शनिवार के दिन करें यें टोटके हो जाएगा सारे कष्टों का अंत!!

शनि अमावस्या ,shanidev
कल है शनि अमावस्या, इन मंत्रों के जाप से चमकेगी किस्मत

शनिवार ही एक दिन ऐसा होता है जब किये हुए टोटके सबसे ज्यादा असर दिखाते हैं। शनिवार शाम के टोटके कुछ खास तरह के हैं, जिनसे आप दुर्भाग्य, सौभाग्य में बदलना शुरू हो जाता है। अगर आपकी भी किस्मत नही बदल रही तो हम आपको कुछ उपाय बता रहे है जिससे आपकी किस्मत चमक सकती है।

Do On Saturdays It Will Be A Tragic End Of All The Tragedies :

शनिवार को करें ये टोटका:

आपके ऊपर अगर किसी का कर्ज है या आपकी नौकरी में उन्नति नहीं हो रही है तो शनिवार की शाम आप चीटियों को आटा खिलाए और मछलियों को दाना भी डाले। ऐसा करने से आपका भाग्य खुल जाएगा।

लाल रेशमी धागा लेकर उसको अपनी लम्बाई के बराबर का काट लें। जब अपनी लम्बाई के बराबर का धागा काट लें तो उसको धोकर आम के पत्ते लपेट लें। उसके बाद ‘ॐ नमः शिवाय’ का जाप करते हुए, साफ़ नदी के बहते पानी में प्रवाहित कर दें।

शनिवार के दिन पीपल के वृक्ष के चारों ओर कच्चे सूत को सात बार लपेटें। इस दौरान शनिमंत्र का जाप करते रहे। धागा लपेटने के बाद पीपल के वृक्ष की पूजा कर दीपक प्रज्वलित करें।

शनिवार के दिन अपने हाथ से 19 गुणा लंबा एक काला धागा लें। धागे को शनिदेव की प्रतिमा से स्पर्श करवाकर गले में धारण कर लें। इससे हर प्रकार की बाधाओं से बचाव होगा और आर्थिक स्थिति में भी सुधार होगा।

शनिदेव को प्रसन्न करने के लिए शनिवार के दिन पीपल के वृक्ष की पूजा कर उस पर सरसों का तेल अर्पित करें

शनिवार ही एक दिन ऐसा होता है जब किये हुए टोटके सबसे ज्यादा असर दिखाते हैं। शनिवार शाम के टोटके कुछ खास तरह के हैं, जिनसे आप दुर्भाग्य, सौभाग्य में बदलना शुरू हो जाता है। अगर आपकी भी किस्मत नही बदल रही तो हम आपको कुछ उपाय बता रहे है जिससे आपकी किस्मत चमक सकती है।शनिवार को करें ये टोटका:आपके ऊपर अगर किसी का कर्ज है या आपकी नौकरी में उन्नति नहीं हो रही है तो शनिवार की शाम आप चीटियों को आटा खिलाए और मछलियों को दाना भी डाले। ऐसा करने से आपका भाग्य खुल जाएगा।लाल रेशमी धागा लेकर उसको अपनी लम्बाई के बराबर का काट लें। जब अपनी लम्बाई के बराबर का धागा काट लें तो उसको धोकर आम के पत्ते लपेट लें। उसके बाद ‘ॐ नमः शिवाय’ का जाप करते हुए, साफ़ नदी के बहते पानी में प्रवाहित कर दें।शनिवार के दिन पीपल के वृक्ष के चारों ओर कच्चे सूत को सात बार लपेटें। इस दौरान शनिमंत्र का जाप करते रहे। धागा लपेटने के बाद पीपल के वृक्ष की पूजा कर दीपक प्रज्वलित करें।शनिवार के दिन अपने हाथ से 19 गुणा लंबा एक काला धागा लें। धागे को शनिदेव की प्रतिमा से स्पर्श करवाकर गले में धारण कर लें। इससे हर प्रकार की बाधाओं से बचाव होगा और आर्थिक स्थिति में भी सुधार होगा।शनिदेव को प्रसन्न करने के लिए शनिवार के दिन पीपल के वृक्ष की पूजा कर उस पर सरसों का तेल अर्पित करें