डीएम ने विकास कार्याे की मासिक बैठक में स्टाफ को दिशा निर्देश दिये

बिजनौर। जिला अधिकारी जगतराज ने विकास कार्याे की मासिक स्टाफ बैठक की समीक्षा के दौरान निर्देश दिये कि शासन द्वारा आवंटित विभागीय लक्ष्यापूर्ति, वसूली के लक्ष्य तथा वादों का निस्तारण पूर्ण गुणवत्ता और निर्धारित समय में पूरा करना सुनिश्चित करें। उन्होंने यह भी निर्देश दिये कि सभी कार्यालयाध्यक्ष अपने-अपने कार्यालयों में बॉयोमेट्रिक मशीन स्थापित कराना सुनिश्चित करें ताकि अधिकारियों एवं कर्मचारियों की कार्यालयों में ससमय उपस्थिति सुनिश्चित की जा सके। उन्होंने निर्देश देते हुए कहा कि सभी अधिकारी अपने कार्यालयों में भ्रमण पंजिका रखना सुनिश्चित करें और क्षेत्रीय कार्य के लिए बाहर जाने पर उसमें नियमित रूप से इंदाराज करें। उन्होंने सभी उप जिलाधिकारियों को निर्देश दिये कि सप्ताह में कम से कम एक बार अपने क्षेत्र में स्थापित गेहूं खरीद केन्द्रों का निरीक्षण जरूर करें और तहसील मुख्यालय पर डिजी धन योजना का व्यापक प्रचार प्रसार करते हुए जनसामान्य की भागीदारी बढ़ायें और उन्हें केशलेस व्यवस्था को अपनाने के लिए प्रेरित करें।




जिलाधिकारी जगतराज आज शाम कलैक्ट्रेट के सभागार में आयोजित मासिक स्टाफ बैठक की समीक्षा करते हुए उपस्थित अधिकारियों एवं कर्मचारियों को निर्देशित कर रहे थे। उन्होंने बताया कि तेजाब से संबंधित अपराधिक घटनाओं में होने वाली वृद्वि चिंताजनक है, जिसके सम्बन्ध में शासन गंभीर है। उन्होंने शासनादेश के हवाले से जानकारी देते हुए बताया कि तेजाब विक्रता द्वारा एक रजिस्टर रखा जागएा जिसमें क्रय करने वाले व्यक्ति को पूरा विवरण, उसका नाम, पता एंव क्रय करने की मात्रा एवं प्रयोजन का उल्लेख करना अनिवार्य होगा। उन्होंने सभी तेजाब विक्रेताओं को कड़े निर्देश दिये कि क्रय करने वाले व्यक्ति का उक्त विवरण प्राप्त किये बिना किसी भी दशा में तेजाब का विक्रय न किया जाए और न ही 18 वर्ष से कम आयु वाले किसी भी युवा को तेजाब बेचा जाए।

उन्होंने यह भी निर्देश दिये कि सभी तेजाब विक्रेता 15 दिन के भीतर तेजाब के स्टॉक की रिपोर्ट संबंधित उप जिलाधिकारी के समक्ष अनिवार्य रूप से प्रस्तुत करना सुनिश्चित करें, अन्यथा उनका पूरा स्टॉक जब्त कर लिया जाएगा। उन्होंने सभी उप जिला अधिकारियों को निर्देश दिये कि तेजाब विक्रेताओं द्वारा किसी भी निर्देश का उल्लंघन किए जाने की दशा में निर्धारित 50 हजार रूपये का जुर्माना आरोपित करें और तेजाब के भण्डारण एवं बिक्री को नियंत्रित करनके तथा उसके दुरूपयोग को रोकने तथा अपराधिक कृत्यों में तेजाब के स्टॉक को कठोरता के साथ प्रतिबन्धित कराने के लिए अनुज्ञप्ति नियमावली 2014 की शर्ताे का शत प्रतिशत क्रियान्वयन कराना सुनिश्चित करें।

उन्होंने कहा कि शासन विकास के प्रति गम्भीर और संवेदनशील है तथा विकास शासन की सर्वाेच्च प्राथमिकताओं में से है और प्रदेश को विकसित प्रदेश की श्रेणी में लाने के लिए कटिबद्व है। अतः कोई भी अधिकारी विभागीय लक्ष्य के सापेक्ष लापरवाही न करें और सभी कार्याे को पूर्ण गुणवत्ता के साथ निर्धारित समय सीमा में पूरा करना सुनिश्चित करें। उन्होनें सभी विभागीय अधिकारियों को निर्देश दिये कि प्राप्त शिकायतों का निस्तारण पूर्ण गुणवत्ता और निर्धारित समय के भीतर करें और साथ ही निर्धारित समय में पत्रावलियों का भी निराकरण समयपूर्वक करें ताकि आम जन को राहत का अहसास हो सके।




उन्होंने जानकारी देते हुए बताया कि गेहूं क्रय केन्द गेहूं की उतराई एवं सफाई का खर्च किसानों ने नहीं लिया जाएगा, इसके साथ ही लघु एवं सीमांत कृषकों को अपना गेहूं बेचने क लिए केन्द पर सप्ताह में 02 दिन सोमवार एवं बृहस्पतिवार निर्धारित किये गये हैं। उन्हेांने यह भी बताया कि गेहूं खरीद से संबंधित शिकायत के लिए केन्द्र प्रभारियों के मोबाईल नम्बर एवं टोल फी नम्बर 18001800150 अंकित किये गये हैं तथा अपर जिलाधिकारी प्रशासन के मोबाईल नम्बर 9454416895 तथा जिला खाद्य विपणन अधिकारी के नम्बर- 7500289962 के अलावा जिला खा़द्य विपणन अधिकारी बिजनौर के कार्यालय में स्थापित कन्ट्रोल रूम के दूरभाष नम्बर 01342 260102 पर भी अपनी शिकायत दर्ज करा कर समस्या का समाधान करा सकते हैं। इस अवसर पर अपर जिलाधिकारी प्रशासन मदन सिह गर्ब्याल, वि/रा सुरेन्द्रराम के अलावा सभी उप जिलाधिकारी सहित अन्य संबंधित विभागों के जिला स्तरीय अधिकारी मौजूद थे।

बिजनौर से शहजाद अंसारी की रिपोर्ट