दिवाली पर इन बातों का रखें विशेष ध्यान

नई दिल्ली: हर साल भारतीय पंचांग के अनुसार कार्तिक मास की अमावस्या के दिन दीपावली के रूप में पूरे देश में बडी धूम-धाम से मनाया जाता हैं। इस वर्ष दिपावली 30 अक्टूबर को मनाई जायेगी| दीपावली की रात्रि को महालक्ष्मी की कृपा जिस व्यक्ति या परिवार पर पड़ जाती है उसे कभी धन का अभाव नहीं होता है और उसके घर में हमेशा सुख-समृद्धि रहती है| दीपावली के शुभ अवसर पर महालक्ष्मी को प्रसन्न करने के लिये कुछ पूजा-आराधना इस प्रकार से करनी चाहिये कि पूरे वर्ष धन-धान्य में वृद्धि होकर सुख-समृद्धि बनी रहे और निरन्तर मां लक्ष्मी की कृपा बनी रहे।




दीपावली के दिन हर व्यक्ति अपने घर को सामर्थ्य के अनुसार खूब सजाना चाहता है ताकि धन की देवी माता लक्ष्मी उससे प्रसन्न होकर उसके घर में प्रवेश करें| लेकिन कई बार होता क्या है कि लोग घर को ज्यादा सुंदर बनाने के चक्कर में ऐसी गलतियां कर बैठते हैं कि वास्तु के विपरीत स्थितियां बन जाती हैं इसलिए घर को सजाते समय वास्तु का ध्यान भी जरूर रखें।




सबसे पहले यदि आप अपने घर में कबाड़ इकठ्ठा कर रहे हैं तो उसे फ़ौरन निकल दें क्योंकि ऐसा करने से दरिद्रता तो आती ही है साथ ही वास्तुदोष भी बढ़ता है| इसके अलावा यह भी ध्यान रहे कि घर सजा लेने से ही कुछ नहीं होता है घर व छत पर कहीं भी दीपवली के दिन कूड़ा इकठ्ठा न करें|

इसके अलावा जिन लोगों के घर का मुख्य द्वार दक्षिण दिशा की ओर है उन्हें मुख्य द्वार पर पिरामिड या लक्ष्मी गणेश की तस्वीर लगानी चाहिए। आपके घर का मुख्य द्वार पूर्व दिशा या उत्तर दिशा की ओर है तो उत्तर पू्र्व दिशा को विशेष रूप से सजाएं। इसके अलावा घर के खिड़की व दरवाजों पर पहले सरसों का तेल लगाएं उसके बाद उस पर स्वास्तिक बनायें और शुभ लाभ लिखें|