क्या आप भी है चावल खाने के शौकीन तो जानिए, चावल खाने के 5 बड़े नुकसान

rice

नई दिल्ली। दाल, चावल, रोटी और सब्जी एक पूरी डाइट मानी जाती है। लेकिन कुछ लोगों को खाने में चावल न मिलने पर उनकी डाइट पूरी नहीं होती। खाने में चावल न होना उनके लिए दाल में तड़का न होने के बराबर है। हॉवर्ड स्कूल ऑफ़ पब्लिक हेल्थ की स्टडी के मुताबिक रोजाना ज्यादा चावल खाने से टाइप 2 डायबिटीज़ होने का ख़तरा अधिक रहता है। केवल एक कटोरी चावल को ही अपने डाइट में शामिल करें। इससे ज़्यादा चावल खाना आपकी सेहत को नुकसान पंहुचा सकता है।

Do You Know Disadvantages Of Eating Rice :

चावल खाने के 5 बड़े नुकसान : 

अधिक कैलोरी :
चावल में कैलोरी की मात्रा अधिक होती है। इसलिए चावल को अगर अधिक मात्रा में खायेंगे तो डायबिटीज़ होने का ख़तरा रहता है।

ज्यादा कार्बोहाइड्रेट :
पके हुए चावल में कार्बोहाइड्रेट की मात्रा ज़्यादा होती है। अधिक मात्रा में कार्बोहाइड्रेट खाने पर वज़न बढ़ने लगता है। यदि आप रोजाना चावल खाते हैं तो आपकी सेहत पर बुरा प्रभाव पड़ सकता है।

ओवरईटिंग :
चावल को खाने पर जितनी जल्दी पेट भरता है उतनी ही जल्दी खाली भी हो जाता है। चावल जल्दी पच जाता है जिससे कि समय से पहले ही भूख लगने लगती है। ऐसे सिचुएशन में लोग ज़्यादा खा लेते हैं और उन्हें पता भी नहीं चलता।

कमज़ोर हड्डियां और कम न्यूट्रिएंट्स :
चावल में विटामिन-सी की मात्रा बहुत कम होती है।विटामिन-सी हड्डियों को मजबूत बनाता है। इसलिए चावल खाने से हमारी हड्डियों को कोई फ़ायदा नहीं पहुंचता। इसमें अन्य ज़रूरी न्यूट्रिएंट्स की मात्रा भी बहुत कम होती है।

ज्यादा साल्ट इनटेक :
चावल का कोई स्वाद न होने की वजह से लोग इसका सेवन साल्टी चीज़ों के साथ अधिक करते हैं। ज़्यादा साल्टी और चावल एक साथ खाना सेहत के लिए हानिकारक होता है।

नई दिल्ली। दाल, चावल, रोटी और सब्जी एक पूरी डाइट मानी जाती है। लेकिन कुछ लोगों को खाने में चावल न मिलने पर उनकी डाइट पूरी नहीं होती। खाने में चावल न होना उनके लिए दाल में तड़का न होने के बराबर है। हॉवर्ड स्कूल ऑफ़ पब्लिक हेल्थ की स्टडी के मुताबिक रोजाना ज्यादा चावल खाने से टाइप 2 डायबिटीज़ होने का ख़तरा अधिक रहता है। केवल एक कटोरी चावल को ही अपने डाइट में शामिल करें। इससे ज़्यादा चावल खाना आपकी सेहत को नुकसान पंहुचा सकता है।चावल खाने के 5 बड़े नुकसान : अधिक कैलोरी : चावल में कैलोरी की मात्रा अधिक होती है। इसलिए चावल को अगर अधिक मात्रा में खायेंगे तो डायबिटीज़ होने का ख़तरा रहता है।ज्यादा कार्बोहाइड्रेट : पके हुए चावल में कार्बोहाइड्रेट की मात्रा ज़्यादा होती है। अधिक मात्रा में कार्बोहाइड्रेट खाने पर वज़न बढ़ने लगता है। यदि आप रोजाना चावल खाते हैं तो आपकी सेहत पर बुरा प्रभाव पड़ सकता है।ओवरईटिंग : चावल को खाने पर जितनी जल्दी पेट भरता है उतनी ही जल्दी खाली भी हो जाता है। चावल जल्दी पच जाता है जिससे कि समय से पहले ही भूख लगने लगती है। ऐसे सिचुएशन में लोग ज़्यादा खा लेते हैं और उन्हें पता भी नहीं चलता।कमज़ोर हड्डियां और कम न्यूट्रिएंट्स : चावल में विटामिन-सी की मात्रा बहुत कम होती है।विटामिन-सी हड्डियों को मजबूत बनाता है। इसलिए चावल खाने से हमारी हड्डियों को कोई फ़ायदा नहीं पहुंचता। इसमें अन्य ज़रूरी न्यूट्रिएंट्स की मात्रा भी बहुत कम होती है।ज्यादा साल्ट इनटेक : चावल का कोई स्वाद न होने की वजह से लोग इसका सेवन साल्टी चीज़ों के साथ अधिक करते हैं। ज़्यादा साल्टी और चावल एक साथ खाना सेहत के लिए हानिकारक होता है।