क्या 5 ट्रिलियन डालर अर्थव्यवस्था के लिए इसी लाइन में लगना है ? अखिलेश ने शराब दुकानें खुलने पर किया सवाल

akhilesh yadav

लखनऊ: लॉकडाउन फेज थ्री में 40 दिन बाद जब शराब की दुकानें खुलीं तो दुकानों के बाहर लंबी-लंबी लाइन लगी दिखाई दीं। जिस पर समाजवादी पार्टी (सपा) के अध्यक्ष व पूर्व मुख्यमंत्री अखिलेश यादव ने तंज कसा है। उन्होंने ट्वीट कर पूछा कि भाई साहब कृपया ये बताएं कि पांच ट्रिलियन की अर्थव्यवस्था तक पहुंचने के लिए क्या इसी लाइन में लगना है?

Does The 5 Trillion Economy Have To Be In This Line Akhilesh Questioned About The Opening Of Liquor Shops :

आबकारी विभाग आंकड़ों के मुताबिक दुकानें खुलने के पहले ही दिन पूरे प्रदेश में लोगों ने लाइन में लगकर करीब 225 करोड़ की शराब खरीदी। यह एक रिकॉर्ड है। प्रदेश के दर्जनों जिलों में 5 से 6 करोड़ के बीच शराब बिकी। दरअसल, 40 दिनों से शराब के लिए तरस रहे शौकीनों के सब्र का बांध सोमवार को टूट गया। सब्जी, दूध व फल लेने निकले लोग सब कुछ छोड़कर शराब की दुकानों के बाहर लाइन में लगे दिखे। नतीजा यह हुआ कि अंग्रेजी शराब की बिक्री में करीब पांच गुना इजाफा हुआ। सामान्य दिनों में 1.25 से 1.50 करोड़ तक होने वाली अंग्रेजी शराब की बिक्री 6.3 करोड़ तक पहुंच गई।

हालांकि, देसी व बियर की बिक्री 1.6 करोड़ रुपए की हुई। जिला आबकारी अधिकारी सुदर्शन सिंह ने बताया कि राजधानी लखनऊ में सोमवार को करीब साढ़े 6 करोड़ की शराब बिकी। आम दिनों में यह बिक्री दो करोड़ से ज्यादा की नहीं होती। यह तब है जब इसमें बार व होटल शामिल नहीं हैं। इससे पहले प्रमुख सचिव आबकारी संजय भूसरेड्डी ने कहा कि अगले 3 से 4 दिनों तक सीमित मात्रा में ही शराब लोग खरीद सकेंगे।

उन्होंने बताया कि 1 बार मे सिर्फ 1 बोतल, 2 अद्धा (हाफ), 3 पव्वा, 2 बीयर की बोतल, 3 केन ही खरीदी जा सकती है। प्रमुख सचिव ने इस दौरान ओवर रेटिंग रोकने के लिए दुकानों के औचक निरीक्षण के निर्देश दिए हैं। उन्होंने कहा कि ओवर रेटिंग करने वालों के खिलाफ कड़ी कार्रवाई की जाएगी। उन्होंने बताया कि शराब की दुकानों पर आबकारी के साथ पुलिस फोर्स की तैनाती की गई है। इस दौरान सोशल डिस्टेंसिंग का पालन किया जाएगा।

लखनऊ: लॉकडाउन फेज थ्री में 40 दिन बाद जब शराब की दुकानें खुलीं तो दुकानों के बाहर लंबी-लंबी लाइन लगी दिखाई दीं। जिस पर समाजवादी पार्टी (सपा) के अध्यक्ष व पूर्व मुख्यमंत्री अखिलेश यादव ने तंज कसा है। उन्होंने ट्वीट कर पूछा कि भाई साहब कृपया ये बताएं कि पांच ट्रिलियन की अर्थव्यवस्था तक पहुंचने के लिए क्या इसी लाइन में लगना है? आबकारी विभाग आंकड़ों के मुताबिक दुकानें खुलने के पहले ही दिन पूरे प्रदेश में लोगों ने लाइन में लगकर करीब 225 करोड़ की शराब खरीदी। यह एक रिकॉर्ड है। प्रदेश के दर्जनों जिलों में 5 से 6 करोड़ के बीच शराब बिकी। दरअसल, 40 दिनों से शराब के लिए तरस रहे शौकीनों के सब्र का बांध सोमवार को टूट गया। सब्जी, दूध व फल लेने निकले लोग सब कुछ छोड़कर शराब की दुकानों के बाहर लाइन में लगे दिखे। नतीजा यह हुआ कि अंग्रेजी शराब की बिक्री में करीब पांच गुना इजाफा हुआ। सामान्य दिनों में 1.25 से 1.50 करोड़ तक होने वाली अंग्रेजी शराब की बिक्री 6.3 करोड़ तक पहुंच गई। हालांकि, देसी व बियर की बिक्री 1.6 करोड़ रुपए की हुई। जिला आबकारी अधिकारी सुदर्शन सिंह ने बताया कि राजधानी लखनऊ में सोमवार को करीब साढ़े 6 करोड़ की शराब बिकी। आम दिनों में यह बिक्री दो करोड़ से ज्यादा की नहीं होती। यह तब है जब इसमें बार व होटल शामिल नहीं हैं। इससे पहले प्रमुख सचिव आबकारी संजय भूसरेड्डी ने कहा कि अगले 3 से 4 दिनों तक सीमित मात्रा में ही शराब लोग खरीद सकेंगे। उन्होंने बताया कि 1 बार मे सिर्फ 1 बोतल, 2 अद्धा (हाफ), 3 पव्वा, 2 बीयर की बोतल, 3 केन ही खरीदी जा सकती है। प्रमुख सचिव ने इस दौरान ओवर रेटिंग रोकने के लिए दुकानों के औचक निरीक्षण के निर्देश दिए हैं। उन्होंने कहा कि ओवर रेटिंग करने वालों के खिलाफ कड़ी कार्रवाई की जाएगी। उन्होंने बताया कि शराब की दुकानों पर आबकारी के साथ पुलिस फोर्स की तैनाती की गई है। इस दौरान सोशल डिस्टेंसिंग का पालन किया जाएगा।