महिलाओं को छेड़खानी से बचाएगा ये मोबाइल ऐप, 2 लाख से ज्यादा बार हुआ डाउनलोड

महिलाओं को छेड़खानी से बचाएगा ये मोबाइल ऐप, 2 लाख से ज्यादा बार हुआ डाउनलोड
महिलाओं को छेड़खानी से बचाएगा ये मोबाइल ऐप, 2 लाख से ज्यादा बार हुआ डाउनलोड

महिलाओं की सुरक्षा के लिए तमाम प्रयासों के बाद भी आयदिन छेड़खानी की खबरें आती रहती हैं। ऐसे में टोक्यो पुलिस ने महिलाओं के साथ होने वाली घटनाओं को रोकने के लिए एक नया ऐप लॉन्च किया है। इस ऐप के लॉंच होने के बाद से ये मोबाइल ऐप जापान में काफी लोकप्रिय हो रहा है इसके साथ ही महिलाओं के साथ छेड़खानी करने वाले मनचलों में डर भी पैदा हो रहा है।

Digi Police Application To Prevent Woman From Molestation :

जाने कैसे काम करता है ‘डिजी पुलिस ऐप’

इस ऐप को जापानी महिलाएं काफी इस्तेमाल कर रही हैं। इतने कम समय में ही इस ऐप को 2 लाख से अधिक बार इसे डाउनलोड किया गया है। बता दें कि महिलाओं की सुरक्षा के लिए तैयार किए गए इस एप्लिकेशन का नाम ‘डिजी पुलिस ऐप’ है और इसे इस्तेमाल करना बेहद ही आसान है। जब यह एप्लिकेशन आपके मोबाइल में एक्टिवेट हो जाएगी तो जोर से चिल्लाएगी ‘Stop it’ मतलब ‘इसे रोकें’ या इसके साथ ही एक इमरजेंसी मैसेज फोन की फुल-स्क्रीन पर आएगा जो पीड़ित दूसरों को दिखा सकते हैं। इस इमरजेंसी मैसेज में लिखा है, ‘मोलेस्टर है। कृपया मदद करें।’

टोक्यो पुलिस के एक अधिकारी से पता चला कि, ‘इस ऐप्लिकेशन को 2.37 लाख से ज्यादा महिलाओं द्वारा डाउनलोड किया जा चुका है जो किसी भी पब्लिक सर्विस ऐप्लिकेशन के हिसाब से एक बड़ा आंकड़ा है। ये आंकड़ा हर महीने 10 हजार से भी ज्यादा की रफ्तार से बढ़ रहा है।’

इस ऐप से उन महिलाओं को खास फायदा होगा जो आमतौर पर छेड़खानी की शिकायत के बारे में खुलासा करने से घबराती हैं। इस ऐप के द्वारा भेजे गए इमरजेंसी मैसेज से महिलाओं को दूसरे लोगों से सहायता लेने में मदद मिलेगी और चुपचाप रहते हुए भी महिलाओं की सुरक्षा हो सकेगी।’ इस ऐप के बारे में विशेषज्ञों का मानना है कि ये ऐप महिलाओं के साथ होने वाले क्राइम को रोकने के लिए जबरदस्त भूमिका निभा सकता है।

महिलाओं की सुरक्षा के लिए तमाम प्रयासों के बाद भी आयदिन छेड़खानी की खबरें आती रहती हैं। ऐसे में टोक्यो पुलिस ने महिलाओं के साथ होने वाली घटनाओं को रोकने के लिए एक नया ऐप लॉन्च किया है। इस ऐप के लॉंच होने के बाद से ये मोबाइल ऐप जापान में काफी लोकप्रिय हो रहा है इसके साथ ही महिलाओं के साथ छेड़खानी करने वाले मनचलों में डर भी पैदा हो रहा है। जाने कैसे काम करता है 'डिजी पुलिस ऐप' इस ऐप को जापानी महिलाएं काफी इस्तेमाल कर रही हैं। इतने कम समय में ही इस ऐप को 2 लाख से अधिक बार इसे डाउनलोड किया गया है। बता दें कि महिलाओं की सुरक्षा के लिए तैयार किए गए इस एप्लिकेशन का नाम 'डिजी पुलिस ऐप' है और इसे इस्तेमाल करना बेहद ही आसान है। जब यह एप्लिकेशन आपके मोबाइल में एक्टिवेट हो जाएगी तो जोर से चिल्लाएगी 'Stop it' मतलब 'इसे रोकें' या इसके साथ ही एक इमरजेंसी मैसेज फोन की फुल-स्क्रीन पर आएगा जो पीड़ित दूसरों को दिखा सकते हैं। इस इमरजेंसी मैसेज में लिखा है, 'मोलेस्टर है। कृपया मदद करें।' टोक्यो पुलिस के एक अधिकारी से पता चला कि, 'इस ऐप्लिकेशन को 2.37 लाख से ज्यादा महिलाओं द्वारा डाउनलोड किया जा चुका है जो किसी भी पब्लिक सर्विस ऐप्लिकेशन के हिसाब से एक बड़ा आंकड़ा है। ये आंकड़ा हर महीने 10 हजार से भी ज्यादा की रफ्तार से बढ़ रहा है।' इस ऐप से उन महिलाओं को खास फायदा होगा जो आमतौर पर छेड़खानी की शिकायत के बारे में खुलासा करने से घबराती हैं। इस ऐप के द्वारा भेजे गए इमरजेंसी मैसेज से महिलाओं को दूसरे लोगों से सहायता लेने में मदद मिलेगी और चुपचाप रहते हुए भी महिलाओं की सुरक्षा हो सकेगी।' इस ऐप के बारे में विशेषज्ञों का मानना है कि ये ऐप महिलाओं के साथ होने वाले क्राइम को रोकने के लिए जबरदस्त भूमिका निभा सकता है।