Dhanteras 2018: आज है धनतेरस, जाने शुभ मुहूर्त और पूजन विधि

Dhanteras 2018: आज है धनतेरस, जाने शुभ मुहूर्त और पूजन विधि
Dhanteras 2018: आज है धनतेरस, जाने शुभ मुहूर्त और पूजन विधि

लखनऊ। कार्तिक कृष्ण त्रयोदशी के दिन धनतेरस का पर्व मनाया जाता है और इसी दिन से पांच पर्वों के त्योहार दिवाली की शुरुआत हो जाती है। यह तो सभी जानते हैं कि धनतेरस के दिन महालक्ष्मी के सचिव कुबेर का पूजन होता है और इनके पूजन से अपार धन की प्राप्ति का वरदान मिलता है। जानिए इस बार धनतेरस के दिन पूजन के शुभ मुहूर्त और विधि के बारे में।

Dhanteras 2018 Shubh Muhurat For Shopping And Pujan Vidhi :

Dhanteras 2018: धनतेरस के दिन करें 5 रुपये वाले ये उपाय, होगा धन लाभ


आपको बता दें कि धनतेरस की शाम परिवार की मंगलकामना के लिए यम नाम का दीपक भी जलाया जाता है। इस दिन धातु जैसे बर्तन, सोना, चांदी खरीदना बहुत शुभ माना जाता है। जानिए क्यों मनाते हैं धनतेरस?

Dhanteras 2018: धनतेरस के दिन भूल से भी न खरीदें ये चीज, वरना साल भर रहेगी पैसों की कमी


इसलिए मनाया जाता है धनतेरस?

धनतेरस 2018: धनतेरस के दिन गुपचुप खरीदें ये सामान सालभर नहीं होगी पैसों की कमी


मान्यता है कि इस दिन समुद्र मंथन के दौरान, अमृत का कलश लेकर धनवंतरी प्रकट हुए थे। तभी से इस दिन को धनतेरस के रूप में मनाया जाने लगा, धार्मिक मान्यताओं के मुताबिक, धनवंतरी के प्रकट होने के ठीक दो दिन बाद मां लक्ष्मी प्रकट हुईं थीं। यही कारण है कि हर बार दिवाली से दो दिन पहले ही धनतेरस मनाया जाता है।

धनतेरस 2018 पूजा का शुभ मुहूर्त-

Dhanteras 2018: जाने कब है धनतेरस और क्या है पूजन का शुभ मुहूर्त

    • धनतेरस पूजा मुहूर्त- शाम 6.05 बजे से 8.01 बजे
    • अवधि- 1 घंटा 55 मिनट
    • प्रदोष काल- 5.29 PM से 8.07 PM
    • वृषभ काल- 6:05 PM से 8:01 PM
    • त्रयोदशी तिथि आरंभ- 5 नवंबर, 01:24 AM
  • त्रयोदशी तिथि खत्म- 5 नवंबर, 11.46 PM

Dhanteras 2018: इस धनतेरस पर मां लक्ष्मी को चढ़ाएं ये चीज, घर में होगी बरकत


धनतेरस पर खरीदारी का मुहूर्त क्या होगा?

  • धनतेरस पर खरीदारी के दो मुहूर्त विशेष शुभ होंगे
  • दोपहर 01.11 से 02.43 तक – कुम्भ लग्न
  • सायं 05.49 से 07.46 तक – वृष लग्न
  • प्रातः 07.30 से 09.00 तक खरीदारी न करें

धनतेरस के दिन क्या करें-

  • धनतेरस के दिन धन्वंतरि का पूजन करना चाहिए।
  • नवीन झाडू एवं सूपड़ा खरीदकर भी उनका पूजन करना चाहिए।
  • इस दिन सायंकाल दीपक प्रज्वलित कर घर, दुकान आदि को श्रृंगारित करना फलदायी साबित होता है।
  • इस दिन लोग मंदिर, गोशाला, नदी के घाट, कुओं, तालाब, बगीचों में भी दीपक लगाएं।
  • यथाशक्ति तांबे, पीतल, चांदी के गृह-उपयोगी नवीन बर्तन और जेवर खरीदना चाहिए।
  • हल जुती मिट्टी को दूध में भिगोकर उसमें सेमर की शाखा डालकर तीन बार अपने शरीर पर फेरें।
  • कार्तिक स्नान करके प्रदोष काल में घाट, गौशाला, बावड़ी, कुआँ, मंदिर आदि स्थानों पर तीन दिन तक दीपक जला

धनतेरस के दिन क्या जरूर खरीदें?

  • धातु का बर्तन, अगर पानी का बर्तन हो तो ज्यादा अच्छा होगा।
  • गणेश लक्ष्मी की मूर्तियां दोनों अलग-अलग होनी चाहिए।
  • खील बताशे और मिट्टी के दीपक, एक बड़ा दीपक भी जरूर खरीदें।
  • चाहें तो अंकों का बना हुआ धन का कोई यन्त्र भी खरीदें।
लखनऊ। कार्तिक कृष्ण त्रयोदशी के दिन धनतेरस का पर्व मनाया जाता है और इसी दिन से पांच पर्वों के त्योहार दिवाली की शुरुआत हो जाती है। यह तो सभी जानते हैं कि धनतेरस के दिन महालक्ष्मी के सचिव कुबेर का पूजन होता है और इनके पूजन से अपार धन की प्राप्ति का वरदान मिलता है। जानिए इस बार धनतेरस के दिन पूजन के शुभ मुहूर्त और विधि के बारे में। https://hindi.pardaphash.com/dhanteras-2018-5-rupees-totke-puja-tips/ आपको बता दें कि धनतेरस की शाम परिवार की मंगलकामना के लिए यम नाम का दीपक भी जलाया जाता है। इस दिन धातु जैसे बर्तन, सोना, चांदी खरीदना बहुत शुभ माना जाता है। जानिए क्यों मनाते हैं धनतेरस? https://hindi.pardaphash.com/dhanteras-2018-buying-these-things-on-dhanteras-can-bring-bad-luck-to-you/ इसलिए मनाया जाता है धनतेरस? https://hindi.pardaphash.com/buy-thes-auspicious-things-on-dhanteras/ मान्यता है कि इस दिन समुद्र मंथन के दौरान, अमृत का कलश लेकर धनवंतरी प्रकट हुए थे। तभी से इस दिन को धनतेरस के रूप में मनाया जाने लगा, धार्मिक मान्यताओं के मुताबिक, धनवंतरी के प्रकट होने के ठीक दो दिन बाद मां लक्ष्मी प्रकट हुईं थीं। यही कारण है कि हर बार दिवाली से दो दिन पहले ही धनतेरस मनाया जाता है।धनतेरस 2018 पूजा का शुभ मुहूर्त- https://hindi.pardaphash.com/dhanteras-2018-date-time-puja-vidhi/
    • धनतेरस पूजा मुहूर्त- शाम 6.05 बजे से 8.01 बजे
    • अवधि- 1 घंटा 55 मिनट
    • प्रदोष काल- 5.29 PM से 8.07 PM
    • वृषभ काल- 6:05 PM से 8:01 PM
    • त्रयोदशी तिथि आरंभ- 5 नवंबर, 01:24 AM
  • त्रयोदशी तिथि खत्म- 5 नवंबर, 11.46 PM
https://hindi.pardaphash.com/dhanteras-2018-dhanteras-totke-for-money/ धनतेरस पर खरीदारी का मुहूर्त क्या होगा?
  • धनतेरस पर खरीदारी के दो मुहूर्त विशेष शुभ होंगे
  • दोपहर 01.11 से 02.43 तक - कुम्भ लग्न
  • सायं 05.49 से 07.46 तक - वृष लग्न
  • प्रातः 07.30 से 09.00 तक खरीदारी न करें
धनतेरस के दिन क्या करें-
  • धनतेरस के दिन धन्वंतरि का पूजन करना चाहिए।
  • नवीन झाडू एवं सूपड़ा खरीदकर भी उनका पूजन करना चाहिए।
  • इस दिन सायंकाल दीपक प्रज्वलित कर घर, दुकान आदि को श्रृंगारित करना फलदायी साबित होता है।
  • इस दिन लोग मंदिर, गोशाला, नदी के घाट, कुओं, तालाब, बगीचों में भी दीपक लगाएं।
  • यथाशक्ति तांबे, पीतल, चांदी के गृह-उपयोगी नवीन बर्तन और जेवर खरीदना चाहिए।
  • हल जुती मिट्टी को दूध में भिगोकर उसमें सेमर की शाखा डालकर तीन बार अपने शरीर पर फेरें।
  • कार्तिक स्नान करके प्रदोष काल में घाट, गौशाला, बावड़ी, कुआँ, मंदिर आदि स्थानों पर तीन दिन तक दीपक जला
धनतेरस के दिन क्या जरूर खरीदें?
  • धातु का बर्तन, अगर पानी का बर्तन हो तो ज्यादा अच्छा होगा।
  • गणेश लक्ष्मी की मूर्तियां दोनों अलग-अलग होनी चाहिए।
  • खील बताशे और मिट्टी के दीपक, एक बड़ा दीपक भी जरूर खरीदें।
  • चाहें तो अंकों का बना हुआ धन का कोई यन्त्र भी खरीदें।