमंत्री मोदी को हिंदू विरोधी करार देते हुए कहा है कि नोटबंदी का फैसला उनके अंत की शुरुआत है| महासभा का आरोप है मोदी ने नोटबंदी का फैसला उस समय लिया जब हिंदुओं की शादी का सीजन शुरू हो रहा था| महासभा ने कहा कि नोटबंदी की वजह से कई परिवार उधार लेकर शादी करने को मजबूर हुए तो कइयों की शादी कैंसिल हो गई|




रविवार को अलीगढ़ में अखिल भारतीय हिंदू महासभा की राष्ट्रीय सचिव डॉ. पूजा शकुन पांडे ने नोटबंदी पर लोगों की परेशानियों पर प्रदर्शन करते हुए मोदी सरकार को जमकर कोसा| उन्होंने कहा कि मोदी ने चेहरे पर हिंदुत्व का जो मुखौटा पहन रखा था वह उतर चुका है और नोटबंदी का फैसला देश से मोदी को हटाने की दिशा की शुरुआत बन चुका है| इस दौरान पूजा ने नाथूराम गोडसे को देशभक्त बता डाला|

पूजा ने कहा कि हिंदू महासभा के कार्यकर्ताओं में नाथूराम गोडसे, मदन मोहन मालवीय, वीर सावरकर जैसे नाम शामिल थे| जो लोग मोदी-मोदी कह रहे हैं उनको आगाह करना चाहती हूं कि इस संगठन को सत्ता का लालच कभी नहीं रहा| ये संगठन सच्चे देशभक्तों का है| ध्यान रखिएगा, अगर फिर से गांधी बनने की कोशिश की तो हम कुछ कर पाएं या न कर पाएं, लेकिन गोडसे को फिर से जन्म दे देंगे|