डीजीपी ओपी सिंह बोले-विरोध प्रदर्शन में एनजीओ व बाहरी तत्व के शामिल होने की आशंका

dgp op singh
कमिश्नरी लागू होते ही लखनऊ व नोएडा पुलिस दे सकती है बंदूक लाइसेंस...

लखनऊ। नागरिकता संशोधन कानून (सीएए) व एनआरसी को लेकर राजधानी में बवाल करने वाले 218 उपद्रवियों को पुलिस ने गिरफ्तार कर लिया है, जबकि अन्य लोगों की शिनाख्त के प्रयास किये जा रहे हैं। डीजीपी ओपी सिंह ने कहा है कि हिंसा भड़काने में एनजीओ और बाहरी लोगों शामिल होने की आशंका है। उन्होंने कहा कि विवेचना की जा रही है, प्रशासन की ओर से गिरफ्तारी की कार्रवाई की जा रही है।

Dgp Op Singh Said Fear Of Involvement Of Ngos And Outside Elements In Protests :

एसएसपी लखनऊ कलानिधी नैथानी ने बताया कि हिंसा में चिह्नित अराजक तत्वों की गिरफ्तारी के लिए पुलिस टीमें लगातार दबिश दे रही हैं। वहीं, नागरिकता कानून को लेकर प्रदेश में चल रही हिंसा में 13 लोगों की जान चली गयी है। शुक्रवार को जुमे की नमाज के बाद कई जिलों में उग्र प्रदर्शन हुए थे। इस दौरान पथराव व आगजनी की घटनाएं बेकाबू हो गईं थी। कई स्थानों पर पुलिस को फायरिंग करनी पड़ी।

डीजीपी ओपी सिंह का कहना है कि शुक्रवार को जुमे की नमाज के बाद कुछ जिलों में प्रदर्शनकारियों ने सुनियोजित रूप से पुलिसकर्मियों पर हमला बोल दिया एवं वाहनों में तोड़फोड़ की। इन घटनाओं में 38 पुलिसकर्मी भी घायल हुए हैं। प्रभावित जिलों में उपद्रवियों की पहचान कर उनकी गिरफ्तारी की जा रही है। अब तक लगभग 4 हजार उपद्रवियों को हिरासत में लिया गया है।

लखनऊ। नागरिकता संशोधन कानून (सीएए) व एनआरसी को लेकर राजधानी में बवाल करने वाले 218 उपद्रवियों को पुलिस ने गिरफ्तार कर लिया है, जबकि अन्य लोगों की शिनाख्त के प्रयास किये जा रहे हैं। डीजीपी ओपी सिंह ने कहा है कि हिंसा भड़काने में एनजीओ और बाहरी लोगों शामिल होने की आशंका है। उन्होंने कहा कि विवेचना की जा रही है, प्रशासन की ओर से गिरफ्तारी की कार्रवाई की जा रही है। एसएसपी लखनऊ कलानिधी नैथानी ने बताया कि हिंसा में चिह्नित अराजक तत्वों की गिरफ्तारी के लिए पुलिस टीमें लगातार दबिश दे रही हैं। वहीं, नागरिकता कानून को लेकर प्रदेश में चल रही हिंसा में 13 लोगों की जान चली गयी है। शुक्रवार को जुमे की नमाज के बाद कई जिलों में उग्र प्रदर्शन हुए थे। इस दौरान पथराव व आगजनी की घटनाएं बेकाबू हो गईं थी। कई स्थानों पर पुलिस को फायरिंग करनी पड़ी। डीजीपी ओपी सिंह का कहना है कि शुक्रवार को जुमे की नमाज के बाद कुछ जिलों में प्रदर्शनकारियों ने सुनियोजित रूप से पुलिसकर्मियों पर हमला बोल दिया एवं वाहनों में तोड़फोड़ की। इन घटनाओं में 38 पुलिसकर्मी भी घायल हुए हैं। प्रभावित जिलों में उपद्रवियों की पहचान कर उनकी गिरफ्तारी की जा रही है। अब तक लगभग 4 हजार उपद्रवियों को हिरासत में लिया गया है।