लखनऊ में थमने का नाम नहीं ले रहा डेंगू का कहर, तीन और की मौत




लखनऊ: राजधानी में डेंगू का कहर थमने का नाम नहीं ले रहा है। शुक्रवार को बुखार के कारण तीन लोगों की मौत हो गयी। तीनों के परिवारवालों ने डेंगू के कारण मौत की आशंका व्यक्त की है। इसमें दो लोग फैजुल्लागंज के रहने वाले हैं। फैजुल्लागंज में डेंगू व बुखार के कारण कई लोगों की मौत हो चुकी है। इसके अलावा सरकारी तथा निजी अस्पतालों में काफी संख्या में बुखार से पीड़ित मरीज आए, जिनको डेंगू की आशंका थी।

उधर हाईकोर्ट के निर्देश के बावजूद स्वास्य विभाग आंकड़ों की बाजीगरी से बाज नहीं आ रहा है। स्वास्य विभाग ने अभी तक राजधानी में डेंगू से दो लोगों की मौत की पुष्टि की है जबकि संख्या काफी अधिक है।राजधानी में डेंगू तथा बुखार के मरीजों की संख्या हर दिन बढ़ती जा रही है। फैजुल्लागंज में रहने वाले मो. रफी (22) को बुखार था। परिवारवाले इलाज के लिए उसको ट्रामा सेंटर ले गये जहां उसकी मौत हो गयी। इसी क्षेत्र में रहने वाले दिनेश (28) को भी बुखार था। उसकी भी ट्रामा सेंटर में इलाज के दौरान मौत हो गयी। फैजुल्लागंज में डेंगू व बुखार से पूर्व में कई लोगों की मौत हो चुकी है। डेंगू के भय के यहां रहने वाले कई लोग पलायन कर चुके हैं।

सीतापुर निवासी रामकली (50) को एक हफ्ते से बुखार था। परिवारवाले शुक्रवार को उसको राम मनोहर लोहिया अस्पताल ले गये। इमरजेंसी में इलाज के दौरान ही उसने दम तोड़ दिया। तीनों के परिवारवालों ने डेंगू के कारण मौत होने की बात कही है। शुक्रवार की सुबह से ही किंगजार्ज चिकित्सा विविद्यालय, सिविल, बलरामपुर, राम मनोहर लोहिया के अलावा अन्य सरकारी अस्पतालों में बुखार व डायरिया से पीड़ित मरीजों का जमावड़ा लग गया। बुखार से पीड़ित अधिकतर मरीजों डेंगू होने की आशंका थी। सरकारी अस्पतालों में बेड खाली न होने की बात कहकर अधिकतर मरीजों को दवा लिखकर लौटा दिया गया। डेंगू होने की आशंका के कारण ऐसे मरीजों ने निजी अस्पतालों का रुख किया।हाईकोर्ट के निर्देश के बावजूद चिकित्सा विभाग डेंगू से मरने वालों तथा बीमार होने वालों की आंकड़ों में बाजीगरी करने से बाज नहीं आ रहा है।

मुख्य चिकित्सा अधिकारी एसएनएस यादव के अनुसार शुक्रवार की शाम डेथ आडिट कमेटी की बैठक हुई। कमेटी ने डेंगू से मरने वाले तथा बीमार मरीजों की समीक्षा की। उन्होंने बताया कि डेंगू से राजधानी में अब तक दो लोगों की मौत हुई है जबकि 494 मरीजों की पुष्टि हुई है। स्वास्य विभाग ने डेंगू से शुक्रवार को किसी की मौत होने की बात नहीं कही है। शुक्रवार को राजधानी में डेंगू से 11 मरीजों की पहचान हुई है। जानकारों का कहना है कि डेंगू से राजधानी में कई मरीजों की पुष्टि हो चुकी है। इसमें से अधिकतर मरीजों की मौत निजी अस्पतालों में हुई है। निजी अस्पताल कार्रवाई के भय से मरने वाले मरीजों की जानकारी स्वास्य विभाग को नहीं दे रहे हैं।