बीजेपी के विरोध के बावजूद साध्वी प्रज्ञा ने बुर्का पर बैन लगाने का किया समर्थन, श्रीलंका की तर्ज पर कार्रवाई की मांग

sadhvi
बीजेपी के विरोध के बावजूद साध्वी प्रज्ञा ने बुर्का पर बैन लगाने का किया समर्थन, श्रीलंका की तर्ज पर कार्रवाई की मांग

नई दिल्ली। श्रीलंका में बुर्का पर बैन लगने के बाद भारत में भी इसको बैन करने की मांग होने लगी है। शिवसेना ने देशहित में बुर्का और नकाब पर बैन लगाने की मांग की है। शिवसेना की इस मांग के बाद से सियासत तेज हो गयी है। वहीं बीजेपी ने शिवसेना की इस मांग का विरोध किया है।

Despite Opposition From Bjp Sadhvi Pragya Has Supported The Ban On Burqa :

हालांकि भोपाल से बीजेपी प्रत्याशी साध्वी प्रज्ञा ने शिवसेना की मांग का समर्थन किया है। शिवसेना के साथ साध्वी प्रज्ञा के द्वारा बुर्का पर बैन की मांग को लेकर विपक्ष ने भी इसका विरोध किया है। इसके साथ ही इसको लेकर विपक्ष ने साध्वी प्रज्ञा पर और शिवसेना पर सवाल उठाये हैं। मुस्लिम महिलाओं ने भी शिवसेना की इस मांग का विरोध किया है।

बीजेपी प्रवक्ता जीवीएल नरसिम्हा राव ने भारत में बुर्का पर बैन की मांग का विरोध किया है। उन्होंने कहा कि भारत में बुर्का में बैन की जरुरत नहीं। बीजेपी के विरोध के बावजूद साध्वी प्रज्ञा ने बुर्का को बैन करने की मांग का समर्थन किया है। उनका कहना है कि किसी कारण से इस माध्यम का लाभ उठाते हैं और इससे देश को नुकसान पहुंचता हो, लोकतंत्र खतरे में हो या फिर सुरक्षा खतरे में हो तो ऐसी परंपराओं में थोड़ी ढील देनी चाहिए।

कानून के जरिए बैन लगाया जाए इससे अच्छा है कि वो खुद ही इस पर फैसला लें। अगर कोई इसके लिए जरिए गलत काम करता है तो उनका ही पंथ बदनाम होगा। वहीं बीजेपी प्रवक्ता नरसिम्हा ने कहा ​कि इस पर पाबंदी लगाने की जरुरत नहीं है। हर देश को अपनी सुरक्षा को देखते ही फैसला लेने का अधिकार है।

उन्होंने कहा कि हमारा देश सुरक्षित है। दूसरी ओर, केंद्रीय मंत्री रामदास अठावले ने भी शिवसेना की इस मांग का विरोध किया है। रामदास अठावले ने कहा कि शिवसेना की यह मांग गलत है।

नई दिल्ली। श्रीलंका में बुर्का पर बैन लगने के बाद भारत में भी इसको बैन करने की मांग होने लगी है। शिवसेना ने देशहित में बुर्का और नकाब पर बैन लगाने की मांग की है। शिवसेना की इस मांग के बाद से सियासत तेज हो गयी है। वहीं बीजेपी ने शिवसेना की इस मांग का विरोध किया है। हालांकि भोपाल से बीजेपी प्रत्याशी साध्वी प्रज्ञा ने शिवसेना की मांग का समर्थन किया है। शिवसेना के साथ साध्वी प्रज्ञा के द्वारा बुर्का पर बैन की मांग को लेकर विपक्ष ने भी इसका विरोध किया है। इसके साथ ही इसको लेकर विपक्ष ने साध्वी प्रज्ञा पर और शिवसेना पर सवाल उठाये हैं। मुस्लिम महिलाओं ने भी शिवसेना की इस मांग का विरोध किया है। बीजेपी प्रवक्ता जीवीएल नरसिम्हा राव ने भारत में बुर्का पर बैन की मांग का विरोध किया है। उन्होंने कहा कि भारत में बुर्का में बैन की जरुरत नहीं। बीजेपी के विरोध के बावजूद साध्वी प्रज्ञा ने बुर्का को बैन करने की मांग का समर्थन किया है। उनका कहना है कि किसी कारण से इस माध्यम का लाभ उठाते हैं और इससे देश को नुकसान पहुंचता हो, लोकतंत्र खतरे में हो या फिर सुरक्षा खतरे में हो तो ऐसी परंपराओं में थोड़ी ढील देनी चाहिए। कानून के जरिए बैन लगाया जाए इससे अच्छा है कि वो खुद ही इस पर फैसला लें। अगर कोई इसके लिए जरिए गलत काम करता है तो उनका ही पंथ बदनाम होगा। वहीं बीजेपी प्रवक्ता नरसिम्हा ने कहा ​कि इस पर पाबंदी लगाने की जरुरत नहीं है। हर देश को अपनी सुरक्षा को देखते ही फैसला लेने का अधिकार है। उन्होंने कहा कि हमारा देश सुरक्षित है। दूसरी ओर, केंद्रीय मंत्री रामदास अठावले ने भी शिवसेना की इस मांग का विरोध किया है। रामदास अठावले ने कहा कि शिवसेना की यह मांग गलत है।