नेपाल घूमने गए दूरदर्शन के अधिकारी से बेलहिया पार्किंग में मारपीट,पुलिस ने पीड़ितों को ही जेल में डाला

20191007_113801

सोनौली : भारत नेपाल सीमा सोनौली बॉर्डर के रास्ते लखनऊ दूरदर्शन के अधिकारियों की टीम रविवार रात में नेपाल के पशुपतिनाथ मंदिर दर्शन को जा रही थी। इस दौरान सरहद के नेपाली सीमा बेलहिया में पार्किंग को लेकर कहासुनी में पचास की संख्या में जुटे लोगों ने सभी से मारपीट की। जान बचा कर सभी थाने पहुंच गएl

Doordarshan Officer Went To Nepal To Fight In Belhia Parking Police Put Victims In Jail :

यहां भी उपद्रवी युवकों ने बेलहिया थाने में घुस कर अधिकारियों को पीटा और नेपाल पुलिस मूकदर्शक बनी रही। चौकी प्रभारी सोनौली विनोद राय ने बताया कि रविवार की रात करीब दस बजे एक टेंपो ट्रेवलर वाहन में दूरदर्शन के लखनऊ के हेड, आकाशवाणी प्रोग्रामिंग एडिटर, लखनऊ यूनिवर्सिटी के प्रोफेसर, भारतीय हिन्दू एकेडमी के प्रोफेसर अपने बच्चों के साथ काठमांडू पशुपतिनाथ मंदिर जाने के लिए सरहद पर पहुंचे और नेपाल के पार्किंग में गाड़ी खड़ी कर भंसार कराकर महिलाओं को निकट एक होटल में ठहरा दिया।

नेपाल के सिम की आवश्यकता हुई तो फिर उसी वाहन से पार्किंग में पहुंचकर सिम लिया और वापस जाने लगे तभी कुछ युवकों ने पार्किंग के नाम पर दो सौ रुपए की मांग की। जिस पर अधिकारियों ने कहा कि अभी थोड़ी देर पहले गए थे तब तो पार्किंग नहीं लिया गया। अब किस तरह का पार्किंग लिया जा रहा है।

युवक अड़ गए और अपशब्दों का प्रयोग करने लगे, जिस पर अधिकारियों ने कहा कि रसीद दे दीजिए। हम पैसे दे देंगे। इस पर युवक भड़क गए और सभी को मारना-पीटना शुरू कर दिया। जान बचाकर लोग थाने में छिप गए, लेकिन पचासों की संख्या में लोगों ने थाने में घुसकर उन्हें पीटना शुरू कर दिया।

नेपाल पुलिस मूक दशर्क बनी रही। कुछ देर बार अतिरिक्त फोर्स मंगाकर स्थिति काबू में की। हद तो तब हो गई जब पीड़ित पक्ष के नौ लोगों को ही भैरहवा में ले जाकर बंद कर दिया और सभी का मेडिकल कराया जिसमें किसी ने भी शराब का सेवन नहीं किया था।

हमलावरों ने पर्यटकों की गाड़ी में तोड़फोड़ की। इस दौरान सरहद पर काफी गहमागहमी रही। भारतीय पुलिस ने लोगों का आवागमन बंद कर दिया। इस घटना की सूचना पर सीमा पर तनाव की स्थिति पैदा हो गई। सोनौली भारतीय  सीमा में भी लोग जमा हो गए।

सीमा बंद कर दी गई और किसी को भी आने-जाने नहीं दिया जा रहा था। दूरदर्शन के पीड़ित अधिकारी ने दूरभाष पर भारतीय पर्यटकों को नेपाल नहीं आने की सलाह दी है। उन्होंने बताया कि यहां भारतीय पर्यटकों की कोई सुनवायी नहीं होती।

दूरर्दशन के अधिकारियों के साथ मारपीट की सूचना पर पहुंचे क्षेत्राधिकारी नौतनवा राजू कुमार शाव,कोतवाल सोनौली विजय राज सिंह सहित क्षेत्र की पुलिस भारी संख्या में सरहद पर पहुंच गयी और नेपाल के अधिकारियों से बातचीत कर हालात काबू में किया। उन्होंने बताया कि नेपाल के अधिकारियों से बातचीत हुई है, सभी अधिकारी जल्दी भारत वापस आ जाएंगे।

सोनौली : भारत नेपाल सीमा सोनौली बॉर्डर के रास्ते लखनऊ दूरदर्शन के अधिकारियों की टीम रविवार रात में नेपाल के पशुपतिनाथ मंदिर दर्शन को जा रही थी। इस दौरान सरहद के नेपाली सीमा बेलहिया में पार्किंग को लेकर कहासुनी में पचास की संख्या में जुटे लोगों ने सभी से मारपीट की। जान बचा कर सभी थाने पहुंच गएl यहां भी उपद्रवी युवकों ने बेलहिया थाने में घुस कर अधिकारियों को पीटा और नेपाल पुलिस मूकदर्शक बनी रही। चौकी प्रभारी सोनौली विनोद राय ने बताया कि रविवार की रात करीब दस बजे एक टेंपो ट्रेवलर वाहन में दूरदर्शन के लखनऊ के हेड, आकाशवाणी प्रोग्रामिंग एडिटर, लखनऊ यूनिवर्सिटी के प्रोफेसर, भारतीय हिन्दू एकेडमी के प्रोफेसर अपने बच्चों के साथ काठमांडू पशुपतिनाथ मंदिर जाने के लिए सरहद पर पहुंचे और नेपाल के पार्किंग में गाड़ी खड़ी कर भंसार कराकर महिलाओं को निकट एक होटल में ठहरा दिया। नेपाल के सिम की आवश्यकता हुई तो फिर उसी वाहन से पार्किंग में पहुंचकर सिम लिया और वापस जाने लगे तभी कुछ युवकों ने पार्किंग के नाम पर दो सौ रुपए की मांग की। जिस पर अधिकारियों ने कहा कि अभी थोड़ी देर पहले गए थे तब तो पार्किंग नहीं लिया गया। अब किस तरह का पार्किंग लिया जा रहा है। युवक अड़ गए और अपशब्दों का प्रयोग करने लगे, जिस पर अधिकारियों ने कहा कि रसीद दे दीजिए। हम पैसे दे देंगे। इस पर युवक भड़क गए और सभी को मारना-पीटना शुरू कर दिया। जान बचाकर लोग थाने में छिप गए, लेकिन पचासों की संख्या में लोगों ने थाने में घुसकर उन्हें पीटना शुरू कर दिया। नेपाल पुलिस मूक दशर्क बनी रही। कुछ देर बार अतिरिक्त फोर्स मंगाकर स्थिति काबू में की। हद तो तब हो गई जब पीड़ित पक्ष के नौ लोगों को ही भैरहवा में ले जाकर बंद कर दिया और सभी का मेडिकल कराया जिसमें किसी ने भी शराब का सेवन नहीं किया था। हमलावरों ने पर्यटकों की गाड़ी में तोड़फोड़ की। इस दौरान सरहद पर काफी गहमागहमी रही। भारतीय पुलिस ने लोगों का आवागमन बंद कर दिया। इस घटना की सूचना पर सीमा पर तनाव की स्थिति पैदा हो गई। सोनौली भारतीय  सीमा में भी लोग जमा हो गए। सीमा बंद कर दी गई और किसी को भी आने-जाने नहीं दिया जा रहा था। दूरदर्शन के पीड़ित अधिकारी ने दूरभाष पर भारतीय पर्यटकों को नेपाल नहीं आने की सलाह दी है। उन्होंने बताया कि यहां भारतीय पर्यटकों की कोई सुनवायी नहीं होती। दूरर्दशन के अधिकारियों के साथ मारपीट की सूचना पर पहुंचे क्षेत्राधिकारी नौतनवा राजू कुमार शाव,कोतवाल सोनौली विजय राज सिंह सहित क्षेत्र की पुलिस भारी संख्या में सरहद पर पहुंच गयी और नेपाल के अधिकारियों से बातचीत कर हालात काबू में किया। उन्होंने बताया कि नेपाल के अधिकारियों से बातचीत हुई है, सभी अधिकारी जल्दी भारत वापस आ जाएंगे।