धनतेरस 2017: पूजा में गलती से भी ना करें ये गलती, रखें सावधानी

12_1028_101517011250_1508201783_618x347

Dhanteras Dos And Do Nots Significance

धनतेरस, कार्तिक कृष्ण त्रयोदशी को मनाया जाता है. माना जाता है इसी दिन समुद्र मंथन के दौरान, अमृत का कलश लेकर धन्वन्तरी प्रकट हुए थे.

स्वास्थ्य रक्षा और आरोग्य के लिए इस दिन धन्वन्तरी देव की उपासना की जाती है. इस दिन को कुबेर का दिन भी माना जाता है और धन सम्पन्नता के लिए कुबेर की पूजा की जाती है.

इस दिन लोग मूल्यवान धातुओं का और नए बर्तनों व आभूषणों का क्रय करते हैं और उन्ही बर्तनों तथा मूर्तियों आदि से दीपावली की मुख्य पूजा की जाती है.

धनतेरस के दिन किन खास बातों का ख्याल रखें और कौन सी गलतियां करने से बचें…

सारी सफाई के कार्यक्रम धनतेरस के पूर्व निपटा लें, धनतेरस के दिन तक सफाई जारी न रखें.

अगर आप धनतेरस पर सिर्फ कुबेर की पूजा करने वाले हैं तो ये गलती ना करें. आज धन्वन्तरी देवता की उपासना भी जरूरी है.अन्‍यथा पूरे साल बीमार रहेंगे.  इस दिन शीशे के बर्तन ना खरीदें.

अगर आप ये सोच रहे हैं दीपावली के लिए शॉपिंग बाद में करेंगे तो फिर एक गलती करने वाले हैं. गणेश-लक्ष्मी की मूर्तियां और अन्य पूजन सामग्री भी इसी दिन क्रय करें. क्‍योंकि दिवाली के दिन आज खरीदी गई लक्ष्‍मी गणेश की मूर्ति की ही पूजा होती है.

भूलकर भ्‍ाी धनतेरस के दिन लोहा ना खरीदें. घर में लक्ष्‍मी जी का नहीं, दरिद्रता का वास हो जाएगा.

धनतेरस के दिन क्या जरूर खरीदें…

1. धातु का बर्तन खरीदना सबसे शुभकारी होता है. अगर पानी का बर्तन हो तो ज्यादा अच्छा होगा.

2. गणेश लक्ष्मी की मूर्तियां, दोनों अलग-अलग होनी चाहिए.

3. खील बताशे और मिट्टी के दीपक, एक बड़ा दीपक भी जरूर खरीदें.

4. चाहें तो लक्ष्मी और श्री यन्त्र भी खरीद सकते हैं. इसकी पूजा धनतेरस के दिन कर सकते हैं

धनतेरस, कार्तिक कृष्ण त्रयोदशी को मनाया जाता है. माना जाता है इसी दिन समुद्र मंथन के दौरान, अमृत का कलश लेकर धन्वन्तरी प्रकट हुए थे. स्वास्थ्य रक्षा और आरोग्य के लिए इस दिन धन्वन्तरी देव की उपासना की जाती है. इस दिन को कुबेर का दिन भी माना जाता है और धन सम्पन्नता के लिए कुबेर की पूजा की जाती है. इस दिन लोग मूल्यवान धातुओं का और नए बर्तनों व आभूषणों का क्रय करते हैं और उन्ही बर्तनों तथा…