फीस वृद्धि पर JNU के छात्रों का प्रदर्शन जारी, प्रशासनिक बिल्डिंग में घुसकर कर रहे नारेबाजी

jnu
जेएनयू के फीस वृद्धि पर छात्रों का प्रदर्शन जारी, प्रशासनिक बिल्डिंग में घुसे छात्र कर रहे नारेबाजी

नई दिल्ली। जवाहर लाल नेहरू यूनिवर्सिटी (जेएनयू) में हॉस्टल फीस की वृद्धि को लेकर छात्रों का प्रदर्शन जारी है। इस बीच प्रदर्शन कर रहे छात्र प्रशासनिक भवन में घुस गए हैं और अंदर बैठकर नारेबारी कर रहे हैं। प्रशासनिक भवन में ही वाइस चांसलर समेत जेएनयू प्रशासन के सभी अधिकारियों के दफ्तर हैं। प्रदर्शन कर रहे छात्रों का कहना है कि जब तक वाइस चांसलर छात्रों से नहीं मिलेंगे, तब तक हम बिल्डिंग से बाहर नहीं आएंगे।

Demonstration Of Students On Jnus Fee Hike Continues Students Entering The Administrative Building Shouting Slogans :

बता दें कि, दो दिन पूर्व जेएनयू के छात्रों ने हॉस्टल फीस को लेकर जमकर हंगामा किया था। इस दौरान सीआरपीएफ और दिल्ली पुलिस को मोर्चा संभालना पड़ा था। सुबह से शुरू हुआ प्रदर्शन देर शाम तक चलता रहा। छात्रों का कहना है कि, नामी प्राइवेट यूनिवर्सिटी छोड़कर हम यहां पढ़ने आए, क्योंकि ये सेंट्रल यूनिवर्सिटी है, सस्ता है और अच्छी शिक्षा मिलती है, लेकिन अब हमें अपनी पढ़ाई बीच में छोड़ कर जाना पड़ेगा।

उनका कहना है कि कमरा कुछ खास भी नहीं है, अब तक सर्विस चार्ज सरकार देती थी, वो भी हमें देना होगा। इससे पहले छात्रों ने मंगलवार को जंतर-मंतर पर विरोध प्रदर्शन किया। उनका कहना है कि जेएनयू प्रशासन ने छात्रावास, मेस और सुरक्षा फीस में 400 प्रतिशत की वृद्धि की है। वहीं, जेएनयू प्रशासन का दावा है कि हॉस्टल के चार्ज में 19 साल के बाद इजाफा किया गया है।

जेएनयू के नए मैनुअल के मुताबिक अब विजिटर्स को रात 10:30 के बाद हॉस्टल से निकलना होगा। हॉस्टल के नियमों का पालन न करने पर 10,000 रुपये का जुर्माना लगेगा।

नई दिल्ली। जवाहर लाल नेहरू यूनिवर्सिटी (जेएनयू) में हॉस्टल फीस की वृद्धि को लेकर छात्रों का प्रदर्शन जारी है। इस बीच प्रदर्शन कर रहे छात्र प्रशासनिक भवन में घुस गए हैं और अंदर बैठकर नारेबारी कर रहे हैं। प्रशासनिक भवन में ही वाइस चांसलर समेत जेएनयू प्रशासन के सभी अधिकारियों के दफ्तर हैं। प्रदर्शन कर रहे छात्रों का कहना है कि जब तक वाइस चांसलर छात्रों से नहीं मिलेंगे, तब तक हम बिल्डिंग से बाहर नहीं आएंगे। बता दें कि, दो दिन पूर्व जेएनयू के छात्रों ने हॉस्टल फीस को लेकर जमकर हंगामा किया था। इस दौरान सीआरपीएफ और दिल्ली पुलिस को मोर्चा संभालना पड़ा था। सुबह से शुरू हुआ प्रदर्शन देर शाम तक चलता रहा। छात्रों का कहना है कि, नामी प्राइवेट यूनिवर्सिटी छोड़कर हम यहां पढ़ने आए, क्योंकि ये सेंट्रल यूनिवर्सिटी है, सस्ता है और अच्छी शिक्षा मिलती है, लेकिन अब हमें अपनी पढ़ाई बीच में छोड़ कर जाना पड़ेगा। उनका कहना है कि कमरा कुछ खास भी नहीं है, अब तक सर्विस चार्ज सरकार देती थी, वो भी हमें देना होगा। इससे पहले छात्रों ने मंगलवार को जंतर-मंतर पर विरोध प्रदर्शन किया। उनका कहना है कि जेएनयू प्रशासन ने छात्रावास, मेस और सुरक्षा फीस में 400 प्रतिशत की वृद्धि की है। वहीं, जेएनयू प्रशासन का दावा है कि हॉस्टल के चार्ज में 19 साल के बाद इजाफा किया गया है। जेएनयू के नए मैनुअल के मुताबिक अब विजिटर्स को रात 10:30 के बाद हॉस्टल से निकलना होगा। हॉस्टल के नियमों का पालन न करने पर 10,000 रुपये का जुर्माना लगेगा।