1. हिन्दी समाचार
  2. जीवन मंत्रा
  3. रोजाना करें ये 3 योगासन, माइग्रेन दूर करने के साथ रहेंगे फिट…

रोजाना करें ये 3 योगासन, माइग्रेन दूर करने के साथ रहेंगे फिट…

Do These 3 Yogasanas Daily Will Stay Fit With Eliminating Migraine

By आराधना शर्मा 
Updated Date

लखनऊ: माइग्रेन की समस्या आज बहुत आम हो गई है दरअसल ये समस्या इस लिए भी बढ़ गई है, इस समस्या के कारण कई बार शख्स आंखें से लेकर आधे सर मे भयानक दर्द होता है। माइग्रेन का दर्द उठने से पहले इंसान को कुछ लक्षणों का आभास होने लगता है, जिससे उसे पता चल जाता है कि थोड़ी ही देर में ये दर्द शुरू होने वाला है। कुछ मामलों में माइग्रेन का दर्द किसी तय वक्त पर ही होता है।

पढ़ें :- कब्ज की समस्या हो या बढ़ता वजन कर रहा है परेशान, रोजाना करें खजूर का इस्तेमाल...

आपको बता दें, माइग्रेन इंसान की आंखों को भी प्रभावित करता है। माइग्रेन से परेशान शख्स को चश्मा भी लग सकता है या फिर उसका नंबर कम या ज्यादा हो सकता है। माइग्रेन दिल की हर धड़कन के साथ तकलीफ देता है। माइग्रेन की समस्या ज्यादातर 15 से 55 साल की उम्र वाले लोगों को ही होती है।

क्यों होता है माइग्रेन?

माइग्रेन, असल में दिमाग के भीतर होने वाली केमिकल एक्टिविटी का परिणाम है। डॉक्टर मानते हैं कि दिमाग में जब कोई असामान्य गतिविधि होती है तब कुछ खास केमिकल निकलते हैं। जिससे मस्तिष्क में मौजूद ब्लड वेसेल्स फैलने लगती हैं।

इन केमिकल्स के निकलने की वजहों पर अभी तक वैज्ञानिक एक राय नहीं हो पाए हैं। लेकिन आम धारणा है कि नसों की दीवारों पर पड़ने वाले दबाव के कारण ये केमिकल डिस्चार्ज होता है। नसों में सूजन और दबाव के कारण सिर में होने वाला दर्द बहुत बढ़ जाता है। अगर किसी को परिवार में पहले भी माइग्रेन की समस्या रही हो तो ये और भयावह भी हो सकती है।

योग और माइग्रेन

योग माइग्रेन को दूर करने में कारगर साबित हो सकता है। ये बात अब रिसर्च में भी साबित हो चुकी है। साल 2014 में हुई एक रिसर्च में ये बात निकलकर सामने आई थी।

पढ़ें :- किसी भी बिमारी का रामबाण इलाज है यह तेल, इस तेल में छुपे हैं अनेक फायदे

सेतु बंधासन

सेतु बंधासन दिमाग को शांत करता है और एंग्जाइटी को दूर करने में मदद करता है। इसके अभ्यास से सिर की तरफ रक्त संचार बढ़ने लगता है। जिससे माइग्रेन की समस्या को दूर करने में मदद मिलती है।

पश्चिमोत्तानासन

हजारों सालों से भारतीय योगी विद्यार्थियों में एकाग्रता बढ़ाने के लिए पाश्चिमोत्तानासन के अभ्यास की सलाह देते रहे हैं। ये आसन आगे की तरफ झुककर किया जाता है। इस आसन के अभ्यास से हाथों, पैरों, पेट, पीठ और सिर की नसों को जबरदस्त स्ट्रेच मिलता है। अगर नियमित रूप से इस आसन का अभ्यास किया जाए तो ये सिरदर्द, माइग्रेन के साथ ही घुटनों और कमर में दर्द की समस्या में भी कारगर तरीके से काम कर सकता है।

अधो मुख श्वानासन

पढ़ें :- कब्ज की समस्या करनी है दूर, रोजाना खाएं सिर्फ एक अंजीर...

अधो मुख श्वानासन का अभ्यास करने से पैरों, कमर, सीने, हाथों और रीढ़ की हड्डी पर एक साथ जोर पड़ता है। इससे हाथों और पैरों में मौजूद एक्यूप्रेशर प्वाइंट भी एक्टिव हो जाते हैं। अगर नियमित रूप से किया जाए तो ये आसन सिर दर्द और माइग्रेन की समस्या को दूर करने का रामबाण उपाय साबित हो सकता है।

इन टॉपिक्स पर और पढ़ें:
Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करे...