पश्चिम बंगाल : मीडिया की मौजूदगी में ममता से मिलने को राजी हुए हड़ताली डाक्टर

docter strick
पश्चिम बंगाल : मीडिया की मौजूदगी में ममता से मिलने को राजी हुए हड़ताली डाक्टर

नई दिल्ली। पश्चिम बंगाल में ​बीते छह दिनों से चल रही डाक्टर डाक्टरों की हड़ताल के समाप्त होने के आसान बन रहे है। चिकित्सकों ने रविवार को मुख्यमंत्री ममता बनर्जी के साथ बातचीत के जरिए गतिरोध खत्म करने का फैसला किया, हालाकि उन्होने इसके लिए एक शर्त भी रखी है। डाक्टरों का कहना है कि विसंगतियों से बचने के लिए बातचीत का मीडिया कवरेज होना चाहिए।

Doctor Ready To Talk To Mamata Condition Meet In Front Of Media In West Bengal :

बता दें कि हड़ताल के छठे दिन जनरल बॉडी की बैठक के बाद एनआरएस मेडिकल कॉलेज व अस्पताल के विरोध कर रहे चिकित्सकों के एक प्रतिनिधि ने पत्रकारों से बात की। इस दौरान डाक्टरों ने कहा कि “हमारी मुख्यमंत्री का अंतिम प्रेस साक्षात्कार विसंगतियों से भरा है, जिसकी वजह से हमारे विरोध प्रदर्शन व सरकार के इस पर प्रतिक्रिया के पीछे गलत मंशा बताई गई। लिहाजा अब स्पष्टीकरण की जरूरत है।”

डाक्टरों के प्रतिनिधि ने कहा कि चिकित्सक एक बार अपनी मांगों के पर्याप्त रूप से व तर्क के साथ पूरा करने के बाद जल्द से जल्द आम लोगों के स्वास्थ्य हित में ड्यूटी में शामिल होना करना चाहते हैं। साथ ही उन्होने आगे कहा कि “हमें उम्मीद है कि हमारी मुख्यमंत्री उन समस्याओं के समाधान के लिए पर्याप्त रूप से विचार करेंगी, क्यो​कि इन समस्याओं का सामना पूरा राज्य कर रहा है। ं

नई दिल्ली। पश्चिम बंगाल में ​बीते छह दिनों से चल रही डाक्टर डाक्टरों की हड़ताल के समाप्त होने के आसान बन रहे है। चिकित्सकों ने रविवार को मुख्यमंत्री ममता बनर्जी के साथ बातचीत के जरिए गतिरोध खत्म करने का फैसला किया, हालाकि उन्होने इसके लिए एक शर्त भी रखी है। डाक्टरों का कहना है कि विसंगतियों से बचने के लिए बातचीत का मीडिया कवरेज होना चाहिए। बता दें कि हड़ताल के छठे दिन जनरल बॉडी की बैठक के बाद एनआरएस मेडिकल कॉलेज व अस्पताल के विरोध कर रहे चिकित्सकों के एक प्रतिनिधि ने पत्रकारों से बात की। इस दौरान डाक्टरों ने कहा कि "हमारी मुख्यमंत्री का अंतिम प्रेस साक्षात्कार विसंगतियों से भरा है, जिसकी वजह से हमारे विरोध प्रदर्शन व सरकार के इस पर प्रतिक्रिया के पीछे गलत मंशा बताई गई। लिहाजा अब स्पष्टीकरण की जरूरत है।" डाक्टरों के प्रतिनिधि ने कहा कि चिकित्सक एक बार अपनी मांगों के पर्याप्त रूप से व तर्क के साथ पूरा करने के बाद जल्द से जल्द आम लोगों के स्वास्थ्य हित में ड्यूटी में शामिल होना करना चाहते हैं। साथ ही उन्होने आगे कहा कि "हमें उम्मीद है कि हमारी मुख्यमंत्री उन समस्याओं के समाधान के लिए पर्याप्त रूप से विचार करेंगी, क्यो​कि इन समस्याओं का सामना पूरा राज्य कर रहा है। ं