अमेरिका ने ईरान पर लगाए और कड़े प्रतिबंध, सुप्रीम लीडर को भी नहीं बख्शा

us
अमेरिका ने ईरान पर लगाए और कड़े प्रतिबंध, सुप्रीम लीडर को भी नहीं बख्शा

नई दिल्ली। ईरान और अमेरिका के बीच जारी तनातनी अब चरम स्तर पर पहुंच गई है। अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप ने ईरान के खिलाफ लगे प्रतिबंधों को वह और कड़े करते जा रहे हैं। गल्फ में बने तनावपूर्ण माहौल के बीच उन्होंने सोमवार को ईरान पर और कड़े प्रतिबंध लगाने वाला आदेश जारी कर दिया। ट्रंप ने कहा है कि अब ईरान पर पहले से कहीं ज्यादा सख्त प्रतिबंध लगेंगे और अमेरिकी क्षेत्र में तेहरान के सुप्रीम लीडर और दूसरे अधिकारी बैंकिंग सुविधा का लाभ नहीं ले पाएंगे।

Donald Trump Signs Hard Hitting Sanctions Against Irans Ayatollah :

ट्रंप ने यह प्रतिबंध ऐसे समय में लगाया है जब कुछ दिन पहले ही ईरान ने एक अमेरिकी ड्रोन को अपने इलाके में होने का दावा करते हुए मार गिराया था। इसके बाद राष्ट्रपति ट्रंप ने जवाबी हमले का आदेश भी दे दिया था पर उन्होंने कहा कि इससे 150 लोगों की जान जाती इसलिए अपने आदेश को 10 मिनट पहले उन्होंने वापस ले लिया।

ईरान के सुप्रीम लीडर पर प्रतिबंध

डोनाल्ड ट्रंप ने अपने ओवल ऑफिस में पत्रकारों से बातचीत में कहा, “हम ईरान अथवा किसी और देश से संघर्ष नहीं चाहते हैं”। आगे उन्होंने कहा कि वे सिर्फ इतना ही कहना चाहते हैं कि अमेरिका कभी भी ईरान को परमाणु हथियार नहीं बनाने देगा।

ट्रंप ने कहा कि उनके द्वारा हस्ताक्षर किए गए कार्यकारी आदेश से ईरान पर ‘हार्ड हिटिंग’ प्रतिबंध लगेंगे। इसकी वजह से ईरान के सबसे बड़े धार्मिक नेता और दूसरे अधिकारी अमेरिकी न्यायिक क्षेत्र में वित्तीय सेवाओं का इस्तेमाल नहीं कर पाएंगे। ट्रंप ने ट्रेजरी सेक्रेटरी की मौजूदगी में प्रतिबंध के आदेश पर हस्ताक्षर किए।

नई दिल्ली। ईरान और अमेरिका के बीच जारी तनातनी अब चरम स्तर पर पहुंच गई है। अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप ने ईरान के खिलाफ लगे प्रतिबंधों को वह और कड़े करते जा रहे हैं। गल्फ में बने तनावपूर्ण माहौल के बीच उन्होंने सोमवार को ईरान पर और कड़े प्रतिबंध लगाने वाला आदेश जारी कर दिया। ट्रंप ने कहा है कि अब ईरान पर पहले से कहीं ज्यादा सख्त प्रतिबंध लगेंगे और अमेरिकी क्षेत्र में तेहरान के सुप्रीम लीडर और दूसरे अधिकारी बैंकिंग सुविधा का लाभ नहीं ले पाएंगे। ट्रंप ने यह प्रतिबंध ऐसे समय में लगाया है जब कुछ दिन पहले ही ईरान ने एक अमेरिकी ड्रोन को अपने इलाके में होने का दावा करते हुए मार गिराया था। इसके बाद राष्ट्रपति ट्रंप ने जवाबी हमले का आदेश भी दे दिया था पर उन्होंने कहा कि इससे 150 लोगों की जान जाती इसलिए अपने आदेश को 10 मिनट पहले उन्होंने वापस ले लिया। ईरान के सुप्रीम लीडर पर प्रतिबंध डोनाल्ड ट्रंप ने अपने ओवल ऑफिस में पत्रकारों से बातचीत में कहा, "हम ईरान अथवा किसी और देश से संघर्ष नहीं चाहते हैं"। आगे उन्होंने कहा कि वे सिर्फ इतना ही कहना चाहते हैं कि अमेरिका कभी भी ईरान को परमाणु हथियार नहीं बनाने देगा। ट्रंप ने कहा कि उनके द्वारा हस्ताक्षर किए गए कार्यकारी आदेश से ईरान पर 'हार्ड हिटिंग' प्रतिबंध लगेंगे। इसकी वजह से ईरान के सबसे बड़े धार्मिक नेता और दूसरे अधिकारी अमेरिकी न्यायिक क्षेत्र में वित्तीय सेवाओं का इस्तेमाल नहीं कर पाएंगे। ट्रंप ने ट्रेजरी सेक्रेटरी की मौजूदगी में प्रतिबंध के आदेश पर हस्ताक्षर किए।