1. हिन्दी समाचार
  2. जीवन मंत्रा
  3. मानसून में Skincare Routine को न भूलें, स्किन की हर समस्या के रहेंगे दूर

मानसून में Skincare Routine को न भूलें, स्किन की हर समस्या के रहेंगे दूर

सही मानसून दिनचर्या प्राप्त करने के लिए इन सरल लेकिन प्रभावी चरणों का पालन करें। यहां मानसून स्किनकेयर रूटीन है जो मुंहासों को दूर रखने में मदद करेगा। डबल क्लींजिंग अब सबसे ट्रेंडी ब्यूटी ट्रेंड है। अशुद्धियों को दूर करने के लिए पानी और तेल आधारित क्लींजर दोनों का उपयोग करना सबसे अच्छा तरीका है।

By आराधना शर्मा 
Updated Date

नई दिल्ली: सही मानसून दिनचर्या प्राप्त करने के लिए इन सरल लेकिन प्रभावी चरणों का पालन करें। यहां मानसून स्किनकेयर रूटीन है जो मुंहासों को दूर रखने में मदद करेगा। डबल क्लींजिंग अब सबसे ट्रेंडी ब्यूटी ट्रेंड है। अशुद्धियों को दूर करने के लिए पानी और तेल आधारित क्लींजर दोनों का उपयोग करना सबसे अच्छा तरीका है।

पढ़ें :- अपनी त्वचा पर हल्दी (Turmeric) का उपयोग करते समय पाँच सामान्य गलतियाँ

आपको बता दें, पानी आधारित क्लीनर पानी आधारित अशुद्धियों को दूर करते हैं जबकि तेल आधारित सफाई करने वाले छिद्रों में फंसे अतिरिक्त सेबम और जमी हुई गंदगी से छुटकारा पाने में मदद करते हैं। इसलिए अतिरिक्त नमी को दूर रखने के लिए सफाई एक बहुत ही महत्वपूर्ण कदम है।

टैनिंग

अपने पोर्स को हाइड्रेट करना बेहद जरूरी है। जब आप टोनर या फेशियल मिस्ट का उपयोग करते हैं, तो यह सुनिश्चित करता है कि पोर्स अच्छी तरह से हाइड्रेटेड हैं और यह पर्यावरण से हाइड्रेशन के लिए नहीं आता है। यह अतिरिक्त सीबम उत्पादन को नियंत्रित करने का एक शानदार तरीका है।

अपने उत्पाद बदलें

गर्मी के दौरान आपके लिए काम करने वाले उत्पाद मानसून के मौसम के लिए सबसे अच्छे नहीं हो सकते हैं। अपनी त्वचा की ज़रूरतों को समझना और अपनी दिनचर्या में बदलाव करना ही मॉनसून में होने वाले एक्ने पर विजय पाने का एकमात्र तरीका है।

पढ़ें :- बरसात के मौसम में त्वचा की समस्याओं से बचने के 9 तरीके

मॉइस्चराइज़ करना न भूलें

सिर्फ इसलिए कि आपकी त्वचा तैलीय हो रही है इसका मतलब यह नहीं है कि आपको मॉइस्चराइज़ करने की ज़रूरत नहीं है। हल्के मॉइस्चराइज़र का विकल्प चुनें लेकिन मॉइस्चराइज़ करें ताकि त्वचा क्षतिपूर्ति न करे और अतिरिक्त तेल का उत्पादन न करे।

बैक्टीरिया को दूर रखें

हवा में अतिरिक्त नमी बैक्टीरिया के वाहक के रूप में कार्य करती है जो मुंहासों को और खराब कर देती है। ऐसे उत्पादों और प्राकृतिक अवयवों का उपयोग करना जो प्रकृति में जीवाणुरोधी हैं, बहुत मदद करते हैं। आप अपने स्किनकेयर रूटीन में शामिल करने के लिए एलोवेरा, हल्दी, टी ट्री ऑयल, शहद और ऐसे कई प्राकृतिक अवयवों में से चुन सकते हैं।

 

इन टॉपिक्स पर और पढ़ें:
Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक, यूट्यूब और ट्विटर पर फॉलो करे...