ताजमहल के दीदार के दौरान ट्रंप ने इस भारतीय से पूछे ये 7 सवाल, दिया खास तोहफा

ताजमहल के दीदार के दौरान ट्रंप ने इस भारतीय से पूछे ये 7 सवाल, दिया खास तोहफा
ताजमहल के दीदार के दौरान ट्रंप ने इस भारतीय से पूछे ये 7 सवाल, दिया खास तोहफा

नई दिल्ली। अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप और उनकी पत्नी मेलानिया ट्रंप ने आगरा में ताज के दीदार और उसके बारे में जानकार एक शख्स को खास तोहफा दिया। यह तोहफा बेहद खास इसलिए था, क्योंकि इसमें व्हाइट हाउस के लोगो के साथ डोनाल्ड ट्रंप का नाम खुदा हुआ था। अब आप सोच रहे होंगे कि आखिर त्रुप ने किसे और क्यों तोहफा दिया? तो आपको बता ड्ने कि यह तोहफा इसलिए दिया गया क्योंकि ट्रंप ने गाइड नितिन सिंह से सात सवाल पूछे और उन्हें सारे सवालों के सही जवाब मिले।

बता दें कि डोनाल्ड ट्रंप सोमवार को आगरा के ताजमहल घूमने गए थे। ताजमहल का दीदार करते ही उनके जेहन में तमाम सवाल आने लगे। जिसके बाद उन्होने अपने गाइड नितिन सिंह से सात सवाल पूछे। नितिन ने उन्हें सातों सवालों के सही जवाब दिए वहीं, इसके बदले में डोनाल्ड ट्रंप ने नितिन सिंह को एक खास तोहफा दिया।

Donald Trump Visit India Give Gift To Nitin Singh Guide Taj Asked Seven Questions :

डोनाल्ड ट्रंप ने नितिन सिंह से पूछे ये सवाल

ताजमहल किसने बनवाया था? इसे बनाने वाले कलाकार कहां से आए? शाहजहां को कहां कैद किया गया था? ताज में लगा संगमरमर कहां से आया था? अब तक ताजमहल में क्या-क्या बदला गया है? वाटर चैनल शाहजहां के समय के हैं या बाद में बने हैं? तहखाने में बनी कब्रें पहले बनीं या फिर बाद में?

नितिन सिंह ने सभी सवालों के जवाब बेहद शालीनता से विस्तृत तरीके से बताया। इसके बदले में डोनाल्ड ट्रंप ने नितिन सिंह को एक स्मृति चिन्ह तोहफे में दिया, इस चिन्ह पर सील का निशान बना है। डोनाल्ड ट्रंप का नाम और संयुक्त राज्य अमेरिका का लोगो छपा हुआ है।

ट्रंप ने पूछा कि ताज पर ये पेंटिंग क्या है?

नितिन ने बताया कि ये पेंटिंग नहीं, इसे पच्चीकारी कहते हैं। यानी संगमरमर पर बहुमूल्य नगीने जड़े हुए हैं।

ट्रंप ने नितिन ने पूछा कि तहखाने में बनी असली कब्रों और ऊपर बनी कब्रों की क्या कहानी है?

नितिन ने उन्हें बताया कि इस्लाम में कब्रों के सजाने की इजाजत नहीं है, इसलिए शाहजहां ने ऊपर अलग से सजावटी कब्रों की प्रतिकृति बनवाई थी।

ट्रंप को नितिन ने बताया कि ताजमहल में वाटर चैनल साइफन सिस्टम से चलता है और ये ताजमहल के बनने के समय से ही बना हुआ है। इसके कारीगर पूरी दुनिया से बुलवाए गए थे।

नितिन ने ट्रंप को बताया कि ताज के संगमरमर मकराना और काले पत्थर साउथ इंडिया से मंगवाए गए थे। ताज के दोहरे गुंबद, उसमें गूंजती आवाज, शाही मस्जिद व मेहमानखाने के बारे में भी ट्रंप ने जानकारी ली।

ट्रंप को नितिन ने ताजमहल के बनने की पूरी कहानी तारीख के हिसाब से सुनाई। शाहजहां और मुमताज महल की मोहब्बत की कहानियां भी सुनाई।

नई दिल्ली। अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप और उनकी पत्नी मेलानिया ट्रंप ने आगरा में ताज के दीदार और उसके बारे में जानकार एक शख्स को खास तोहफा दिया। यह तोहफा बेहद खास इसलिए था, क्योंकि इसमें व्हाइट हाउस के लोगो के साथ डोनाल्ड ट्रंप का नाम खुदा हुआ था। अब आप सोच रहे होंगे कि आखिर त्रुप ने किसे और क्यों तोहफा दिया? तो आपको बता ड्ने कि यह तोहफा इसलिए दिया गया क्योंकि ट्रंप ने गाइड नितिन सिंह से सात सवाल पूछे और उन्हें सारे सवालों के सही जवाब मिले। बता दें कि डोनाल्ड ट्रंप सोमवार को आगरा के ताजमहल घूमने गए थे। ताजमहल का दीदार करते ही उनके जेहन में तमाम सवाल आने लगे। जिसके बाद उन्होने अपने गाइड नितिन सिंह से सात सवाल पूछे। नितिन ने उन्हें सातों सवालों के सही जवाब दिए वहीं, इसके बदले में डोनाल्ड ट्रंप ने नितिन सिंह को एक खास तोहफा दिया। डोनाल्ड ट्रंप ने नितिन सिंह से पूछे ये सवाल ताजमहल किसने बनवाया था? इसे बनाने वाले कलाकार कहां से आए? शाहजहां को कहां कैद किया गया था? ताज में लगा संगमरमर कहां से आया था? अब तक ताजमहल में क्या-क्या बदला गया है? वाटर चैनल शाहजहां के समय के हैं या बाद में बने हैं? तहखाने में बनी कब्रें पहले बनीं या फिर बाद में? नितिन सिंह ने सभी सवालों के जवाब बेहद शालीनता से विस्तृत तरीके से बताया। इसके बदले में डोनाल्ड ट्रंप ने नितिन सिंह को एक स्मृति चिन्ह तोहफे में दिया, इस चिन्ह पर सील का निशान बना है। डोनाल्ड ट्रंप का नाम और संयुक्त राज्य अमेरिका का लोगो छपा हुआ है। ट्रंप ने पूछा कि ताज पर ये पेंटिंग क्या है? नितिन ने बताया कि ये पेंटिंग नहीं, इसे पच्चीकारी कहते हैं। यानी संगमरमर पर बहुमूल्य नगीने जड़े हुए हैं। ट्रंप ने नितिन ने पूछा कि तहखाने में बनी असली कब्रों और ऊपर बनी कब्रों की क्या कहानी है? नितिन ने उन्हें बताया कि इस्लाम में कब्रों के सजाने की इजाजत नहीं है, इसलिए शाहजहां ने ऊपर अलग से सजावटी कब्रों की प्रतिकृति बनवाई थी। ट्रंप को नितिन ने बताया कि ताजमहल में वाटर चैनल साइफन सिस्टम से चलता है और ये ताजमहल के बनने के समय से ही बना हुआ है। इसके कारीगर पूरी दुनिया से बुलवाए गए थे। नितिन ने ट्रंप को बताया कि ताज के संगमरमर मकराना और काले पत्थर साउथ इंडिया से मंगवाए गए थे। ताज के दोहरे गुंबद, उसमें गूंजती आवाज, शाही मस्जिद व मेहमानखाने के बारे में भी ट्रंप ने जानकारी ली। ट्रंप को नितिन ने ताजमहल के बनने की पूरी कहानी तारीख के हिसाब से सुनाई। शाहजहां और मुमताज महल की मोहब्बत की कहानियां भी सुनाई।