LDA में हो रहे भ्रष्टाचार को लेकर डिप्टी CM केशव ने लिखा CM योगी को पत्र

yogi
LDA में हो रहे भ्रष्टाचार को लेकर डिप्टी CM केशव ने लिखा CM योगी को पत्र

लखनऊ। सूबे के उपमुख्यमंत्री केशव प्रसाद मौर्य (Deputy CM Keshav Prasad Maurya) ने मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ (CM Yogi Adityanath) को पत्र लिखकर लखनऊ विकास प्राधिकरण (Lucknow Development Authority) में हो रहे भ्रष्टाचार (Corruption) के खेल को उजागर किया है। 26 अगस्त को लिखे पत्र में केशव प्रसाद मौर्य ने लखनऊ विकास प्राधिकरण में हुए घोटाले की लिस्ट भी भेजी है। इस पत्र में केशव प्रसाद मौर्य ने कमर्शियल प्लाट के आवंटन, प्लाट के फर्जीवाड़े, पुरानी योजनाओं की गायब हुई फ़ाइल, निजी बिल्डर को फयादा पहुंचाने जैसे मामलों पर कार्यवाई करने की मांग की है।

Deputy Cm Keshav Wrote To Cm Yogi About Corruption In Lda :

केशव प्रसाद मौर्य ने जिन भ्रष्टाचार के मामले की शिकायत सीएम योगी से की है उसमें से अधिकतर उन्हीं के सरकार की हैं। पत्र में उपमुख्यमंत्री ने लखनऊ विकास प्राधिकरण में भारी अनियमितता की शिकायत की है। इस पत्र में 9 दिन पुरानी कंपनी को प्लॉट आवंटन करना, विभाग से गायब हुई फाइलों और प्लाटों के समायोजन में हुए भ्रष्टाचार का भी जिक्र किया गया है। पत्र में केशव ने रोहतास बिल्डर के फर्जीवाड़े पर एलडीए चुप्पी की चुप्पी पर भी सवाल खड़े किए हैं। पत्र के मुताबिक बिल्डर के ऊपर एफआईआर दर्ज है, फिर भी अधिकारी बिल्डर पर मेहरबान हैं। पत्र में कई कंपनियों को ब्लैकलिस्ट न करने भी सवाल उठाए गए हैं।

LDA उपाध्यक्ष से रिपोर्ट तलब

केशव मौर्य के पत्र पर सीएमओ के विशेष सचिव अमित सिंह ने आवास विकास के प्रमुख सचिव को 31 अगस्त को पत्र भेजा था। प्रमुख सचिव ने 7 नवंबर को कमिश्नर कार्यालय को पत्र लिखकर रिपोर्ट देने को कहा। इसके बाद 8 नवंबर को एलडीए के उपाध्यक्ष से रिपोर्ट तलब की है। घोटाले से जुड़े सभी अधिकारियों से जवाब मांगा गया है।  

लखनऊ। सूबे के उपमुख्यमंत्री केशव प्रसाद मौर्य (Deputy CM Keshav Prasad Maurya) ने मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ (CM Yogi Adityanath) को पत्र लिखकर लखनऊ विकास प्राधिकरण (Lucknow Development Authority) में हो रहे भ्रष्टाचार (Corruption) के खेल को उजागर किया है। 26 अगस्त को लिखे पत्र में केशव प्रसाद मौर्य ने लखनऊ विकास प्राधिकरण में हुए घोटाले की लिस्ट भी भेजी है। इस पत्र में केशव प्रसाद मौर्य ने कमर्शियल प्लाट के आवंटन, प्लाट के फर्जीवाड़े, पुरानी योजनाओं की गायब हुई फ़ाइल, निजी बिल्डर को फयादा पहुंचाने जैसे मामलों पर कार्यवाई करने की मांग की है। केशव प्रसाद मौर्य ने जिन भ्रष्टाचार के मामले की शिकायत सीएम योगी से की है उसमें से अधिकतर उन्हीं के सरकार की हैं। पत्र में उपमुख्यमंत्री ने लखनऊ विकास प्राधिकरण में भारी अनियमितता की शिकायत की है। इस पत्र में 9 दिन पुरानी कंपनी को प्लॉट आवंटन करना, विभाग से गायब हुई फाइलों और प्लाटों के समायोजन में हुए भ्रष्टाचार का भी जिक्र किया गया है। पत्र में केशव ने रोहतास बिल्डर के फर्जीवाड़े पर एलडीए चुप्पी की चुप्पी पर भी सवाल खड़े किए हैं। पत्र के मुताबिक बिल्डर के ऊपर एफआईआर दर्ज है, फिर भी अधिकारी बिल्डर पर मेहरबान हैं। पत्र में कई कंपनियों को ब्लैकलिस्ट न करने भी सवाल उठाए गए हैं। LDA उपाध्यक्ष से रिपोर्ट तलब केशव मौर्य के पत्र पर सीएमओ के विशेष सचिव अमित सिंह ने आवास विकास के प्रमुख सचिव को 31 अगस्त को पत्र भेजा था। प्रमुख सचिव ने 7 नवंबर को कमिश्नर कार्यालय को पत्र लिखकर रिपोर्ट देने को कहा। इसके बाद 8 नवंबर को एलडीए के उपाध्यक्ष से रिपोर्ट तलब की है। घोटाले से जुड़े सभी अधिकारियों से जवाब मांगा गया है।