दोषी निकला तो फांसी दो, मान लूंगा बिन औलाद था: रेपिस्ट का बाप

बुलंदशहर। बीते 29 मई को दरिंदों ने अपनी करतूत की वजह से मानवीयता को शर्मसार किया था इस घटना के संज्ञान में आने के बाद पूरा प्रदेश दहल गया था। बताते चलें कि उस रात 23 साल की महिला से ऑटो-रिक्शा में गैंगरेप की घटना को अंजाम देने के बाद दरिंदों ने उसकी 9 महीने की बेटी की हत्या भी कर डाली थी जिस घटना के बाद पुलिस ने स्केच जारी कर लिया था। स्केच के आधार पर पुलिस ने आरोपियों की गिरफ्तारी शुरू की है। बता दें कि पुलिस ने पहले ही दो आरोपियों को गिरफ्तार कर लिया था जबकि तीसरा आरोपी अभी तक पुलिस की चंगुल से बाहर था जिसे कल पुलिस ने बुलंदशहर से धर दबोचा। उधर बुलंदशहर से गिरफ्तार हुए आरोपी के पिता का कहना है कि वो अपने बेटे की हरकत से बेहद दुखी है। उन्होने आगे कहा कि अगर उनका बेटा दोषी है तो उसे फांसी की सजा सुनाई जाए, जिसके बाद मैं समझ लूँगा कि मेरा कोई बेटा ही नहीं था।




मामला बुलंदशहर का है। जहां 29 के दिन होने वाले गैंगरेप के तीसरे आरोपी को गिरफ्तार कर लिया गया है। आरोपी योगेंद्र के पिता अपने बेटे की इस हरकत से बेहद धुखी है। पिता का कहना है कि, उन्होने अपने बेटे को पढ़ाने की बहुत कोशिश की, लेकिन वो 10वीं से आगे नहीं पढ़ सका। एक महीने पहले मैंने उसे डांट दिया था। इससे नाराज होकर वो गुरुग्राम में रह रहे अपने साथी जयकेश और अमित के पास चला गया। आरोपी के पिता ने भरी आखों से कहा कि अगर उनका बेटा दोषी है तो उसे फासी पर चढ़ा दिया जाए, जिसके बाद वो समझ लेंगे कि उनका कभी कोई बेटा नहीं था।

{ यह भी पढ़ें:- शर्मनाक: दरिंदों ने कैंसर पीड़िता को बनाया हवस का शिकार }

Loading...