1. हिन्दी समाचार
  2. कार्ति चिदंबरम पर SC सख्त, कहा- कानून के साथ मत खेलो

कार्ति चिदंबरम पर SC सख्त, कहा- कानून के साथ मत खेलो

Dont Play With Law Says Supreme Court To Karti Chidambaram Gave Permission To Go Foreign For Rupees Ten Crore

By रवि तिवारी 
Updated Date

नई दिल्ली। एयरसेल-मैक्सिस केस में आरोपी और पूर्व वित्त मंत्री पी. चिदंबरम के बेटे कार्ति चिदंबरम को सुप्रीम कोर्ट ने फटकार लगाई है अदालत के आदेश के मुताबिक, कार्ति 10 करोड़ रुपए जमा करके विदेश जा सकेंगे। कोर्ट ने कार्ति से कहा,”कानून के साथ मत खेलें और आईएनएक्स मीडिया, एयरसेल-मैक्सिस केसों में जांच एजेंसियों का सहयोग करें।” कार्ति आईएनएक्स मीडिया केस समेत कई मामलों में आरोपी हैं।

पढ़ें :- टीम इंडिया ने तोड़ा ऑस्ट्रेलिया का घमंड, जानिए जीत क्यों है महत्वपूर्ण...

फरवरी-मार्च में देश से बाहर जाने की याचिका पर विचार करते हुए रंजन गोगोई ने कहा,’कानून के साथ मत खेलो। आपने अभी तक सहयोग नहीं किया है। मैं आपको साफ कर दूं कि इस मामले में थोड़ी सा भी असहयोग बर्दाश्त नहीं किया जाएगा। अगर आप सहयोग नहीं करेंगे तो यह कोर्ट आपसे सख्ती से पेश आएगा।’ बेंच ने आगे कहा, ‘जहां जाना है जाओ, जहां घूमना है घूमो लेकिन जांच में सहयोग न करना हम पसंद नहीं करेंगे।’

कार्ति पर क्या हैं आरोप?

ईडी और सीबीआई ने कार्ति पर अपराधिक मामले दर्ज किए हैं। इनमें से एक मनी लॉन्ड्रिंग का भी है। यह मामला आईएनएक्स मीडिया कंपनी से जुड़ा है। इसकी डायरेक्टर शीना बोरा हत्याकांड की आरोपी इंद्राणी मुखर्जी थी।

कार्ति पर आरोप है कि उन्होंने आईएनएक्स मीडिया के लिए गलत तरीके से फॉरन इन्वेस्टमेंट प्रमोशन बोर्ड की मंजूरी ली। इसके बाद आईएनएक्स को 305 करोड़ का फंड मिला। इसके बदले में कार्ति को 10 लाख डॉलर की रिश्वत मिली।

पढ़ें :- सोनौली:राम जन्मभूमि मंदिर निर्माण के लिए निकाली रथयात्रा, लगे जय श्रीराम के जयकारे

इसके बाद आईएनएक्स मीडिया और कार्ति से जुड़ी कंपनियों के बीच डील के तहत 3.5 करोड़ का लेनदेन हुआ। कार्ति पर यह भी आरोप है कि उन्होंने इंद्राणी की कंपनी के खिलाफ टैक्स का एक मामला खत्म कराने के लिए अपने पिता के रुतबे का इस्तेमाल किया।

Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करे...