पैसों के लेनदेन में जमकर चली गोलियां, दो की मौत

jaunpur double murder 1
पैसों के लेनदेन में जमकर चली गोलियां, दो की मौत

जौनपुर। कोयला कारोबरियों के बीच पैसों के लेनदेन को लेकर चल रहे विवाद ने बुधवार रात मिरदासपुर गांव के पास खूनी रूप ले लिया। दोनों तरफ से कई राउंड गोली चली, जिसमें दो लोगों की मौत हो गई,जबकि इतने ही गंभीर रूप से घायल हो गए। घटना की सूचना पुलिस को मिली तो वो तुरन्त घटनास्थल पर पहुंची और शवों को पोस्टमार्टम के लिए भेजने के साथ ही घायलों को अस्पताल पहुंचाया। वहीं पुलिस ने एक पक्ष से मिली तहरीर पर मामला दर्ज कर छानबीन शुरू कर दी है।

Double Murder In Jaunpur :

प्राप्त जानकारी के अनुसार प्रतापगढ़ के आसपुर देवसरा क्षेत्र के बरचैली गांव के प्रधान अखिलेश यादव जौनपुर के बदलापुर रूपचंद्रपुर गांव निवासी अविनाश सिंह के साथ कोयले का कारोबार करते थे। बताया जाता है कि कुछ दिन पहले इन लोगों में पैसों के लेनदेन को विवाद हो गया था, जिसके बाद से तनातनी चल रही थी।

बुधवार रात ​अखिलेश यादव अपने साथी बीरेन्द्र प्रताप यादव, अतुल यादव और राहुल यादव के साथ बदलापुर से धनियामफ जा रहे थे। वो लोग मिरदासपुर गांव के पहुंचे ही थे कि एक स्कार्पियो और सफारी सवार लोगों ने इन लोगों को रोंकने का प्रयास किया। अखिलेश ने गाड़ी नहीं रोंकी तो स्कार्पियों सवार लोगों ने गोली चला दी। फिर क्या दोनों पक्षों से ताबड़तोड़ फायरिंग शुरु हो गई। गांव के बाहर चल रही ताबड़तोड़ गोलियों की आवाज सुनकर मिरदासपुर गांव में हड़कंप मच गया।

ग्रामीणों ने तुरन्त इसकी सूचना पुलिस को दी। मौके पहुंची पुलिस ने सभी घायलों को तुरन्त अस्पताल पहुंचाया, जहां अखिलेश यादव और अविनाश की मौत हो गई। जबकि बीरेन्द्र प्रताप और अतुल यादव की हालत गंभीर बनी हुई है। फिलहाल पुलिस ने अखिलेश यादव के परिजनों के की तहरीर पर विशाल सिंह, सनी सिंह, मनोज सिंह, मनीष सिंह, भूपेष सिंह और पांच अज्ञात लोगो के खिलाफ मुकदमा दर्ज कर मामले की छानबीन शुरु कर दी है।

जौनपुर। कोयला कारोबरियों के बीच पैसों के लेनदेन को लेकर चल रहे विवाद ने बुधवार रात मिरदासपुर गांव के पास खूनी रूप ले लिया। दोनों तरफ से कई राउंड गोली चली, जिसमें दो लोगों की मौत हो गई,जबकि इतने ही गंभीर रूप से घायल हो गए। घटना की सूचना पुलिस को मिली तो वो तुरन्त घटनास्थल पर पहुंची और शवों को पोस्टमार्टम के लिए भेजने के साथ ही घायलों को अस्पताल पहुंचाया। वहीं पुलिस ने एक पक्ष से मिली तहरीर पर मामला दर्ज कर छानबीन शुरू कर दी है।प्राप्त जानकारी के अनुसार प्रतापगढ़ के आसपुर देवसरा क्षेत्र के बरचैली गांव के प्रधान अखिलेश यादव जौनपुर के बदलापुर रूपचंद्रपुर गांव निवासी अविनाश सिंह के साथ कोयले का कारोबार करते थे। बताया जाता है कि कुछ दिन पहले इन लोगों में पैसों के लेनदेन को विवाद हो गया था, जिसके बाद से तनातनी चल रही थी।बुधवार रात ​अखिलेश यादव अपने साथी बीरेन्द्र प्रताप यादव, अतुल यादव और राहुल यादव के साथ बदलापुर से धनियामफ जा रहे थे। वो लोग मिरदासपुर गांव के पहुंचे ही थे कि एक स्कार्पियो और सफारी सवार लोगों ने इन लोगों को रोंकने का प्रयास किया। अखिलेश ने गाड़ी नहीं रोंकी तो स्कार्पियों सवार लोगों ने गोली चला दी। फिर क्या दोनों पक्षों से ताबड़तोड़ फायरिंग शुरु हो गई। गांव के बाहर चल रही ताबड़तोड़ गोलियों की आवाज सुनकर मिरदासपुर गांव में हड़कंप मच गया।ग्रामीणों ने तुरन्त इसकी सूचना पुलिस को दी। मौके पहुंची पुलिस ने सभी घायलों को तुरन्त अस्पताल पहुंचाया, जहां अखिलेश यादव और अविनाश की मौत हो गई। जबकि बीरेन्द्र प्रताप और अतुल यादव की हालत गंभीर बनी हुई है। फिलहाल पुलिस ने अखिलेश यादव के परिजनों के की तहरीर पर विशाल सिंह, सनी सिंह, मनोज सिंह, मनीष सिंह, भूपेष सिंह और पांच अज्ञात लोगो के खिलाफ मुकदमा दर्ज कर मामले की छानबीन शुरु कर दी है।