यूपी में दिव्यांग किशोरी के साथ की सामूहिक बलात्कार

लखनऊ। उत्तर प्रदेश में अपराधियों के हौसले कम होने का नाम नहीं ले रहे हैं, तो दूसरी ओर यूपी की पुलिस है जो जागना नहीं चाह रही। जिसके परिणामस्वरूप कुछ ऐसी वारदातें सामने आतीं हैं जो सूबे की जनता के जहन में असुरक्षा की भावना जगा देतीं हैं। ताजा घटना हरदोई जिले की है जहां के शाहाबाद थाना क्षेत्र में बनी कांशीराम कालोनी में एक दिव्यांग किशोरी को पड़ोस में रहने वाले दो युवकों ने अपनी हवस का शिकार बना लिया। मामला पुलिस के पास गया तो पीड़ित परिवार को दो दिन तक थाने के चक्कर कटवाने के बाद मीडिया के दवाब में प्राथमिकी दर्ज हो सकी। पुलिस की लेट लतीफी से घटना में आरोपी बनाया गया एक युवक फरार हो चुका है।




सूत्रों की माने तो बुधवार को शाहाबाद थाना क्षेत्र स्थि​त कांशीराम कालोनी निवासी एक दिहाड़ी मजदूर महिला अपनी दिव्यांग बेटी को घर छोड़ कोल्ड स्टोरेज में मजदूरी करने गई थी। मौके का फायदा उठाते हुए कालोनी के ही दो युवकों ने घर में अकेली मूक वधिर किशोरी को अपनी खराब नियत का शिकार बनाकर छोड़ दिया। मां के घर आने पर जब किशोरी ने आप बीती बयां की तो वह अपनी बेटी को लेकर थाने पहुंची। पुलिस में मामले में टाल मटोल कर दोनों को बैरंग वापस लौटा दिया।




पुलिस की निष्क्रियता के बीच मामला मीडिया की जानकारी में आया तो कुछ मीडिया कर्मी पीड़ित परिवार को लेकर थाने पहुंचा और तीसरे दिन मामला दर्ज करवाया गया। मीडिया के हस्तक्षेप के बाद पुलिस ने घटना स्थल की जांच कर एक आरोपी को गिरफ्तार कर लिया है जबकि दूसरा आरोपी फरार हो गया।

हरदोई की कानून व्यवस्था इस तरह से ध्वस्त हो चुकी है कि यहां पुलिस के अपने वाहन तक सुरक्षित नहीं हैं। कुछ दिन पहले वाहन चोरों ने एसपी साहब की जीप उनके घर के बाहर से ही गायब कर दी। इस घटना के बाद पूरे सूबे में हरदोई पुलिस की थू—थू हुई लेकिन इसके बावजूद हरदोई पुलिस की नींद है जो टूटने का नाम नहीं ले रही।

Loading...