1. हिन्दी समाचार
  2. एस्ट्रोलोजी
  3. दुर्गा सप्तशती के दिन करें इन विशेष मंत्रों का जाप, माता आदिशक्ति करेगी सारी मनोकामना पूरी

दुर्गा सप्तशती के दिन करें इन विशेष मंत्रों का जाप, माता आदिशक्ति करेगी सारी मनोकामना पूरी

चैत्र नवरात्रि का पावन पर्व 13 अप्रैल दिन मंगलवार से शुरु हो चुका है। आज नवरात्रि का दूसरा दिन है। आज के दिन मां दुर्गा के ब्रह्मचारिणी स्वरूप की विधि विधान से पूजा की जाती है। नवरात्रि के समय में दुर्गा सप्तशती का पाठ किया जाता है।

By आराधना शर्मा 
Updated Date

नई दिल्ली: चैत्र नवरात्रि का पावन पर्व 13 अप्रैल दिन मंगलवार से शुरु हो चुका है। आज नवरात्रि का दूसरा दिन है। आज के दिन मां दुर्गा के ब्रह्मचारिणी स्वरूप की विधि विधान से पूजा की जाती है। नवरात्रि के समय में दुर्गा सप्तशती का पाठ किया जाता है। दुर्गा सप्तशती में हर उद्देश्य की पूर्ति के लिए विशेष और प्रभावी मंत्र दिए गए हैं। नवरात्रि में दुर्गा सप्तशती के इन प्रभावी मंत्रों का जाप करके आप अपनी मनोकामना की पूर्ति कर सकते हैं।

पढ़ें :- 29 जनवरी 2023 राशिफल: इन 3 राशि के जातकों को मिलेगा बड़ा धन लाभ, इन्हें मिलेंगे अच्छे समाचार

जागरण अध्यात्म में आज हम आपको दुर्गा सप्तशती के प्रभावी मंत्रों के बारे में बता रहे हैं, इसमें कल्याण के लिए मंत्र, आरोग्य एवं सौभाग्य की प्राप्ति के लिए मंत्र, रक्षा के लिए मंत्र, रोग नाश के लिए मंत्र, विपत्ति नाश और शुभता के लिए मंत्र और शक्ति प्राप्ति के लिए मंत्र दिया गया है।

कल्याण के लिए

मंत्र सर्वमंगलमांगल्ये शिवे सर्वार्थसाधिके।

शरण्ये त्र्यम्बके गौरी नारायणि नमोस्तु ते।।

आरोग्य एवं सौभाग्य की प्राप्ति के लिए

मंत्र देहि सौभाग्यमारोग्यं देहि मे परमं सुखम्।

पढ़ें :- Aaj ka Panchang: माघ शुक्ल पक्ष अष्टमी, जाने शुभ-अशुभ समय मुहूर्त और राहुकाल...

रूपं देहि जयं देहि यशो देहि द्विषो जहि।।

रक्षा के लिए मंत्र

शूलेन पाहि नो देवि पाहि खड्गेन चाम्बिके।

घण्टस्वनेन न: पाहि चापज्यानि:स्वनेन च।।

रोग नाश के लिए मंत्र

रोगानशेषानपहंसि तुष्टा रुष्टा तु कामान् सकलानभीष्टान्।

त्वामाश्रितानां न विपन्नराणां त्वामाश्रिता ह्याश्रयतां प्रयान्ति।।

पढ़ें :- Char Dham Yatra 2023 : चार धाम यात्रा इस दिन से शुरू होने जा रही है , केदारनाथ धाम के कपाट 26 अप्रैल खुलेंगे

विपत्ति नाश और शुभता के लिए मंत्र

करोतु सा न: शुभहेतुरीश्वरी शुभानि भद्राण्यभिहन्तु चापद:।

शक्ति प्राप्ति के लिए मंत्र

सृष्टिस्थितिविनाशानां शक्तिभूते सनातनि।

गुणाश्रये गुणमये नारायणि नमोस्तु ते।।

Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक, यूट्यूब और ट्विटर पर फॉलो करे...