गलती से भी डाउनलोड ना करें ये ऐप, आपका खाता हो जाएगा खाली

गलती से भी डाउनलोड ना करें ये ऐप, आपका खाता हो जाएगा खाली
गलती से भी डाउनलोड ना करें ये ऐप, आपका खाता हो जाएगा खाली

लखनऊ। अगर आप भी मोबाइल बैंकिंग या नेट बैंकिंग से पैसे का लेन-देन करते हैं तो आपको सावधान होने की जरूरत है। दरसल, रिजर्व बैंक ऑफ इंडिया(आरबीआई) ने प्लेस्टोर और एपस्टोर पर मौजूद एनीडेस्क ऐप (Any Desk App) को डाउनलोड करने से सख्त मना कर दिया है। आरबीआई ने आदेश जारी करते हुए यह भी कहा कि, इस तरह के ऐप आपके बैंक खातों और वॉलेट में मौजूद पैसों को मिनटों में गायब कर सकते हैं।

Dont Download Any Desk App Otherwise Your Bank Account Is In Threat Says Rbi :

आरबीआई ने बताया कि बीते कुछ दिनों से यूपीआई प्लेटफॉर्म पर लेन-देन करने वाले ग्राहकों के साथ धोखाधड़ी और अचानक बैंक खाते से पैसे गायब होने के मामले काफी बढ़ रहे हैं। हैकर्स मोबाइल फोन के जरिये बैंक खाते से पूरे पैसे उड़ा देते हैं।

आरबीआई ने सभी बैंकों को निर्देश देते हुए कहा कि वो लोगों को एनी डेस्क ऐप के जरिये होने वाली धोखाधड़ी को लेकर जागरूक करें। क्योंकि आज के समय में अधिकतर लोग ऑनलाइन ट्रांजेक्शन से ही लेन देन करते हैं इस वजह से उन्हे ऐसी धोखाधड़ी से बचाना चाहिए।

बता दें कि आरबीआई का यह अलर्ट केवल UPI ही नहीं बल्कि अन्य पेमेंट ऐप्स पर भी लागू होता है।

लखनऊ। अगर आप भी मोबाइल बैंकिंग या नेट बैंकिंग से पैसे का लेन-देन करते हैं तो आपको सावधान होने की जरूरत है। दरसल, रिजर्व बैंक ऑफ इंडिया(आरबीआई) ने प्लेस्टोर और एपस्टोर पर मौजूद एनीडेस्क ऐप (Any Desk App) को डाउनलोड करने से सख्त मना कर दिया है। आरबीआई ने आदेश जारी करते हुए यह भी कहा कि, इस तरह के ऐप आपके बैंक खातों और वॉलेट में मौजूद पैसों को मिनटों में गायब कर सकते हैं। आरबीआई ने बताया कि बीते कुछ दिनों से यूपीआई प्लेटफॉर्म पर लेन-देन करने वाले ग्राहकों के साथ धोखाधड़ी और अचानक बैंक खाते से पैसे गायब होने के मामले काफी बढ़ रहे हैं। हैकर्स मोबाइल फोन के जरिये बैंक खाते से पूरे पैसे उड़ा देते हैं। आरबीआई ने सभी बैंकों को निर्देश देते हुए कहा कि वो लोगों को एनी डेस्क ऐप के जरिये होने वाली धोखाधड़ी को लेकर जागरूक करें। क्योंकि आज के समय में अधिकतर लोग ऑनलाइन ट्रांजेक्शन से ही लेन देन करते हैं इस वजह से उन्हे ऐसी धोखाधड़ी से बचाना चाहिए। बता दें कि आरबीआई का यह अलर्ट केवल UPI ही नहीं बल्कि अन्य पेमेंट ऐप्स पर भी लागू होता है।