1. हिन्दी समाचार
  2. क्षेत्रीय
  3. संदिग्ध परिस्थितियों में बरामद हुई कुत्ते की लाश, दिल्ली पुलिस ने एफआईआर दर्ज कर शुरु किया जांच

संदिग्ध परिस्थितियों में बरामद हुई कुत्ते की लाश, दिल्ली पुलिस ने एफआईआर दर्ज कर शुरु किया जांच

इस धरती पर जिंदा रहने का हक जितना इंसानों को है उतना ही जानवरों को भी है। इस बात को इंसान समझ नहीं पाता है और कभी कभी ऐसी गलती कर बैठता है जिसे जानने के बाद इंसान को इंसान कहने पर भी शर्म आती है। दक्षिण दिल्ली के डिफेंस कॉलोनी से भी एक ऐसी ही खबर सामने आई है जिसे जानकर आप ये सोचने पर विवश हो जायेंगे की इंसानों को आखिर किस वर्ग में रखा जाये।

By प्रिन्स राज 
Updated Date

नई दिल्ली। इस धरती पर जिंदा रहने का हक जितना इंसानों को है उतना ही जानवरों को भी है। इस बात को इंसान समझ नहीं पाता है और कभी कभी ऐसी गलती कर बैठता है जिसे जानने के बाद इंसान को इंसान कहने पर भी शर्म आती है। दक्षिण दिल्ली के डिफेंस कॉलोनी से भी एक ऐसी ही खबर सामने आई है जिसे जानकर आप ये सोचने पर विवश हो जायेंगे की इंसानों को आखिर किस वर्ग में रखा जाये।

पढ़ें :- किसान 22 जुलाई से संसद का करेंगे घेराव, प्रदर्शन अनुशासित व शांतिपूर्ण होगा

इन्हें इंसान तो आप नहीं कह सकते, जानवर कहना भी ऐसे लोगो के लिए बहुत छोटा शब्द होगा। इनके लिए कोई विशेष शब्द ही ढूंढ़ना पड़ेगा जो इन्हें परिभाषित कर सके। हुआ यूं है कि कॉलोनी में संदिग्ध परिस्थितियों में एक कुत्ते की लाश मिली है। शुरुआती जांच में पता चला है कि कुत्ते की मौत ऊचांई से फेकें जाने की वजह से हुई है। इस मामले में दिल्ली पुलिस ने एफआईआर दर्ज कर जांच भी शुरु कर दी है।

शिकायत डिफेंस कॉलोनी थाने में दर्ज हुई है। पुलिस ने बताया कि लाजपत नगर-4 निवासी एक महिला ने डिफेंस कॉलोनी थाने में क्षेत्र की रेजिडेंट्स वेलफेयर एसोसिएशन के खिलाफ शिकायत दी थी कि एक इमारत की तीसरी मंजिल से कुत्ते को सड़क पर फेंक दिया गया है। शिकायतकर्ता इलाके में एक पालतू पशु क्लीनिक चलाती है और आवारा कुत्तों को खाना खिलाने के लिए नियमित रूप से सादिक नगर जाती है।

उसने 29 जून को वहां एक आवारा कुत्ते को खून से लथपथ मृत पड़ा देखा था। महिला ने अपनी शिकायत में कहा कि वह पिछले एक साल से सादिक नगर में कुत्तों को खाना खिला रही है और 29 जून की सुबह करीब 2 बजे एक कुत्ता मृत पाया गया। उसने अपनी शिकायत में आरोप लगाया कि इस कुत्ते को ब्लॉक 4ए में रहने वाले किसी निवासी द्वारा तीसरी मंजिल से फेंका गया था।

इस तरह के कई मामले देखे गए हैं। इससे पहले, महिला द्वारा एक पिल्ले को बचाया गया था और अपने अस्पताल में इलाज किया गया था। पुलिस उपायुक्त (दक्षिण) अतुल कुमार ठाकुर ने कहा, शिकायत के आधार पर हमने भारतीय दंड संहिता (आईपीसी) की धारा 429 (किसी भी मवेशी आदि को मारना या अपंग करना आदि) के तहत मामला दर्ज किया है। मामले की जांच की जा रही है। पुलिस ने कहा कि इलाके में लगे सीसीटीवी कैमरों की फुटेज को खंगाला जा रहा है ताकि यह पता लगाया जा सके कि कुत्ते की मौत कैसे हुई।

पढ़ें :- जामा मस्जिद में कोविड प्रोटोकॉल का पालन, तो वहीं कनॉट प्लेस हनुमान मंदिर में हुआ उल्लंघन : दिल्ली पुलिस

 

इन टॉपिक्स पर और पढ़ें:
Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक, यूट्यूब और ट्विटर पर फॉलो करे...