डॉक्टर का नर्स के साथ आपत्तिजनक वीडियो वायरल

mp
डॉक्टर का नर्स के साथ आपत्तिजनक वीडियो वायरल

नई दिल्ली। उज्जैन जिला अस्पताल के सिविल सर्जन डॉ. राजू निदारिया का एक नर्स के साथ अश्लील वीडियो रविवार को वाट्सएप ग्रुप पर वायरल हो गया। वीडियो सामने आने के बाद सर्जन को रविवार को पद से हटा दिया गया। उज्जैन के कलेक्टर शशांक मिश्रा ने बताया कि जो ‘मामला’ सामने आया है, वह किसी अधिकारी के लिए उचित नहीं है। मामले की गंभीरता की देखते हुए जिला चिकित्सालय में पदस्थ सिविल सर्जन डॉ राजू निदारिया को पद से हटा दिया गया।

Doctor Suspended After Obscene Video Goes Viral In Mp :

जानकारी के अनुसार जिला अस्पताल की नर्सो ने स्टाफ नर्सिंग के नाम से एक वाट्सएप ग्रुप बना रखा है। रविवार को इस ग्रुप पर एक वीडियो डाला गया जिसमें डॉक्टर एक नर्स के साथ आपत्तिजनक हरकत करते नजर आ रहे है। मामले में कलेक्टर ने सीएमएचओ डॉक्टर एमएल मालवीय को कार्रवाई के आदेश दिए है। सूत्रों के अनुसार स्टाफ नर्सिंग ग्रुप पर सिविल सर्जन और नर्स के चार वीडियो वायरल हुए है। यह सभी वीडियो आपत्तीजनक बताएं जा रहे है। इस घटना के बाद जिला अस्पताल में अधिकारियों को लेकर विभिन्न तहर की चर्चाएं चल रही है।

सूत्रों के अनुसार इस वीडियो में जो महिला नजर आ रही है, वह नर्स के पद पर काम करती है और प्रतीत होता है कि यह वीडियो जिला चिकित्सालय के ऑपरेशन थियेटर में बनाया गया है। जब मालवीय से सवाल किया गया कि क्या यह वीडियो आपरेशन थियेटर में बनाया गया है, तो उन्होंने इस पर कोई टिप्पणी करने से इंकार कर दिया। दूसरी तरफ, पुलिस ने बताया कि इस संबंध में अब तक किसी ने कोई शिकायत दर्ज़ नहीं कराई है।

नई दिल्ली। उज्जैन जिला अस्पताल के सिविल सर्जन डॉ. राजू निदारिया का एक नर्स के साथ अश्लील वीडियो रविवार को वाट्सएप ग्रुप पर वायरल हो गया। वीडियो सामने आने के बाद सर्जन को रविवार को पद से हटा दिया गया। उज्जैन के कलेक्टर शशांक मिश्रा ने बताया कि जो 'मामला' सामने आया है, वह किसी अधिकारी के लिए उचित नहीं है। मामले की गंभीरता की देखते हुए जिला चिकित्सालय में पदस्थ सिविल सर्जन डॉ राजू निदारिया को पद से हटा दिया गया। जानकारी के अनुसार जिला अस्पताल की नर्सो ने स्टाफ नर्सिंग के नाम से एक वाट्सएप ग्रुप बना रखा है। रविवार को इस ग्रुप पर एक वीडियो डाला गया जिसमें डॉक्टर एक नर्स के साथ आपत्तिजनक हरकत करते नजर आ रहे है। मामले में कलेक्टर ने सीएमएचओ डॉक्टर एमएल मालवीय को कार्रवाई के आदेश दिए है। सूत्रों के अनुसार स्टाफ नर्सिंग ग्रुप पर सिविल सर्जन और नर्स के चार वीडियो वायरल हुए है। यह सभी वीडियो आपत्तीजनक बताएं जा रहे है। इस घटना के बाद जिला अस्पताल में अधिकारियों को लेकर विभिन्न तहर की चर्चाएं चल रही है। सूत्रों के अनुसार इस वीडियो में जो महिला नजर आ रही है, वह नर्स के पद पर काम करती है और प्रतीत होता है कि यह वीडियो जिला चिकित्सालय के ऑपरेशन थियेटर में बनाया गया है। जब मालवीय से सवाल किया गया कि क्या यह वीडियो आपरेशन थियेटर में बनाया गया है, तो उन्होंने इस पर कोई टिप्पणी करने से इंकार कर दिया। दूसरी तरफ, पुलिस ने बताया कि इस संबंध में अब तक किसी ने कोई शिकायत दर्ज़ नहीं कराई है।