केन्द्र सरकार की प्रत्यक्ष कर बसूली में 18.2 प्रतिशत का उछाल

अरुण जेटली
अरुण जेटली

नई दिल्ली। जारी वित्तीय वर्ष 2017—18 में केन्द्र सरकार के खातों में प्रत्यक्ष कर के माध्यम से पहुंचने वाली राशि में 18.2 प्रतिशत का उछाल दर्ज हुआ है। एक रिपोर्ट के मुताबिक अप्रैल से दिसंबर के बीच 6.56 लाख करोड़ रुपए का राजस्व आयकर और कार्पोरेट कर के रूप में जमा हुआ है।

Direct Tax Collection Grown With Rate Of 18 2 Percent In Running Financial Year :

एक बिजनेस मैग्जीन की रिपोर्ट के मुताबिक सरकार को साल 2017 में अप्रैल से लेकर दिसंबर के बीच 7.68 लाख करोड़ रुपए का कुल राजस्व प्राप्त हुआ है। जिसमें से 1.12 लाख करोड़ रुपए करदाताओं को वापस लौटाए जा चुके हैं। गतवर्ष में समान समायावधि से तुलना करने पर यह राजस्व 18.2 प्रतिशत अधिक है। प्रत्यक्ष कर में सकल बसूली में बढ़ोत्तरी की दर 12.6 प्रतिशत आंकी गई है।

राजस्व बसूली में हुई बढ़ोत्तरी को केन्द्र सरकार एक उपलब्धी के रूप में देख रही है। सरकार को उम्मीद है कि साल 2018 में जनवरी से मार्च के बीच प्रत्यक्ष कर से होने वाली कमाई मिलाकर सरकार को वित्तीय वर्ष 2017—18 के लिए 9.80 लाख करोड़ रूपए हो जाएगी। दिसंबर तक सरकार अपने अनुमानित राजस्व बसूली का 67 फीसदी आंकड़ा छू चुकी हैै।

नई दिल्ली। जारी वित्तीय वर्ष 2017—18 में केन्द्र सरकार के खातों में प्रत्यक्ष कर के माध्यम से पहुंचने वाली राशि में 18.2 प्रतिशत का उछाल दर्ज हुआ है। एक रिपोर्ट के मुताबिक अप्रैल से दिसंबर के बीच 6.56 लाख करोड़ रुपए का राजस्व आयकर और कार्पोरेट कर के रूप में जमा हुआ है।एक बिजनेस मैग्जीन की रिपोर्ट के मुताबिक सरकार को साल 2017 में अप्रैल से लेकर दिसंबर के बीच 7.68 लाख करोड़ रुपए का कुल राजस्व प्राप्त हुआ है। जिसमें से 1.12 लाख करोड़ रुपए करदाताओं को वापस लौटाए जा चुके हैं। गतवर्ष में समान समायावधि से तुलना करने पर यह राजस्व 18.2 प्रतिशत अधिक है। प्रत्यक्ष कर में सकल बसूली में बढ़ोत्तरी की दर 12.6 प्रतिशत आंकी गई है।राजस्व बसूली में हुई बढ़ोत्तरी को केन्द्र सरकार एक उपलब्धी के रूप में देख रही है। सरकार को उम्मीद है कि साल 2018 में जनवरी से मार्च के बीच प्रत्यक्ष कर से होने वाली कमाई मिलाकर सरकार को वित्तीय वर्ष 2017—18 के लिए 9.80 लाख करोड़ रूपए हो जाएगी। दिसंबर तक सरकार अपने अनुमानित राजस्व बसूली का 67 फीसदी आंकड़ा छू चुकी हैै।