1. हिन्दी समाचार
  2. उत्तर प्रदेश
  3. अयोध्या में दिव्य राम मंदिर के विग्रह की किस प्रकार हो प्रतिष्ठा, इस पर जल्द फैसला लेंगे देशभर के धर्माचार्य

अयोध्या में दिव्य राम मंदिर के विग्रह की किस प्रकार हो प्रतिष्ठा, इस पर जल्द फैसला लेंगे देशभर के धर्माचार्य

जल्द ही वो समय हम सबके सामने आयेगा जब रामजन्मभूमि में विराजमान रामलला के निर्माणाधीन दिव्य मंदिर में विग्रह कर प्रतिष्ठा किस प्रकार होगी इस मुद्दे पर फैसला लिया जायेगा। राम मंदिर निर्माण शुरू होने के बाद यह पहला अवसर आया है जब चतु: सम्प्रदाय से जुड़े देश भर के मूर्धन्य धर्माचार्य एक मंच पर एकत्र होंगे।

By प्रिन्स राज 
Updated Date

अयोध्या। जल्द ही वो समय हम सबके सामने आयेगा जब रामजन्मभूमि में विराजमान रामलला के निर्माणाधीन दिव्य मंदिर में विग्रह कर प्रतिष्ठा किस प्रकार होगी इस मुद्दे पर फैसला लिया जायेगा। राम मंदिर निर्माण शुरू होने के बाद यह पहला अवसर आया है जब चतु: सम्प्रदाय से जुड़े देश भर के मूर्धन्य धर्माचार्य एक मंच पर एकत्र होंगे। यह मौका श्रीराम जन्मभूमि तीर्थ क्षेत्र ट्रस्ट अध्यक्ष महंत नृत्यगोपाल दास महाराज के जन्मोत्सव के दौरान 12 जून को आयोजित संत सम्मेलन के जरिए मिलेगा।

पढ़ें :- Yogi Sarkar 2.0 100 days: 'सेवा, सुरक्षा और सुशासन' के 100 दिन, सीएम योगी ने पेश किया रिपोर्ट कार्ड

बता दें कि श्रीरामजन्मभूमि तीर्थ क्षेत्र ट्रस्ट के अध्यक्ष महंत श्रीदास के जन्मोत्सव समारोह का आमंत्रण भारत सरकार के केन्द्रीय रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह व केन्द्रीय सड़क परिवहन मंत्री नितिन गडकरी सहित कई अन्य मंत्रियों और मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ के अलावा उपमुख्यमंत्री ब्रजेश पाठक व केशव प्रसाद मौर्य समेत अन्य को भेजा जा चुका है। यह जानकारी मणिराम छावनी के उत्तराधिकारी महंत कमलनयन दास ने देते हुए बताया कि समारोह में सम्मिलित होने की सहमति कई लोगों ने दे दी है। इनमें राजनीतिज्ञों के अलावा प्रमुख रूप से मंदिर आंदोलन से जुड़े देश भर के धर्माचार्य है।

इन टॉपिक्स पर और पढ़ें:
Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक, यूट्यूब और ट्विटर पर फॉलो करे...