बंगाल की जनता से ममता का आग्रह, लालची लोगों के चलते न छोंड़े तृणमूल का साथ

mamta banerjee
बंगाल की जनता से ममता का आग्रह, लालची लोगों के चलते न छोंड़े तृणमूल का साथ

नई दिल्ली। टीएमसी प्रमुख ममता बनर्जी ने प्रदेश की जनता से एक आग्रह किया है। उन्होने कहा कि पार्टी के कुछ स्थानीय नेता “लालची” हो सकते हैं, उन्होने जनता से कहा कि वे उन लोगों के खिलाफ गुस्सा तृणमूल कांग्रेस के खिलाफ मतदान करके नहीं निकालें। उन्होंने दावा किया कि पार्टी का केंद्रीय नेतृत्व इस तरह के आरोपों से ऊपर है।

Do Not Leave Trinamool Because Of Some Greedy Leaders Says Mamta Banerjee :

ममता बनर्जी ने कहा कि उनकी सरकार ने पिछड़े इलाके जंगलमहल के लोगों को तमाम ऐसी योजनाएं दी हैं, जिससे उनके जीवन में काफी सुधार आया है। बता दें कि जंगलमहल इलाका पश्चिमी मिदनापुर, पुरुलिया और बांकुड़ा जिले के जंगली इलाकों से मिलकर बना है।

बता दें कि ममता बनर्जी ने जंगलमहल इलाके में तीन जगहों पर रैलियों को संबोधित करते हुए कहा, “मैं यह नहीं कह सकती कि मेरी पार्टी के 100 फीसदी कार्यकर्ता अच्छे हैं। हो सकता है कि दो प्रतिशत बुरे हों और हम उनके खिलाफ कार्रवाई करेंगे।”

नई दिल्ली। टीएमसी प्रमुख ममता बनर्जी ने प्रदेश की जनता से एक आग्रह किया है। उन्होने कहा कि पार्टी के कुछ स्थानीय नेता "लालची" हो सकते हैं, उन्होने जनता से कहा कि वे उन लोगों के खिलाफ गुस्सा तृणमूल कांग्रेस के खिलाफ मतदान करके नहीं निकालें। उन्होंने दावा किया कि पार्टी का केंद्रीय नेतृत्व इस तरह के आरोपों से ऊपर है। ममता बनर्जी ने कहा कि उनकी सरकार ने पिछड़े इलाके जंगलमहल के लोगों को तमाम ऐसी योजनाएं दी हैं, जिससे उनके जीवन में काफी सुधार आया है। बता दें कि जंगलमहल इलाका पश्चिमी मिदनापुर, पुरुलिया और बांकुड़ा जिले के जंगली इलाकों से मिलकर बना है। बता दें कि ममता बनर्जी ने जंगलमहल इलाके में तीन जगहों पर रैलियों को संबोधित करते हुए कहा, "मैं यह नहीं कह सकती कि मेरी पार्टी के 100 फीसदी कार्यकर्ता अच्छे हैं। हो सकता है कि दो प्रतिशत बुरे हों और हम उनके खिलाफ कार्रवाई करेंगे।"