1. हिन्दी समाचार
  2. खबरें
  3. डेंगू के कहर से दो हफ्ते में खत्म हो गया पूरा परिवार, बचा है सिर्फ एक मासूम बच्चा

डेंगू के कहर से दो हफ्ते में खत्म हो गया पूरा परिवार, बचा है सिर्फ एक मासूम बच्चा

नई दिल्ली। आजकल दिल्ली समेत कई राज्यों में डेंगू का कहर चल रहा है और इसकी वजह से आये दिन न जाने कितनी मौतें हो रही है। तेलांगना से एक दिल दहला देने वाली खबर सामने आयी जहां दो हफ्ते के अन्दर ही डेंगू की चपेट में आकर सिर्फ एक मासूम बच्चे को छोड़कर पूरे परिवार की मौत हो गयी। इन मौतों के बाद वहां की सरकार सवालों के घेरे में खड़ी है।

तेलंगाना के इस परिवार में सिर्फ एक मासूम बच्चा बचा है, उसकी माता, पिता, बहन और परदादा सभी की डेंगू की वजह से 15 दिनो के अन्दर मौत हो चुकी है। यह परिवार तेलंगाना के मंचेयिरयल जिले में रहता था। सबसे पहली मौत बच्चे के पिता की हुई थी और आखिरी मौत बच्चे की मां की हुई, महिला ने बच्चे को जन्म देेते ही दम तोड़ दिया और एक एक कर पूरा परिवार खत्म हो गया।

परिवार में सबसे पहले बच्चे के पिता 30 वर्षीय राजगट्टू की हुई, उनको डेंगू हुआ था. राजगट्टू पेसे से शिक्षक थे। जैसे ही पता चला तो उन्हे परिवार के लोग करीमनगर के एक निजी अस्पताल ले गये लेकिन 16 अक्टूबर को इलाज के दौरान उनकी मौत हो गयी। इसके बाद दूसरी मौत राजगट्टू के 70 वर्षीय दादा लिंगाय की हुई। उनको भी डेंगू ने अपनी गिरफ्त में जकड़ लिया था। वहीं दिवाली वाले दिन तीसरी मौत राजगट्टू की 6 साल की बेटी श्री वर्षिनी की हुई, उसका भी डेंगू का इलाज चल रहा था। इसके बाद गर्भवती राजगट्टू की पत्नी सोनी को भी डेंगू हो गया, उन्हे हैदराबाद में भर्ती कराया गया जहां 30 अक्टूबर को बच्चे को जन्म देने के बाद उन्होने भी दम तोड़ दिया।

इस घटना के पहले ही उच्च न्यायालय ने सरकार को डेंगू के लिए निदेशित किया था। लेकिन 15 दिनों के अंतराल में पूरे परिवार के खत्म हो जाने की इस हृदय विदारक घटना ने सरकार को कटघरे में खड़ा कर दिया है.आपको बता दें कि तेलंगाना उच्च न्यायालय ने राज्य सरकार को चेतावनी दी थी और राज्य में डेंगू के खतरे को रोकने के लिए प्रभावी उपाय करने को कहा था।

Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक, यूट्यूब और ट्विटर पर फॉलो करे...