1. हिन्दी समाचार
  2. एस्ट्रोलोजी
  3. Devuthani Ekadashi 2021: देवउठनी एकादशी आज है, जानिए तुलसी पत्ते तोड़ने के मंत्र

Devuthani Ekadashi 2021: देवउठनी एकादशी आज है, जानिए तुलसी पत्ते तोड़ने के मंत्र

कार्तिक माह की एकादशी तिथि को देवोत्थान एकादशी कहा जाता है। कार्तिक मास शुक्ल पक्ष की एकादशी को श्रीहरि चतुर्मास की निद्रा से जागते हैं, इसीलिए इस एकादशी को देवउठनी एकादशी भी कहते हैं।

By अनूप कुमार 
Updated Date

Devuthani Ekadashi 2021: कार्तिक माह की एकादशी तिथि को देवोत्थान एकादशी कहा जाता है। कार्तिक मास शुक्ल पक्ष की एकादशी को श्रीहरि चतुर्मास की निद्रा से जागते हैं, इसीलिए इस एकादशी को देवउठनी एकादशी भी कहते हैं। इस दिन से ही हिन्दू धर्म में शुभ कार्य जैसे विवाह और अन्य शुभ कार्य शुरू हो जाते हैं।

पढ़ें :- Parivartini Ekadashi 2022: परिवर्तिनी एकादशी का व्रत रखने से होगी मनोकामना पूर्ण, भगवान विष्णु की मिलेगी कृपा

इस दिन भगवान विष्णु की पूजा-अर्चना और व्रत आदि किया जाता है। सभी एकादशियों में देवउठनी एकादशी का व्रत सबसे महत्वपूर्ण माना जाता है। आज के दिन रात्रि में घरों के बाहर और पूजा स्थल पर दीये जलाने चाहिए। रात्रि के समय घर के सभी सदस्यों को भगवान विष्णु समेत सभी देवी-देवताओं का पूजन करना चाहिए।

देवउठनी एकादशी मंत्र

“उत्तिष्ठो उत्तिष्ठ गोविंदो, उत्तिष्ठो गरुणध्वज।
उत्तिष्ठो कमलाकांत, जगताम मंगलम कुरु।।”

तुलसी के पत्ते तोड़ने के मंत्र

पढ़ें :- 29 july 2022 ka panchang : आज भगवान विष्णु की उपासना के साथ माता लक्ष्मी की पूजा करें

1 – ॐ सुभद्राय नमः

2 – ॐ सुप्रभाय नमः

3 – मातस्तुलसि गोविन्द हृदयानन्द कारिणी
नारायणस्य पूजार्थं चिनोमि त्वां नमोस्तुते ।।

इन टॉपिक्स पर और पढ़ें:
Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक, यूट्यूब और ट्विटर पर फॉलो करे...