तीन तलाक बिल पर सुनवाई आज, कांग्रेस के रूख पर रहेगी नजर

triple talaaq discussion
तीन तलाक बिल पर सुनवाई आज, कांग्रेस के रूख पर रहेगी नजर

नई दिल्ली। लोकसभा में आज एक बार में तीन तलाक पर रोक लगाने वाले मुस्लिम महिला विवाह अधिकार संरक्षण विधेयक-2018 विधेयक पर चर्चा होगी। बता दें कि इस विधेयक के पेश होने के बाद इस पर सुनवाई के लिए 27 दिसंबर की तारीख तय हुई थी। अब केंद्र सरकार के लिए यह बिल नाक की लड़ाई बन चुका है क्योंकि सरकार इसके लिए पहले ही अध्यादेश ला चुकी है और एक बार यह बिल पारित भी हो चुका है। हालाकि राज्यसभा ने इस बिल को बगैर पारित किए वापस लौटा दिया था।

Discussion On Triple Talaq Bill In Loksabha :

बता दें कि कानून मंत्री रविशंकर प्रसाद बीते हफ्ते इस विधेयक को लोकसभा से चर्चा कर पारित कराना चाहते थे लेकिन कांग्रेस समेत अन्य विपक्षी दलों के विरोध के चलते ऐसा नहीं हो सका। बाद में स्पीकर सुमित्रा महाजन और कांग्रेस की सहमति के बाद इस बिल पर चर्चा के लिए गुरुवार का दिन तय किया गया था।

संसदीय कार्य मंत्री नरेंद्र सिंह तोमर ने विपक्ष से आश्वासन मांगा कि उस दिन बिना किसी बाधा के चर्चा होने दी जाएगी। इस पर उन्होने कह कि मैं आपसे अनुरोध करता हूं कि इस विधेयक पर 27 दिसंबर को चर्चा कराइए और हम लोग इस में हिस्सा लेंगे।

नई दिल्ली। लोकसभा में आज एक बार में तीन तलाक पर रोक लगाने वाले मुस्लिम महिला विवाह अधिकार संरक्षण विधेयक-2018 विधेयक पर चर्चा होगी। बता दें कि इस विधेयक के पेश होने के बाद इस पर सुनवाई के लिए 27 दिसंबर की तारीख तय हुई थी। अब केंद्र सरकार के लिए यह बिल नाक की लड़ाई बन चुका है क्योंकि सरकार इसके लिए पहले ही अध्यादेश ला चुकी है और एक बार यह बिल पारित भी हो चुका है। हालाकि राज्यसभा ने इस बिल को बगैर पारित किए वापस लौटा दिया था।बता दें कि कानून मंत्री रविशंकर प्रसाद बीते हफ्ते इस विधेयक को लोकसभा से चर्चा कर पारित कराना चाहते थे लेकिन कांग्रेस समेत अन्य विपक्षी दलों के विरोध के चलते ऐसा नहीं हो सका। बाद में स्पीकर सुमित्रा महाजन और कांग्रेस की सहमति के बाद इस बिल पर चर्चा के लिए गुरुवार का दिन तय किया गया था।संसदीय कार्य मंत्री नरेंद्र सिंह तोमर ने विपक्ष से आश्वासन मांगा कि उस दिन बिना किसी बाधा के चर्चा होने दी जाएगी। इस पर उन्होने कह कि मैं आपसे अनुरोध करता हूं कि इस विधेयक पर 27 दिसंबर को चर्चा कराइए और हम लोग इस में हिस्सा लेंगे।