हसीनाओं के गैंग का शिकार बने डॉक्टर, नशीली दवा पिलाकर बनाया MMS

नई दिल्ली। मध्य प्रदेश के ग्वालियर में क्राइम ब्रांच ने हसीनाओं के एक गैंग का खुलासा करते हुए उन्हे गिरफ्तार किया है। पुलिस के मुताबिक, आरोपी युवतियां डॉक्टरों को नशीला पदार्थ पिलाकर उनका अश्लील एमएमएस बनाकर ब्लैकमेल करती थीं। पुलिस ने इस मामले में एक नर्स समेत तीन लोगों को गिरफ्तार किया है। आरोपियों के पास से एक खुफिया कैमरा और एक बैग बरामद हुआ है।

पुलिस के मुताबिक, उत्तर प्रदेश की रहने वाली युवतियां मरीज बनकर डॉक्टरों के पास जाती थी और इलाज के बहाने डॉक्टर से नजदीकी बढ़ाती थी। अपने झांसे में लेने के बाद डॉक्टर को अकेले में बुलाकर कोल्ड्रिंक्स में नशीली दावा पिलाकर बेहोश करती थी। डॉक्टरों के कपड़े उतारकर युवतियां अपने साथ अश्लील वीडियो तैयार करती थी। फिर शुरू होता था ब्लैकमेलिंग का असली खेल।

{ यह भी पढ़ें:- रिश्वत रोकने के लिए SP ने लगवाये पोस्टर, बोले- गरीब लोग पुलिस थाने में आने से न घबराएं }

पुलिस की पूछताछ में पता चला है कि गैंग ने अभी तक तीन डॉक्टरों का अश्लील वीडियो बनाकर ब्लैकमेल किया है। ग्वालियर के एक डॉक्टर की शिकायत के बाद क्राइम ब्रांच ने पूरे मामले की जांच शुरू की। डॉक्टर के मुताबिक, कुछ महीने पहले उनके पास एक सुंदर युवती इलाज कराने आई। युवती ने डॉक्टर से पहचान बढ़ाई। एक दिन युवती बीमारी का बहाना बनाकर डॉक्टर के घर पहुंच गई। डॉक्टर घर में अकेले थे।

आरोप है कि युवती ने डॉक्टर को अपने पास से कोल्ड्रिंक्स पिलाई। फिर अचानक उन्हे नींद आ गयी। सुबह नींद खुली तो कुछ समझ नही आया। युवती का मोबाइल बंद था। तीन दिन बाद डॉक्टर को किसी ने फोन कर बताया कि आपको एक पार्सल मिलने वाला है। अगले दिन डॉक्टर को पार्सल मिला खोला तो डॉक्टर के पैरों तले जमीन खिसक कई।

{ यह भी पढ़ें:- दो सहेलियों की सुसाइड सेल्फी, लेटर में लिखा-अंतिम संस्कार सुहागिन की तरह मत करना }

दरअसल, पार्सल में डॉक्टर की उसी युवती के साथ अश्लील तस्वीरें थी। उसी शाम डॉक्टर के पास फिर से एक शख्स का फोन आया जिसने डॉक्टर से दस लाख रुपए की मांग की और धमकाया कि अगर रुपए नहीं दिए तो अश्लील वीडियो वायरल कर दिया जाएगा। पीड़ित डॉक्टर ने दस लाख रुपए दे दिए, उसके बाद भी डॉक्टर को ब्लैकमेल करने का सिलसिला चलता रहा। आखिर परेशान होकर डॉक्टर ने 30 अगस्त को ग्वालियर एसपी से शिकायत की।

पूरे मामले की जांच के बाद पुलिस के गिरफ्त में आई ब्लैकमेलर गैंग बेहद शातिर निकली। गैंग में शामिल युवती नेहा कुशवाह है, जिसने ब्लैकमेलिंग के धंधे के लिए मनीषा पाल नाम से आधारकार्ड बनवा रखा था।

{ यह भी पढ़ें:- महिला डॉक्टर से अश्लील चैट करता था ढोंगी बाबा, बोला- 'न्यूड फोटो भेजो शादी करनी है' }