हरियाणा के CM खट्टर का विवादित बयान- नही होनी चाहिए एक ही गोत्र में शादी

Manohar Lal Khattar
हरियाणा के BJP सीएम खट्टर का विवादित बयान- नही होनी चाहिए एक ही गोत्र में शादी

चंडीगढ़। हरियाणा में लगातार दूसरी बार बीजेपी सत्ता में आयी है ओर एकबार फिर से बीजेपी ने मनोहर लाल खट्टर को ही हरियाणा का सीएम बनाया है। अक्सर खट्टर अपने विवादित बयानो के चक्कर में चर्चा में बने रहते हैं। एक बार फिर उन्होने विवादित बयान देते हुए कहा कि एक ही गांव में सगोत्र विवाह करना गलत है। उन्होने कहा कि खाप पंचायत को बेवजह बदनाम किया जा रहा, अब तो विज्ञान ने भी इसे सिद्ध कर दिया है।

Disputed Statement Of Bjp Cm Khattar Of Haryana Should Not Be Married In The Same Gotra :

हरियाणा की खाप पंचायत अक्सर अपने फरमानो को लेकर सुर्खियों में बनी रहती है, ये पंचायत एक ही गोत्र में शादी का विरोध करती है जिसको लेकर हाल ही में कुछ सामाजिक संगठनो ने खाप पंचायत की आलोचना की थी। उन्होने कहा कि हरियाणा बहुत चीजों की मान्यता को आज भी मानता है, हालांकि संवैधानिक तौर पर टकराव जरूर दिखता है लेकिन उसके ऊपर जन-जागरण हमको करना पड़ेगा। आज हमारे यहां खाप पंचायत को बदनाम किया गया। उन्होंने साफ तौर पर कहा कि एक गांव के अंदर सगोत्र विवाह (समान गोत्र में शादी) नहीं होना चाहिए।

खट्टर ने आगे कहा कि ये वैज्ञानिक अधार पर भी सिद्ध हो गया है कि एक ही गांव और एक गोत्र में शादी नही होनी चाहिए। उन्होने गांव के गांव में शादी न करने का अर्थ ये है कि गांव के अंदर बच्चों में ये शिक्षा दी जाती है कि भाई-बहन का भाईचारा बना रहे। उन्होने गुजरात की परंपरा की तारीफ करते हुए कहा कि गुजरात एक ऐसा राज्य है, उस स्टेट में हर लड़की और महिला, उसके नाम के आगे क्या लगता है, बहन लगता है और हर पुरुष और लड़के के नाम के आगे भाई लगता है। इसका अर्थ क्या है, उन्होंने अपनी एक सामाजिक परंपरा बना रखी है।

आपको बता दें कि हरियाणा की पंचायत के फरमान बि​ल्कुल अलग होते हैं और वहां के लोग पंचायत के फैसले का स्वागत भी करते हैं। हरियाणा के सांगवान की खाप पंचायत तब सुर्खियों में आ गई थी जब खुले में शराब पीने और डीजे बजाने पर रोक लगाई थी। इतना ही नहीं, इस खाप पंचायत ने शादी और अन्य कार्यक्रमों में खुलेआम फायरिंग पर भी रोक लगा दी थी। खाप के फैसलों का गैर सरकारी संगठन विरोध कर चुके हैं।

चंडीगढ़। हरियाणा में लगातार दूसरी बार बीजेपी सत्ता में आयी है ओर एकबार फिर से बीजेपी ने मनोहर लाल खट्टर को ही हरियाणा का सीएम बनाया है। अक्सर खट्टर अपने विवादित बयानो के चक्कर में चर्चा में बने रहते हैं। एक बार फिर उन्होने विवादित बयान देते हुए कहा कि एक ही गांव में सगोत्र विवाह करना गलत है। उन्होने कहा कि खाप पंचायत को बेवजह बदनाम किया जा रहा, अब तो विज्ञान ने भी इसे सिद्ध कर दिया है। हरियाणा की खाप पंचायत अक्सर अपने फरमानो को लेकर सुर्खियों में बनी रहती है, ये पंचायत एक ही गोत्र में शादी का विरोध करती है जिसको लेकर हाल ही में कुछ सामाजिक संगठनो ने खाप पंचायत की आलोचना की थी। उन्होने कहा कि हरियाणा बहुत चीजों की मान्यता को आज भी मानता है, हालांकि संवैधानिक तौर पर टकराव जरूर दिखता है लेकिन उसके ऊपर जन-जागरण हमको करना पड़ेगा। आज हमारे यहां खाप पंचायत को बदनाम किया गया। उन्होंने साफ तौर पर कहा कि एक गांव के अंदर सगोत्र विवाह (समान गोत्र में शादी) नहीं होना चाहिए। खट्टर ने आगे कहा कि ये वैज्ञानिक अधार पर भी सिद्ध हो गया है कि एक ही गांव और एक गोत्र में शादी नही होनी चाहिए। उन्होने गांव के गांव में शादी न करने का अर्थ ये है कि गांव के अंदर बच्चों में ये शिक्षा दी जाती है कि भाई-बहन का भाईचारा बना रहे। उन्होने गुजरात की परंपरा की तारीफ करते हुए कहा कि गुजरात एक ऐसा राज्य है, उस स्टेट में हर लड़की और महिला, उसके नाम के आगे क्या लगता है, बहन लगता है और हर पुरुष और लड़के के नाम के आगे भाई लगता है। इसका अर्थ क्या है, उन्होंने अपनी एक सामाजिक परंपरा बना रखी है। आपको बता दें कि हरियाणा की पंचायत के फरमान बि​ल्कुल अलग होते हैं और वहां के लोग पंचायत के फैसले का स्वागत भी करते हैं। हरियाणा के सांगवान की खाप पंचायत तब सुर्खियों में आ गई थी जब खुले में शराब पीने और डीजे बजाने पर रोक लगाई थी। इतना ही नहीं, इस खाप पंचायत ने शादी और अन्य कार्यक्रमों में खुलेआम फायरिंग पर भी रोक लगा दी थी। खाप के फैसलों का गैर सरकारी संगठन विरोध कर चुके हैं।