हरतालिका तीज के दिन ऐसे करें पूजा, प्रसन्न होंगे शिव-पार्वती… हर मनोकामना होगी पूरी

Hartalika_Teej

लखनऊ: भारत का प्रमुख त्योहार हरतालिका व्रत भाद्रपद, शुक्ल पक्ष की तृतीया के दिन किया जाता है। इस दिन गौरी-शंकर का पूजन किया जाता है। यह व्रत हस्त नक्षत्र में होता है। इसे सभी कुआंरी यु‍वतियां तथा सौभाग्यवती ‍महिलाएं ही करती हैं।

Do Worship Like This On The Occasion Of Teeja Shiva Parvati Will Be Happy Every Wish Will Be Fulfilled :

आपको बता दें इस बार हरतालिका तीज (कजरी तीज) 21 अगस्त को मनाई जाएगी। ये व्रत हिन्दू धर्म मे सबसे कठोर व्रत में से एक व्रत में हरतालिका तीज के व्रत को भी माना जाता है। हरतालिका तीज का हिंदू धर्म में प्रमुख स्थान है। महिलाएं पति की दीर्घायु के लिए व्रत रखती है और माता पार्वती एवं शिव जी का पूजन किया जाता है।

व्रत रखने वाली महिलाओं को यह जानना जरूरी है कि इस दिन शिव जी और माता पार्वती को प्रसन्न करने के लिए क्या करना चाहिए। तो आइए जानते है इसके बारे में…

हरतालिका तीज पर क्या करना चाहिए 

  • सुहागन महिलाएं यह व्रत अपने पति की लंबी आयु के लिए रखती है, ऐसे में शाम के पूजन के बाद महिलाएं अपने पति के पैर अवश्य छूए और उनसे आशीर्वाद लें। ऐसा करने से पति-पति के बीच के प्रेम और विश्वास में वृद्धि होती है।
  • इस दिन महिलाएं और लड़कियां निर्जला व्रत रखती है। अतः व्रत संकल्प के दौरान संकल्प लें कि आप भी ऐसा ही करेंगी।
  • सबसे अधिक महत्वपूर्ण यह व्रत विवाहित महिलाओं के लिए होता है। अतः महिलाएं इस दिन नए वस्त्र अवश्य धारण करें।
  • पति की दीर्घायु के लिए महिलाएं यह व्रत रखती है। अतः ध्यान रहें कि इस दिन महिलाएं ठीक से श्रृंगार अवश्य करे।
  • विशेष रूप से माता पार्वती और शिव जी का इस दिन पूजन होता है। अतः आप पूजन के बाद माता पार्वती और भोलेनाथ जी को वस्त्र जरूर अर्पित करें।
  • मेहंदी सौभाग्य का प्रतीक है। व्रत रखने वाली महिलाएं मेहंदी अवश्य लगाए।
  • शिव जी और माता के पूजन के बाद महिलाओं को अपनी सांस को श्रृंगार का सामान उपहार स्वरुप प्रदान करना चाहिए।
  • सुबह इस व्रत की पूजा हो जाती है, हालांकि दोष काल में भी हरतालिका तीज की पूजा करना बेहतर होगा।
लखनऊ: भारत का प्रमुख त्योहार हरतालिका व्रत भाद्रपद, शुक्ल पक्ष की तृतीया के दिन किया जाता है। इस दिन गौरी-शंकर का पूजन किया जाता है। यह व्रत हस्त नक्षत्र में होता है। इसे सभी कुआंरी यु‍वतियां तथा सौभाग्यवती ‍महिलाएं ही करती हैं। आपको बता दें इस बार हरतालिका तीज (कजरी तीज) 21 अगस्त को मनाई जाएगी। ये व्रत हिन्दू धर्म मे सबसे कठोर व्रत में से एक व्रत में हरतालिका तीज के व्रत को भी माना जाता है। हरतालिका तीज का हिंदू धर्म में प्रमुख स्थान है। महिलाएं पति की दीर्घायु के लिए व्रत रखती है और माता पार्वती एवं शिव जी का पूजन किया जाता है। व्रत रखने वाली महिलाओं को यह जानना जरूरी है कि इस दिन शिव जी और माता पार्वती को प्रसन्न करने के लिए क्या करना चाहिए। तो आइए जानते है इसके बारे में...

हरतालिका तीज पर क्या करना चाहिए 

  • सुहागन महिलाएं यह व्रत अपने पति की लंबी आयु के लिए रखती है, ऐसे में शाम के पूजन के बाद महिलाएं अपने पति के पैर अवश्य छूए और उनसे आशीर्वाद लें। ऐसा करने से पति-पति के बीच के प्रेम और विश्वास में वृद्धि होती है।
  • इस दिन महिलाएं और लड़कियां निर्जला व्रत रखती है। अतः व्रत संकल्प के दौरान संकल्प लें कि आप भी ऐसा ही करेंगी।
  • सबसे अधिक महत्वपूर्ण यह व्रत विवाहित महिलाओं के लिए होता है। अतः महिलाएं इस दिन नए वस्त्र अवश्य धारण करें।
  • पति की दीर्घायु के लिए महिलाएं यह व्रत रखती है। अतः ध्यान रहें कि इस दिन महिलाएं ठीक से श्रृंगार अवश्य करे।
  • विशेष रूप से माता पार्वती और शिव जी का इस दिन पूजन होता है। अतः आप पूजन के बाद माता पार्वती और भोलेनाथ जी को वस्त्र जरूर अर्पित करें।
  • मेहंदी सौभाग्य का प्रतीक है। व्रत रखने वाली महिलाएं मेहंदी अवश्य लगाए।
  • शिव जी और माता के पूजन के बाद महिलाओं को अपनी सांस को श्रृंगार का सामान उपहार स्वरुप प्रदान करना चाहिए।
  • सुबह इस व्रत की पूजा हो जाती है, हालांकि दोष काल में भी हरतालिका तीज की पूजा करना बेहतर होगा।